--Advertisement--

घर लौट रहे किसान की गोली मारकर हत्या, ट्रैक्टर ले जाने को लेकर हुआ था विवाद

हत्या की इस घटना को गांव में पहले से चली आ रही प्रतिशोध की लड़ाई से जोड़कर देखा जा रहा है।

Danik Bhaskar | Dec 28, 2017, 06:05 AM IST
किसान आनंद राय,जिनकी हुई हत्या। किसान आनंद राय,जिनकी हुई हत्या।

आरा. मुफस्सिल थाना क्षेत्र के जमीरा गांव में बुधवार की शाम एक किसान को गोलियों से भून डा़ला गया। हथियारबंद बदमाशों ने किसान की दाईं आंख एवं गर्दन में ताबड़-तोड़ दो गोली उतार दी। जिससे किसान की मौके पर ही मौत हो गयी। घटना को अंजाम देने के बाद हथियारबंद हमलावर आराम से भाग निकले। घटना शाम करीब छह बजे की है।

हत्या की इस घटना को गांव में पहले से चली आ रही प्रतिशोध की लड़ाई से जोड़कर देखा जा रहा है। सूचना मिलने पर आरा के राजद विधायक अनवर आलम सदर अस्पताल पहुंचे और परिजनों से मिलकर ढाढस बंधाया। मृतक आनंद राय (38वर्ष) जमीरा गांव के बद्री राय के पुत्र थे। इस दौरान आरा सदर के एसडीपीओ संजय कुमार भी अस्पताल पहुंचे और परिजनों से घटना के बारे में जानकारी ली।


दो बेटे व एक बेटी के पिता थे आनंद


जमीरा गांव निवासी अानंद राय की हत्या के बाद दो बेटों विशाल एवं विक्की के अलावा एक बेटी दुर्गा के सिर से पिता का साया हमेशा के लिए उठ गया है। पति के वियोग में गीता देवी का रो-रोकर बुरा हाल था। दोनों बेटे भी सदर अस्पताल में विलाप कर रहे थे।

गेहूं के खेत के रास्ते ट्रैक्टर ले जाने को लेकर हुआ था विवाद


बताया जा रहा कि जमीरा गांव निवासी किसान आनंद राय बुधवार की शाम अपने चचेरे भाई सोहराई राय और भतीजा रंजीत राय के साथ ट्रैक्टर से मवेशी के लिए पुआल लाने के लिए गांव के मठिया के पूरब बधार में गए हुए थे। खेत से पुआल लेकर घर आने के दौरान गेहूं बोए खेत से ट्रैक्टर ले जाने को लेकर गांव के ही कुछ लोगों से विवाद हो गया था। हल्की नोकझोंक भी हुई थी। उस वक्त मामले को समझा-बुझाकर शांत करा दिया गया। फिर आनंद राय थोड़ी ही दूर आगे बढ़े कि हथियारबंद बदमाशों ने उनके शरीर में ताबड़तोड़ दो गोली मार दी। आंख एवं गर्दन में गोली लगने से उनकी मौत हो गयी। फिर आराम से भाग निकले।

2 साल पहले शराब कारोबारी की हत्या में भी आया था नाम


अगिआंव बाजार थाना के फड़ौरा गांव के समीप 26 फरवरी 2015 की रात स्कार्पियो पर सवार शराब व्यवसायी भुअर यादव की गोलियों से छलनी कर हत्या कर दी गई थी। मृतक भुअर यादव उर्फ दिनेश यादव (28) आरा मुफस्सिल थाना क्षेत्र के जमीरा गांव निवासी लालबाबू यादव का पुत्र था। इधर, आनंद राय के बेटे विशाल एवं विक्की ने बताया कि भुअर यादव की हत्या में फंसाने की नीयत से उसके पिता का नाम दिया गया था। लेकिन, पुलिस ने उन्हें जेल नहीं भेजा था। बेटे के अनुसार उसे आशंका है कि भुअर यादव की हत्या के प्रतिशोध में पिता का मर्डर किया गया है। बेटे ने गांव के युगेश राय, ललन राय समेत अन्य पर संदेह जताया है।

पिता की हत्या के बाद रोते बेटे। पिता की हत्या के बाद रोते बेटे।