Hindi News »Bihar »Patna» Flights For Mumbai Bengaluru Delhi From Darbhanga

दरभंगा में बिहार के सबसे लंबे रनवे से अब मुंबई, बेंगलुरू अौर दिल्ली के लिए विमान

केंद्रीय उड़ान योजना के तहत दरभंगा एयरपोर्ट के विकास लिए 100 करोड़ केंद्र सरकार खर्च करेगी।

Bhaskar News | Last Modified - Jan 18, 2018, 05:37 AM IST

  • दरभंगा में बिहार के सबसे लंबे रनवे से अब मुंबई, बेंगलुरू अौर दिल्ली के लिए विमान

    पटना.बिहार के सबसे लंबे रनवे से अब हवाई सेवा शुरू करने की तैयारी है। दिलचस्प है कि यह रनवे दरभंगा में है। यह रनवे 9000 फुट लंबा है। इसे तीन हजार फुट और विस्तार दिया जाना है। इस लिहाज से यह 12 हजार फुट लंबा रनवे होगा। दरअसल दरभंगा का यह रनवे एयर फोर्स का है। यहां से विमान सेवा शुरू करने की योजना है। दरभंगा से दिल्ली, मुम्बई और बंगलुरु के लिए हवाई सेवा का प्रस्ताव आया है।

    विमानन कंपनियों ने केन्द्र सरकार को यह प्रस्ताव दिया है। इधर अगले छह महीने के अंदर दरभंगा से हवाई सेवा शुरू करने की तैयारी चल रही है। दो विमानन कंपनियों स्पाइस जेट और इंडिगो ने केंद्र सरकार की उड़ान योजना के तहत दरभंगा से मुंबई, बेंगलुरू और दिल्ली की सेवा के लिए निविदा डाली है। हालांकि विमान सेवा शुरू करने के पहले सरकार को दरभंगा में एयर फोर्स एयरपोर्ट पर टर्मिनल भवन और प्रवेश के लिए जमीन उपलब्ध करानी होगी। सरकार अगर जमीन उपलब्ध करा देती है तो दरभंगा से अगले छह महीने में विमान सेवा शुरू हो सकती है।

    नवंबर, 2017 में दरभंगा आई थी एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया और डीजीसीए की टीम

    दरभंगा एयरपोर्ट पर हवाई सेवा की शुरुआत के लिए एयरपोर्ट ऑथोरिटी ऑफ इंडिया और डीजीसीए की चार सदस्यीय टीम ने नवंबर 2017 में दरभंगा का दौरा किया था। केंद्रीय उड़ान योजना के तहत दरभंगा एयरपोर्ट के विकास लिए 100 करोड़ केंद्र सरकार खर्च करेगी। उड़ान के तहत विमानन कंपनियों ने दरभंगा से दिल्ली, मुंबई और बंगलौर के लिए हवाई सेवा का प्रस्ताव दिया है। इसके बाद दरभंगा स्थिति एयरफोर्स के हवाई अड्डे को सिविल इन्क्लेव के तौर पर विकसित करने की तैयारी शुरू हो गई है। उल्लेखनीय है कि दरभंगा एयरपोर्ट का रनवे की लंबाई 9000 फूट है, जो कि बिहार में सबसे बड़ा है। उसके बाद भी इसमें 3000 फुट विस्तार की भी प्रकिया चल रही हैं। विस्तार के बाद 12000 फुट हो जाएगा। दरभंगा स्थिति हवाई अड्डा एयरबस 320 और बोइंग 737 जैसे विमान लैंड करने के लिए उपयुक्त है।

    पटना एयपोर्ट की 5 लाख यात्रियों की सालाना क्षमता को 45 लाख करने की तैयारी

    पटना एयरपोर्ट की वर्तमान क्षमता सालाना पांच लाख यात्रियों की है। इसमें 40 लाख यात्रियों की क्षमता और बढ़ाने की तैयारी है। उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने बुधवार को दिल्ली में नागरिक विमानन सचिव आरएन चौबे और एयरपोर्ट ऑथोरिटी ऑफ इंडिया के अधिकारियों के साथ बैठक की। बैठक में दरभंगा से विमान सेवा शुरू करने और पटना एयरपोर्ट के विस्तार पर बातचीत हुई। समीक्षा के लिए एक उच्चस्तरीय टीम 24 जनवरी को पटना आ रही है। नए टर्मिनल का काम अप्रैल से शुरू हो जाएगा। जल्द ही बिहटा एयरपोर्ट के लिए अधिग्रहित 108 एकड़ जमीन एयरपोर्ट ऑथोरिटी को सौंप देगी। पटना एयरपोर्ट पर बनने वाले 803 करोड़ की लागत से 45 लाख यात्रियों की क्षमता वाले नए टर्मिनल के लिए प्रोजेक्ट मैनेजमेंट कंसलटेंट और डिजायन की स्वीकृति मिल चुकी है। शीघ्र निविदा स्वीकृत कर अप्रैल से काम प्रारंभ हो जाएगा।

    पटना एयरपोर्ट क्या है इंतजाम

    - पटना एयर पोर्ट पर सालाना 5 लाख यात्रियों के आने-जाने की क्षमता है। वर्तमान में 26 लाख यात्री आ जा रहे हैं। मार्च तक इसके 30 लाख तक होने की संभावना है। यानी क्षमता से 25 लाख अधिक यात्री सालाना पटना एयर पोर्ट पर आएंगे।

    - हर दिन 35 विमान पटना एयर पोर्ट पर उतरते हैं और इतने ही उड़ान भरते हैं। हर दिन करीब साढ़े बारह हजार यात्री पटना एयर पोर्ट पर आते-जाते हैं।
    - पटना एयर पोर्ट पर तीन एक्स-रे मशीनें हैं और दो स्कैनर हैंड बैग की जांच के लिए हैं।
    - पांच विमान कंपनियों के जहाज फिलहाल पटना एयर पोर्ट पर उतरते और उड़ान भरते हैं। इनमें एयर इंडिया, जेट एयरवेज,इंडिगो, स्पाइस जेट, गो-एयर शामिल हैं।
    - रनवे पार्किंग की क्षमता पांच विमानों की है। इसमें चार एयर बस और एक छोटा विमान को पार्क किया जा सकता है।
    दरभंगा एयरपोर्ट से हवाई सेवा का रहा है पुराना इतिहास
    दरभंगा एयरपोर्ट पर हवाई सेवा का इतिहास पुराना है। यहां से 1941 में भी विमान सेवा की शुरुआत हो गई थी लेकिन, यह सेवा सिर्फ राज दरभंगा और उनके वीवीआईपी अतिथियों के लिए ही उपलब्ध थी। उसके बाद राजा दरभंगा ने 1950 में आम लोगों के लिए दरभंगा एविएशन के नाम से एक हवाई उड़ान कंपनी की शुरुआत की थी और उनके बेड़े में सात विमान थे और यह कंपनी दरभंगा-कोलकाता विमान सेवा चलाती थी।12 वर्षों तक सेवा देने के बाद यह कंपनी सन 1962 में बंद हो गई। वर्ष 2008 में स्पिरिट एयरवेज ने ही आम लोगों के लिए दरभंगा से दिल्ली के लिए उड़ाने संचालित करने का प्रयास किया था, लेकिन पहला विमान ही रनवे से उतर गया और दुर्घटना होते-होते बची. उसके बाद प्रयास छोड़ दिये गए।
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Patna

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×