--Advertisement--

शॉर्ट सर्किट से यहां बिस्किट फैक्ट्री में लगी आग, लाखों रुपए जलकर हो गए राख

फैक्ट्री मालिक रणवीर कुमार यादव ने बताया कि शनिवार सुबह 4 बजे अचानक शॉर्ट सर्किट से आग लग गई।

Dainik Bhaskar

Jan 28, 2018, 06:20 AM IST
आग की घटना में जले हुए रुपए। आग की घटना में जले हुए रुपए।

सहरसा (बिहार). सिटी के तिरंगा चौक स्थित फैक्टरी में शाॅर्ट सर्किट से लगी आग के कारण लाखों की संपत्ति जल कर राख हो गई। बताया जा रहा है कि इस दौरान फैक्टरी मालिक और उनके मजदूरों ने बिजली विभाग के मोबाइल नंबर पर लगातार फोन कर लाइन काटे जाने की गुहार लगाई, लेकिन लाइन नहीं काटे जाने से सबकुछ जल कर राख हो गया। घटना शनिवार सुबह 4 बजे की है।

आठ लाख रुपए का नुकसान

- आग की इस घटना में 8 लाख रुपए की क्षति की बात सामने आ रही है। जबकि फैक्टरी की तिजोरी में रखे मजदूरों की मजदूरी और तनख्वाह के पैसे जल कर राख हो गए।

- घटना के वक्त फैक्टरी के चार कमरों में 14 मजदूर सो रहे थे। शोर होने पर सभी बाहर सुरक्षित निकले। अगर वक्त रहते बिजली काट दी जाती तो अगलगी की यह घटना होने से बच सकती थी।

- बताया जा रहा है कि आग लगने के तुरंत बाद फैक्ट्री के पास ही रहने वाले बीटेक इंजीनियर अमित कुमार ने इंटरनेट से बिजली विभाग की साइट सर्च की। इस पर एक मोबाइल नंबर 9431818297 मिला। तुरंत उस नंबर पर 4.13 बजे फोन किया।

- विभागीय अधिकारी से बात भी हुई और इसी नंबर पर लगातार 4.19 फिर 4.20 फिर 4.26 फिर 4.31 और 4.46 तक बिजली काटने की गुहार लगाते रहे। हर बार बात होती रही, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की गई।

- इसके बाद करीब 5:15 बजे बिजली काटी गई। अमित ने इंटरनेट से ही फायर ब्रिगेड पदाधिकारी का 9431288452 नंबर लिया और उनसे बात की। वे लोग 5 बजे घटनास्थल पर पहुंच गए। बकौल अमित 4.13 बजे पहले कॉल पर अगर बिजली काट दी जाती, तो नुकसान न के बराबर होता।

बीडीओ का निकला बिजली विभाग की वेबसाइट पर दर्ज नंबर

घटना की जानकारी जिस 9431818297 मोबाइल नंबर पर दी गई वह कहरा बीडीओ अमरेंद्र कुमार अमर का है। बीडीओ ने बताया कि 4.13 बजे सुबह उनके मोबाइल पर 7050384297 से फोन आया। अमित ने उन्हें जानकारी दी थी। इसके बाद बीडीओ ने सदर एसडीओ प्रशांत चिलुका को फोन पर शॉर्ट सर्किट की घटना की जानकारी दी। साथ ही कहरा के अंचलाधिकारी शैलेन्द्र कुमार को भी सूचना दी।

पल्ला झाड़ा : मैंने एसडीओ को दी थी लाइन काटने की सूचना

सदर एसडीओ प्रशांत कुमार चिलूका ने बताया कि सुबह कहरा बीडीओ ने फोन किया और बिजली के शॉर्ट सर्किट से लगी आग की जानकारी उन्हें दी। इसके बाद मैंने एसडीओ बिजली विभाग को फोन लगाया और एसडीओ को फोन लगाने के कुछ देर के बाद बिजली कट गई।

उदासीनता : पावर सब स्टेशन में हर वक्त रहते हैं कर्मचारी

एग्जीक्यूटिव इंजीनियर मुकेश नंदन ने बताया कि बिजली विभाग की साइट पर कहरा बीडीओ का नम्बर कैसे आया इसकी जानकारी नहीं है। विभाग के पावर सब स्टेशन में कर्मी हर वक्त कार्यरत रहते हैं। वहां फोन जाने पर बिजली काटी जाती है। लोगों को पावर सब स्टेशन का पता होगा ही।

आपबीती : मेरी फैक्ट्री जल रही थी तमाशबीन बने थे लोग

फैक्ट्री मालिक रणवीर कुमार यादव ने बताया कि शनिवार सुबह 4 बजे अचानक शॉर्ट सर्किट से आग लग गई। जब तक आग पर काबू पाते तब तक फैक्ट्री व उसमें लाखों की संपत्ति जल कर राख हो चुकी थी। उन्होंने बताया कि वे और उनके 14 मजदूर फैक्टरी में ही बने बेडरूम में सोए थे। अचानक बिजली मीटर व मेन स्विच में आग लग गई। आग इतनी तीव्र थी कि कुछ समझ में नहीं आ रहा था कि क्या करूं। फिर वे लोग जोर-जोर से हल्ला करने लगे और फैक्ट्री से बाहर भाग कर निकले। फिर बिजली विभाग को 4.13 से लगातार छह बार बिजली कटाने की गुहार लगाई। लेकिन बिजली नहीं काटी गई। इस कारण आग पर पानी नहीं डाल पा रहे थे। फैक्ट्री जल रही थी और लोग तमाशा देख रहे थे। इसके बाद दमकल विभाग को सूचना दी गई। दमकल कर्मी करीब आधे घंटे बाद मौके पर पहुंचे। स्थानीय लोग भी बिजली विभाग को फोन करते रहे। लगभग 5:15 बजे सुबह में बिजली कटी और फायर ब्रिगेड के कर्मियों ने आग पर काबू पाया। लेकिन तब तक फैक्ट्री पूरी तरह जलकर राख हो चुकी थी।

शनिवार की अलसुबह शहर के तिरंगा चौक स्थित बिस्किट फैक्ट्री आग में धू-धू कर ऐसे जल रही थी। शनिवार की अलसुबह शहर के तिरंगा चौक स्थित बिस्किट फैक्ट्री आग में धू-धू कर ऐसे जल रही थी।
आग से जले हुए बिस्किट। आग से जले हुए बिस्किट।
आग के बाद कुछ सामान नहीं बचा। आग के बाद कुछ सामान नहीं बचा।
मजदूरों के सारे सामान भी जलकर राख हो गया। मजदूरों के सारे सामान भी जलकर राख हो गया।
X
आग की घटना में जले हुए रुपए।आग की घटना में जले हुए रुपए।
शनिवार की अलसुबह शहर के तिरंगा चौक स्थित बिस्किट फैक्ट्री आग में धू-धू कर ऐसे जल रही थी।शनिवार की अलसुबह शहर के तिरंगा चौक स्थित बिस्किट फैक्ट्री आग में धू-धू कर ऐसे जल रही थी।
आग से जले हुए बिस्किट।आग से जले हुए बिस्किट।
आग के बाद कुछ सामान नहीं बचा।आग के बाद कुछ सामान नहीं बचा।
मजदूरों के सारे सामान भी जलकर राख हो गया।मजदूरों के सारे सामान भी जलकर राख हो गया।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..