--Advertisement--

गेट के बाहर से बरासा रहे थे गोलियां, अंदर मौजूद मां-बेटे का ऐसा था रिएक्शन

अहियापुर में सूरज और राजा ठाकुर नाम के दो गुट आमने-सामने आ गए। दोनों गुट ने एक-दूसरे पर 30 से 35 राउंड फायरिंग की।

Danik Bhaskar | Dec 22, 2017, 03:56 AM IST
मौके पर पहुंची पुलिस और जमीन प मौके पर पहुंची पुलिस और जमीन प

मुजफ्फरपुर. बिहार बंद के दौरान सिटी में मारपीट के बाद दो गुटों के लोगों में जमकर रोड़ेबाजी और फायरिंग हुई। इस दौरान एक गुट ने दूसरे गुट के घर पर ताबड़तोड़ गोलियां बरसायी। अंदर मौजूद मां-बेटे हाथ जोड़कर ऐसा न करने की गुहार लगाते रहे। हालांकि इस दौरान एक शख्स के पैर में गोली गई गई जिसके बाद उसे पुलिस ने हॉस्पिटल में एडमिट कराया।

ये है पूरा मामला

बंद के दौरान मुजफ्फरपुर के अहियापुर में सूरज और राजा ठाकुर नाम के दो गुट आमने-सामने आ गए। दोनों गुट के युवकों ने एक-दूसरे पर 30 से 35 राउंड फायरिंग की। मौके पर जब पुलिस पहुंची तो उन्हें भी बंधक बना लिया गया। पुलिस के सामने ही दोनों गुटों ने एक-दूसरे पर रोड़ेबाजी के साथ फायरिंग की।

पुलिस पर भी रोड़ेबाजी और फायरिंग

बताया जा रहा है कि सूरज यादव और दूसरे गुट के आजाद ठाकुर के बीच खुलेआम पिस्टल से फायरिंग और रोड़ेबाजी हुई। इस दौरान राजा ठाकुर के पांव में सूरज गुट के राजा यादव ने गोली मार दी। दो घंटे तक बवाल और फायरिंग के बाद सिटी एसपी उपेंद्रनाथ वर्मा और नगर डीएसपी आशीष आनंद पुलिस बल के साथ पहुंचे तो युवकों ने फायरिंग रोक दी, लेकिन मौके पर ही डटे रहे। मौके पर जुटी भीड़ को पुलिस ने हटाने की कोशिश की तो पुलिस पर भी फायरिंग और पथराव कर दिया गया। पुलिस पर दो घरों की छतों पर चढ़े युवक रोड़ा बरसा रहे थे। जवाब में पुलिस की ओर से भी दो राउंड हवाई फायरिंग की गई। पुलिस के लाठीचार्ज के बाद भगदड़ मच गई। जिस घर से पुलिस पर रोड़ेबाजी की गई उसमें छिपे 9 युवकों को पुलिस ने पीटते हुए निकाला और गिरफ्तार कर लिया।

डीएम धर्मेंद्र सिंह व एसएसपी विवेक कुमार के पहुंचने के बाद गोली से घायल राजा ठाकुर को निकाल कर इलाज के लिए एसकेएमसीएच भेजा गया। जब पुलिस ने उसके घर की तलाशी ली तो घर में छिपाए गए दो पिस्टल, दो कट्टा, तीन मैग्जीन, चार गोली और पिस्टल व रायफल का नाल साफ करने वाला ब्रश व तेल बरामद हुआ।

राजा को जब गोली लग गई तो भीड़ खुशी से बजाने लगी ताली

आजाद ठाकुर के घर को घेरकर सूरज यादव गुट के युवक फायरिंग कर रहे थे। इसी क्रम में गेट के पास राजा ठाकुर के पांव में गोली लग गई। गोली लगते ही वह जोर से चीखा। घर के अंदर से राजा, उसके भाई सोनू और मां विभा ठाकुर के चीखने की आवाज आई तो बाहर से फायरिंग कर रहे गुट के युवकों की भीड़ खुशी में ताली बजाने लगी। लोग जोर-जोर से सिटी बजाने लगे। इस दौरान राजा ठाकुर की मां कभी छत तो कभी खिड़की से नुक्कड़ पर खड़ी पुलिस से घायल बेटे की जान बचाने की रो-रोकर गुहार लगाती रही। एसएसपी विवेक कुमार का कहना है कि बंद के दौरान दो गुट में भिड़ंत के बाद जमकर फायरिंग और रोड़ेबाजी की गई है। एक युवक गोली से घायल है। पुलिस पर भी रोड़ेबाजी की गई है। नौ लोगों को हिरासत में लिया गया है। तनाव को देखते हुए पुलिस व दंडाधिकारी की तैनाती कर दी गई है।

ढाई घंटे तक रुक-रुक कर होती रही फायरिंग

बताया जा रहा है कि ढाई घंटे तक रुक-रुक कर हुई गोलीबार और रोड़ेबाजी के बाद जब मामला शांत हुआ तो सड़क पर जगह-जगह पिस्टल की गोली के खोखे और रोड़े सड़क पर बिखरे पड़े थे। इससे पहले सड़क और गलियों में करीब 500 युवाओं की भीड़ नारेबाजी करती रही। इसी दौरान कई स्कूलों में छुट्‌ट हुई। तो बच्चें दहशत के माहौल में घर पहुंचे। करीब ढाई घंटे तक पुलिस पब्लिक आपस में जूझती रही। करीब ढाई बजे एसआरएपी, एसआईटी कई थाने के पुलिस जवान पहुंचे।

टाइम लाइन

11 बजे : अहियापुर चौक पर आजाद राजा ठाकुर से बंद समर्थकों की हुई भिड़ंत के बाद फायरिंग।
11:15: बंद समर्थकों ने आजाद की बाइक को तोड दिया तो वह चाणक्यपुरी स्थित घर भागा।
11:20: आजाद, राजा बंद समर्थक सूरज, नीरज से चाणक्यपुरी में होने लगी रोड़ेबाजी और फायरिंग।
11:30: पुलिस पहुंची तो भीड़ ने प्रभारी थानेदार को घेर लिया, उधर दोनों गुटों में होती रही फायरिंग।
12:50: घर के अंदर ही राजा यादव की ओर से चलाई गई गोली राजा ठाकुर के पांव में लग गई।
12:55: नगर डीएसपी पहुंचे और अहियापुर थाने की पुलिस के साथ राजा ठाकुर के घर की ओर बढ़े।
1 बजे : सिटी एसपी, एसडीओ पूर्वी पहुंचे तो उपद्रवियों के तेवर देख अतिरिक्त बल का करने लगे इंतजार।
1:30: हथौड़ी, ब्रह्मपुरा, मीनापुर, नगर, बेला, मिठनपुरा पुलिस पहुंच गई तब भीड़ को खदेड़ा गया।
1:40: पुलिस पर रोड़ेबाजी और फायरिंग हुई तब पुलिस ने लाठी चार्ज कर भीड़ को खदेड़ दिया।
2:20: पुलिस उस घर का गेट तोड़ घुसी जिसकी छत से पुलिस पर रोड़ेबाजी की गई, नौ युवक पकड़े गए।
2:45: डीएम-एसएसपी थाना पहुंचे, गाड़ी मेन रोड पर लगा कर पैदल ही बल के साथ घटनास्थल पर चले।
3 बजे : एसएसपी के साथ पहुंची फोर्स ने सबको खदेड़ दिया तब घायल राजा को घर से निकाला गया।
3:45: डीएम-एसएसपी शांति बहाल कर रवाना हुए, तो राजा के घर की तलाशी में 4 पिस्टल गोलियां मिलीं।
6:45 बजे तक सिटी एसपी नगर डीएसपी घटनास्थल पर करते रहे कैंप।