पटना

--Advertisement--

बदमाशों ने ट्रैक पर रखा था फिशप्लेट, टकराकर फ्यूल टैंक फटा, ट्रेन में लगी आग

स्पीड में जा रही ट्रेन को काबू में करते-करते ट्रेन फिशप्लेट पर चढ़ गयी। फिशप्लेट से टकराकर इंजन का फ्यूल टैंक फट गया।

Danik Bhaskar

Jan 16, 2018, 03:54 AM IST

बक्सर/डुमरांव. दिल्ली से पटना लौट रही मगध एक्सप्रेस के इंजन में अचानक आग लग गई। घटना दानापुर रेलमंडल के टुड़ीगंज व रघुनाथपुर स्टेशन के बीच वीर कुंवर सिंह धरौली हाल्ट के पास हुई। आग लगने के बाद मौके पर अफरातफरी मच गई। आनन-फानन में ड्राइवर ने ट्रेन रोक दी। इसके बाद करीब पांच घंटे की देरी से चल रही मगध एक्सप्रेस के अचानक रूक जाने से यात्रियों में खलबली मच गयी।

नयी दिल्ली से इस्लामपुर जा रही 12402 डाउन मगध एक्सप्रेस पांच घंटे की देरी से चल कर करीब ढाई बजे डुमरांव पहुंची। जैसे ही रेलवे टुड़ीगंज स्टेशन पार की, इंजन में आग लगने की भनक ड्राइवर को लगी। सूचना के बाद यात्री ट्रेन से उतर कर पास के खेतों में आ गये। यात्रियों के बीच अफरातफरी का माहौल बना रहा।


आग लगने की घटना के बाद ड्राइवर ने तुरंत ट्रेन को इमरजेंसी ब्रेक लगाकर रोक दिया। इसके बाद इंजन में मौजूद आग बुझाने वाले उपकरणों के मदद से लोको पायलटों ने आग पर काबू पाने की कोशिश की। लेकिन, यह प्रयास नाकाफी रहा। बोगी में मौजूद कुछ साहसी लोगों ने बोतलों में भरे पानी से आग बुझाने की जुगत भिड़ाई।

एसएलआर बोगी में भी लग गई आग

मगध एक्सप्रेस के गार्ड गणेश प्रसाद ने बताया कि कुछ अराजक तत्वों ने रेलवे लाइन के साइड में रखी फिश प्लेट (दो पटरियों को जोड़ने वाला इस्पात) को ट्रैक पर रख दिया था। सोमवार दोपहर करीब सवा 3 बजे जब मगध एक्सप्रेस वहां से गुजरी तो उसके ड्राइवर ने ट्रैक पर रखी फिश प्लेट को देख लिया। लेकिन, स्पीड में जा रही ट्रेन को काबू में करते-करते ट्रेन फिशप्लेट पर चढ़ गयी। फिशप्लेट से टकराकर इंजन का फ्यूल टैंक फट गया। ड्राइवर ने ट्रेन किसी तरह रोक दी लेकिन, तब तक आग ने विकराल रूप ले लिया। देखते ही देखते इंजन समेत समीप के एसएलआर बोगी में भी आग पकड़ लिया।

देरी से पहुंचे फायरब्रिगेड कर्मी, सबकुछ हुआ खाक

तुरंत ड्राइवर ने इसकी जानकारी कंट्रोल रूम को दी। वहां से डिविजन के उच्चाधिकारियों को सूचना दी गई। इसके बाद स्टेशन के अधिकारियों ने सिविल पुलिस को मौके पर बुला लिया। जांच के बाद पुलिस ने अज्ञात अराजक तत्वों के खिलाफ मामला दर्ज किया।

दानापुर से पहुंचा इंजन तो पीछे लाए गए डब्बे


घटना की सूचना पाकर दानापुर रेलमंडल के अधिकारियों के बीच खलबली मच गयी। आनन-फानन में अप व डाउन लाइन का परिचालन रोक दिया गया। रेलमंडल के सीपीआरओ राजेश कुमार ने बताया कि उस वक्त डिवीजन में कोई ट्रेन नहीं थी। जिससे ज्यादा परेशानी नहीं हुई। दानापुर से मालगाड़ी का इंजन भेजा गया। जिसके बाद ट्रेन को वापस टुड़ीगंज लाया गया। शाम में करीब 7 बजे मगध के इंजन को रघुनाथपुर लाया गया। इसके बाद रेल परिचालन शुरू हुआ।

Click to listen..