--Advertisement--

रंगदारी नहीं देने पर दवा दुकान पर अंधाधुंध फायरिंग, विरोध में बाजार बंद

गोलीबारी करने के बाद शाम 5 बजे अपराधियों ने राजीव को फोन कर धमकी दी। कहा- बिना रंगदारी दिए जान नहीं बचेगी मिस्टर राजीव।

Dainik Bhaskar

Dec 14, 2017, 06:23 AM IST
Firing at drug store due to not giving extortion

पटना/बिहटा. बिहटा के चीनी मिल रोड स्थित दवा की थोक दुकान केशरी मेडिकल एजेंसी में बुधवार की सुबह 8:50 बजे दो बाइक से आए चार अपराधियों ने अंधाधुंध फायरिंग की। अपराधी नकाबपोश थे। एजेंसी के मालिक राजीव भारती और उनके दो स्टाफ बाल-बाल मच गए। दुकान का शीशा चटक गया। दो मिनट में 10-12 राउंड फायरिंग कर अपराधी सदिसोपुर की और भाग गए।

दरअसल अपराधियों ने 6 व 7 दिसंबर को राजीव भारती से रंगदारी मांगी थी। नहीं देने पर जान से मारने की धमकी दी थी। आक्रोशित व्यापारियों ने इस घटना के विरोध में बिहटा बाजार बंद कर दिया। दुकान में लगे सीसीटीवी कैमरे में गोलीबारी करने वाले अपराधियों की तस्वीर कैद हो गई। फुटेज में दो नकाबपोश अपराधी दुकान के पास फायरिंग करते दिखे हैं। गोली चलाने वाला अमित और उसका गुर्गा बताया जाता है। सूचना मिलने के बाद पटना वेस्ट एसपी रवींद्र कुमार, दानापुर एएसपी राजेश कुमार के साथ ही बिहटा, मनेर, खगौल, नेउरा ओपी, बिक्रम, फुलवारीशरीफ समेत कई थानों की पुलिस मौके पर पहुंच गई। पुलिस ने घटनास्थल से तीन जिंदा कारतूस और तीन खोखा बरामद किया है। देर शाम एसएसपी मनु महाराज ने बिहटा थानेदार राघव दयाल को इसलिए सस्पेंड कर दिया कि उन्होंने रंगदारी मांगने वाले पर कार्रवाई नहीं की। कदमकुआं के थानेदार रंजीत सिंह को बिहटा का नया थानेदार बनाया गया है।


दुकानदार को टारगेट कर चलाईं गोलियां : पूछताछ में सिटी एसपी को राजीव ने बताया कि रोजाना की तरह बुधवार को भी 7 बजे दुकान आए। स्टाफ सामान को ठीक कर रहे थे। दवा की लिस्ट कंप्यूटर टेबल पर बैठकर तैयार कर रहा था। इसी बीच गोली चलने की आवाज आने लगी। आवाज बंद हुई तो बाहर निकलकर देखा। घटना के दौरान कन्हौली के दवा दुकानदार राजकुमार भी थे। अपराधी गोलीबारी कर रहे थे। उन लोगों ने मुझ पर टारगेट कर गोलियां चलाई थीं। संयोगवश वे और उनके दो स्टाफ बाल-बाल बच गए।


शाम में कॉल कर फिर दी धमकी
गोलीबारी करने के बाद शाम 5 बजे अपराधियों ने राजीव को फोन कर धमकी दी। कहा- बिना रंगदारी दिए जान नहीं बचेगी मिस्टर राजीव।

अमित का नाम लेकर मांगी गई थी रंगदारी


राजीव के मोबाइल पर 6 व 7 दिसंबर को कॉल आया था। कॉल करने वाले ने अपने को बसौढ़ा के पप्पू सिंह के बेटे अमित कुमार का गुर्गा बताया था। उसने कहा था कि दुकान चलाने के बदले रंगदारी देनी होगी। रंगदारी नहीं दी तो गोली मार देंगे। अमित सिनेमा हाॅल मालिक निर्भय सिंह हत्याकांड का भी मुख्य आरोपी है। वह इन दिनों बिहटा में खौफ का पर्याय बन चुका है। दो माह के अंदर कई व्यवसायियों ने उसके नाम पर लाखों की रंगदारी कैश व एकाउंट में डलवा दिया है। कुछ ने पुलिस से मिलकर मौखिक शिकायत की, लेकिन लिखित शिकायत देने से पीछे हट गए।

यज्ञ या मंदिर निर्माण के नाम पर भी मांगते हैं पैसा


अमित के कई गुर्गे उसका नाम लेकर व्यापरियों से रंगदारी मांग रहे हैं। व्यवसायियों को फोन करने वाले खुद को अमित का गुर्गा बताते हंै। वे यज्ञ के आयोजन या मंदिर निर्माण के नाम पर 5 से 6 लाख रुपए मांगते हैं। रंगदारी नहीं देने पर अंजाम भुगतने की धमकी देते हंै। भयभीत व्यवसायियों ने फोन कॉल के रिकॉर्डिंग के साथ पुलिस को जानकारी दी। डर से किसी ने लिखित शिकायत नहीं की। व्यवसायियों के मुताबिक कई बार उन्होंने कुछ संदिग्ध बाइक सवार युवकों को अपने प्रतिष्ठानों और घरों के आसपास घूमते देखा। कुछ व्यवसायियों ने बताया कि रंगदारी मांगने के बाद कुछ बदमाश रकम कम करवाने के लिए बिहटा के एक पंचायत के मुखिया से संपर्क करने की सलाह देते हैं। एसएसपी मनु महाराज ने कहा कि अमित जल्द गिरफ्तार होगा।

गिरफ्तारी तक बाजार बंद रखने का निर्णय, मंत्री बोले- बढ़ा अपराध, प्रशासन विफल

बिहटा| केशरी दवा दुकान में गोलीबारी के विरोध में बुधवार की शाम बिहटा व्यवसायी संघ की बैठक हुई। अध्यक्षता संघ के अध्यक्ष अजीत कुमार ने की। व्यापारियों ने बिहटा में लगातार बढ़ रही आपराधिक घटनाओं को लेकर आक्रोश जताया। साथ ही इस मामले में दोषी अपराधियों की गिरफ्तारी तक दुकान बंद रखने का निर्णय लिया। अध्यक्ष अजीत कुमार ने बताया कि गुरुवार की शाम बैठक कर आगे की लड़ाई की रणनीति तय होगी। उधर केंद्रीय मंत्री रामकृपाल यादव ने पीड़ित व्यापारी से मुलाकात की। उन्होंने कहा कि बिहटा में बढ़ता अपराध प्रशासनिक विफलता का परिणाम है।

बिहटा व नौबतपुर के अपराधियाें की गिरफ्तारी के लिए बनेगी एसआईटी

आईजी नैयर हसनैन खान ने शाम में एसएसपी मनु महाराज और एएसपी ऑपरेशन राकेश दुबे के साथ बैठक की। आईजी ने कहा कि नौबतपुर और बिहटा में लगातार आपराधिक वारदातें हो रही हैं। वहां के थानेदारों के भरोसे नहीं रहना होगा। उन्होंने एसएसपी को आदेश दिया कि बिहटा और नौबतपुर में अपराधियों को गिरफ्तार करने के लिए एसआईटी का गठन करें। उधर पटना केमिस्ट एंड ड्रगिस्ट एसोसिएशन ने बिहटा में हुई आपराधिक घटना की कड़ी निंदा की है। संगठन के जनरल सेक्रेटरी संतोष कुमार, अध्यक्ष अर्जुन यादव तथा उपाध्यक्ष वीपी धर्मराज प्रसाद ने अपराधियों को अविलंब गिरफ्तार करने की मांग की है। उन्होंने कहा कि यदि अपराधी जल्द गिरफ्तार नहीं हुए तो पीसीडीए पटना जिले की सभी दुकानों को विरोध स्वरूप बंद करने का भी निर्णय ले सकता है।

Firing at drug store due to not giving extortion
X
Firing at drug store due to not giving extortion
Firing at drug store due to not giving extortion
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..