--Advertisement--

मिल्खा सिंह ने कहा- मेरी ख्वाहिश कि ओलिंपिक में गोल्ड जीते कोई इंडियन

बिहार में एक नहीं 100 मिल्खा पैदा हो सकता है। उन्होंने एथलीट एकेडमी खोलने के लिए बिहार सरकार को सुझाव दिया।

Danik Bhaskar | Dec 17, 2017, 06:45 AM IST

पटना. रन फॉर बिहार, पटना हाफ मैराथन के लिए सिटी पहुंचे फ्लाइंग सिख मिल्खा सिंह ने कहा कि उनकी आखिरी ख्वाहिश है कि वे इंडिया के किसी यूथ को ओलिंपिक में गोल्ड मेडल जीतता देख सके। फ्लाइंग सिख के नाम से फेमस मिल्खा सिंह ने यह ख्वाहिश शनिवार को पटना पहुंचने के बाद होटल पनास में जाहिर की। वे पटना हाफ मैराथन का फ्लैग ऑफ करने आए थे।

हर दिन आते हैं 200 से 300 लेटर

उन्होंने कहा- मेरी उम्र 90 के आसपास है। जब से मिल्खा सिंह पर फिल्म बनी है लोग हमारे दीवाने हो गए हैं। हर दिन 200-300 पत्र आते हैं, जिसमें किसी न किसी कार्यक्रम में शिरकत करने का आग्रह होता है। बिहार में पहली बार हाफ मैराथन हो रहा है। मुझे इन्विटेशन मिला। मैंने तय किया कि मुझे बिहार जाना चाहिए। दुख की बात है कि जब से भारत आजाद हुआ तब से आज तक एथलीट में मेडल नहीं मिला। एक और मिल्खा देखना चाहता हूं। बिहार में एक नहीं 100 मिल्खा पैदा हो सकता है। उन्होंने एथलीट एकेडमी खोलने के लिए बिहार सरकार को सुझाव दिया।