--Advertisement--

बालू कारोबार में रंगदारी टैक्स लिए सरकारी टैक्स ऑफिस पर फायरिंग, 1 की मौत

पुलिस को मौका ए-वारदात से 7.65 एमएल की पिस्टल का दो खोखा एवं दो पिलेट मिला है। वारदात को रंगदारी से जोड़कर देखा जा रहा है

Danik Bhaskar | Mar 15, 2018, 03:27 AM IST

आरा/कोईलवर. चांदी थाना के जलपुरा मोड़ पर बालू चालान कार्यालय पर बुधवार की सुबह हथियारबंद अपराधियों ने अंधाधुंध 7 राउंड फायरिंग कर दी। गोली लगने से कार्यालय में मौजूद एक स्टॉफ की मौत हो गयी। वहीं दो अन्य गंभीर जख्मी हो गए। जिनका इलाज सदर अस्पताल, में चल रहा है। अपराधी दो की संख्या में थे। दोनों एक सफेद रंग की अपाची बाइक से आए थे।

पुलिस को मौका ए-वारदात से 7.65 एमएल की पिस्टल का दो खोखा एवं दो पिलेट मिला है। वारदात को रंगदारी से जोड़कर देखा जा रहा है। पुलिस के अनुसार इस कांड में बेलाऊर के कुख्यात रंजीत चौधरी गैंग का हाथ है। पुलिस उसके गैंग के पवन चौधरी (बेलाऊर), अभिषेक व नीरज (दोनों लोदीपुर) को तलाश रही है।


गोली लगने से मारा गया पृथ्वीनाथ पंडित (45वर्ष) चांदी थाना क्षेत्र का भगवतपुर निवासी स्व. जालिम पंडित का पुत्र था। वह बालू चालान कार्यालय में रसोईया था। घटना सुबह करीब सात बजे की है। हमले के बाद आक्रोशित ग्रामीण सड़क पर उतर आए और सकड्‌डी-नासरीगंज स्टेट हाइवे को जाम कर दिया। करीब छह घंटे तक विरोध-प्रदर्शन व हंगामा होता रहा। लोग अपराधियों को अविलंब गिरफ्तार करने एवं मृतक के परिजनों को मुआवजा देने की मांग कर रहे थे। दोपहर बाद अफसरों के आश्वासन के बाद सड़क जाम हट सका। इधर, अपराधियों की गोली से घायल संदेश निवासी मंटू के पैर और जहानाबाद जिले के पारसबिगहा थाना के करौता गांव के ट्रक चालक गुड्डू शर्मा के जांघ में गोली लगी है। मामले में चांदी थाना में तीन लोगों पर नामजद मामला दर्ज कराया है।

टाइम लाइन

- 7:00 बजे सुबह : जलपुरा बालू चालान कार्यालय पर एक बाइक से दो अपराधी आए। ताबड़तोड़ फायरिंग की।

- 7:15 बजे सुबह : जलपुरा मोड़ बालू चालान कार्यालय पर गोलीबारी के बाद चांदी एवं संदेश थानों की पुलिस पहुंची।

- 8:00 बजे सुबह : हत्या से आक्रोशित लोगों ने नासरीगंज-सकड्‌डी स्टेट हाइवे को जाम कर कार्रवाई की मांग की।

- 9:15 बजे सुबह : एसडीपीओ संजय कुमार घटनास्थल पर पहुंचे। आक्रोशित लोगों से वार्ता कर समझाया।

- 11:30 बजे सुबह : संदेश के राजद विधायक अरूण यादव पहुंचे। घटना की जानकारी ली।

- 1:15 बजे दोपहर : पुलिस व विधायक की पहल पर सड़क जाम हटा। विधायक ने आर्थिक मदद की।

रसोईया को मारी तीन गोलियां
मिली जानकारी के अनुसार चांदी थाना क्षेत्र के सकड्डी-नासरीगंज पथ पर जलपुरा मोड़ के समीप बालू चालान का कार्यालय है। सरिकपुर बालू घाट से निकलने वाले बालू लदे ट्रक का चालान काटा जाता है। जिसके बन्दोबस्तधारी पटना जिले के गुड्डू सिंह है। चालान काउंटर पर कार्यरत कर्मी मंटू ने बताया कि सुबह करीब 7 बजे सफेद रंग की अपाची बाइक पर सवार दो अपराधी आये। आने के बाद पहले गेट पर गोली चलायी। झाड़ू लगा रहे रसोईया पृथ्वीनाथ ने जब दरवाजा खोला, तो अपराधियों ने उनपर ताबड़तोड़ तीन गोलियां दाग दी। सीना, पीठ व पैर में गोली लगते ही पृथ्वीनाथ नीचे गिर गए और मौत हो गयी। अपराधी इतने से भी नहीं माने। चालान काट रहे कर्मियों पर फायरिंग कर दी। जिसमें दो गोली ट्रक चालक गुड्डू शर्मा व मंटू के पैर में लगी। दोनों जख्मी होकर गिर पड़े। कर्मियों ने बताया कि दोनों अपराधी घटना को अंजाम देने के बाद बन्दोबस्तधारी गुड्डू सिंह, मनीष, सिंह, धीरज व पप्पू को धमकी देते हुए संदेश की ओर भाग निकले।

एक माह पहले मांगी थी 10 लाख रंगदारी, पुलिस ने कहा सूचना नहीं
सूत्रों की मानें तो जलपुरा में बालू के बंदोबस्तीधारी से अपराधियों ने 1 माह पहले 10 लाख रुपये की रंगदारी मांगी थी। नहीं देने पर अंजाम भुगतने की धमकी दी थी। हालांकि, पुलिस के अनुसार रंगदारी मांगने को लेकर कोई शिकायत दर्ज नहीं करायी गई थी। इस बीच अचानक इस तरह की घटना को अंजाम दिया गया। इधर, जिस नंबर से अपराधियों ने रंगदारी मांगी थी, उस नंबर का कॉल डिटेल्स भी खंगाला जा रहा है।

दुस्साहस: मौके से 100 मी. दूर खड़ी थी पुलिस, फिर भी वारदात कर भागे
स्थानीय लोगों के अनुसार घटना के वक्त महज एक सौ मीटर की दूरी पर संदेश थाने के सैप जवान मौजूद थे। लेकिन, उन्हें चालान काउंटर पर फायरिंग की भनक तक नहीं लगी। सड़क जाम के दौरान परिजनों व आक्रोशित लोगों ने आरोप लगाया कि सन्देश अौर चांदी पुलिस बालू लदे ट्रकों को पास कराने के नाम पर सेवा शुल्क लेने में व्यस्त रहती है। अगर चेकिंग होती तो अपराधी भाग निकलने में सफल नहीं होते।

तीन महीने से बालू चालान कंपनी में काम कर रहा था पृथ्वी
चांदी थाना के रतनपुर गांव निवासी स्व. जालिम पंडित का पुत्र पृथ्वीनाथ पंडित करीब तीन महीना पहले से जलपुरा मोड़ स्थित बालू चालान कार्यालय में रसोईया था। घटना के बाद पति के शव को देखकर सरस्वती देवी बिलख पड़ी। पड़ोस की महिलाएं ढाढस बंधाने में लगी थी। उसे पांच बेटा एवं दो बेटियां हैं।

बालू की कमाई में हिस्सेदारी के लिए गरजती रहीं हैं बंदूकें, कई मालामाल
भोजपुर जिले के कोईलवर, संदेश और पटना जिले के बिहटा इलाके में सोन नद के बालू पर वर्चस्व को लेकर पहले भी बंदूकें गरजती रही हैं। अपराधी इसके लिए अत्याधुनिक हथियार एके-47 तक से फायरिंग कर चुके हैं। अप्रैल 2016 में सिपाही गैंग एवं फौजी गैंग के बीच गोलीबारी में पचरूखिया गांव के एक युवक की जान भी चली गई थी। अन्य लोग घायल हुए थे। केस पटना जिले के बिहटा थाने में हुआ था। इससे पहले चांदी के भगवतीपुर इलाके में भी बालू को लेकर बंदूकें तनीं थी। फायरिंग भी हुई थी।

गिरफ्तारी के लिए सड़क पर शव रख ग्रामीणों ने किया बवाल
आक्रोशित ग्रामीणों ने सकड्डी-नासरीगंज पथ को जाम कर दिया। जलपुरा मोड़ के समीप ही शव रख मुआवजे व अपराधियों को चौबीस घंटे में गिरफ्तारी की मांग करने लगे। चांदी के थानाध्यक्ष धनंजय कुमार व संदेश के थानाध्यक्ष धनंजय शर्मा ने आक्रोशित ग्रामीणों को समझाने का प्रयास किया। लेकिन, ग्रामीण वरीय अधिकारियों को बुलाने की मांग पर डटे रहे। एक घंटे बाद एसडीपीओ संजय कुमार और कोईलवर इंस्पेक्टर चंद्रशेखर गुप्ता वहां पहुंचे और आक्रोशित लोगों को समझाया। लेकिन, जाम 6 घंटे तक जारी रहा।