--Advertisement--

बूढ़ी मां ने दी थी चायपत्ती, चाय पीने से दो बच्चों समेत फैमिली के 4 मेंबर्स की मौत

बुजुर्ग ने कहा- मेरी तो नजर कमजोर है, लेकिन चायपत्ती के पैकेट में थायमेट कहां से आया यह उसे पता नहीं है।

Dainik Bhaskar

Jan 14, 2018, 02:38 AM IST
बुजुर्ग जिसने चायपत्ती दी थी। बुजुर्ग जिसने चायपत्ती दी थी।

मुजफ्फरपुर (बिहार). यहां के एक गांव में शनिवार की सुबह थायमेट मिली चायपत्ती से बनी चाय पीने से एक ही परिवार के चार लोगों की मौत हो गई। अब फैमिली में सिर्फ ढाई साल का एक बच्चा सत्यम कुमार बचा है। उसने चाय नहीं पी थी, लेकिन उसने मां का दूध पिया था। इससे उसकी भी हालत खराब होने पर एसकेएमसीएच में एडमिट कराया गया। मरने वालों में चंदन भगत, उसकी पत्नी रेखा देवी, सात साल का बेटा संजीत कुमार और पांच साल की बेटी चांदनी कुमारी शामिल है।

70 साल की मां ने बताई ये बात

- चंदन की मां 70 वर्षीय देव कली देवी ने बताया, उसने ही बहू रेखा को चाय बनाने के लिए चायपत्ती दी थी। कहा- मेरी तो नजर कमजोर है, लेकिन चायपत्ती के पैकेट में थायमेट कहां से आया यह उसे पता नहीं है।

- घटना के बाद एसडीपीओ सरैया शंकर झा ने स्थानीय थाने की पुलिस और एफएसएल टीम के साथ चंदन भगत के घर पहुंचकर पड़ताल की। देव कली देवी ने जो चायपत्ती दी थी, उसे डिब्बे में उसने बंद करके रखा था।

- डिब्बा खोलते ही चायपत्ती के सैशे (पुड़िया) से थायमेट की दुर्गन्ध आ रही थी। एफएसएल टीम ने उसे जांच के लिए जब्त किया। टीम ने दूध का भी नमूना लिया है, जिससे चाय बनाई गई थी।

चंदन ने कहा था- यह नीम जैसा कड़वा क्यों है

- चंदन के चचेरे भाई राकेश की पत्नी शोभा देवी ने बताया कि सुबह आठ बजे रेखा ने चाय बनाकर पति को दी। चंदन ने चाय पीते ही कहा था यह नीम जैसा कड़वा क्यों लग रहा है। चाय में रंग भी नहीं आया है।

- तब रेखा ने उससे कहा था- पुरानी चायपत्ती थी इसलिए रंग नहीं आया होगा। चाय पीकर चंदन भैंस का दूध निकालने चला गया। रेखा ने खुद चाय पी और बेटे संजीत और बेटी चांदनी को भी दी।

- आधा घंटे बाद चंदन के सीने में तेज दर्द हुआ और वह बेहोश होकर गिर पड़ा। ठंड लगने की आशंका पर रेखा और परिवार के लोग उसे हॉस्पिटल ले गए।

- अस्पताल में चंदन की मौत हो गई, शव घर आया तो दोनों बच्चे और रेखा के सीने में दर्द शुरू हुआ। तीनों को अस्पताल ले जाया गया। रास्ते में ही तीनों की मौत हो गई। इस तरह एक-एक कर चार लोगों की मौत हो गई।

ढाई साल के सत्यम को भी मां ने दी थी चाय

- पति और दोनों बच्चों के बाद ढाई साल के बेटे सत्यम को भी चाय दी। सत्यम ने चाय नहीं पी। हालांकि मां का दूध पीने पर उसे भी बेहोशी छाने लगी। एसकेएमसीएच में इलाज कराया गया।

- शाम में दादा शंकर भगत ने डॉक्टरों से कहा अब इस बच्चे को ही चारों चिता को मुखाग्नि देनी है। यह कहते हुए शंकर उसे एसकेएमसीएच से घर ले गया।

ये है थायमेट

- फसल में सफेद रंग का कीड़ा लग जाने पर थायमेट नाम का कीटनाशक दिया जाता है। चायपत्ती के जैसा ही थायमेट का भी दाना होता है। जहरीले थायमेट को फसल की जड़ से कुछ दूर रखा जाता है, लेकिन असर इतना तेज होता है कि कीड़ा मर जाता है।

एसएसपी विवेक कुमार ने बताया कि जहरीली चाय से पति-पत्नी और दो बच्चे की मौत की बात बताई जा रही है। घर से चायपत्ती और दूध जब्त की गई है। चायपत्ती के सैशे से कीटनाशक की दुर्गन्ध आ रही थी। दूध, चायपत्ती की एफएसएल जांच और शव के पोस्टमार्टम रिपोर्ट से ही स्थिति स्पष्ट हो पाएगी।

हॉस्पिटल में बच्चे के साथ उसके दादा। हॉस्पिटल में बच्चे के साथ उसके दादा।
बर्तनों की जांच करती टीम। बर्तनों की जांच करती टीम।
जहरीले चायपत्ती की जांच करती टीम। जहरीले चायपत्ती की जांच करती टीम।
मौके पर मौजूद गांववाले। मौके पर मौजूद गांववाले।
बर्तनों की जांच करती पुलिस। बर्तनों की जांच करती पुलिस।
ढाई साल का बच्चा जो अब परिवार में अकेला बच गया है। ढाई साल का बच्चा जो अब परिवार में अकेला बच गया है।
जानकारी जुटाती पुलिस की टीम। जानकारी जुटाती पुलिस की टीम।
बर्तन की जांच करती टीम। बर्तन की जांच करती टीम।
हॉस्पिटल में चारों मृतकों की डेडबॉडी। हॉस्पिटल में चारों मृतकों की डेडबॉडी।
X
बुजुर्ग जिसने चायपत्ती दी थी।बुजुर्ग जिसने चायपत्ती दी थी।
हॉस्पिटल में बच्चे के साथ उसके दादा।हॉस्पिटल में बच्चे के साथ उसके दादा।
बर्तनों की जांच करती टीम।बर्तनों की जांच करती टीम।
जहरीले चायपत्ती की जांच करती टीम।जहरीले चायपत्ती की जांच करती टीम।
मौके पर मौजूद गांववाले।मौके पर मौजूद गांववाले।
बर्तनों की जांच करती पुलिस।बर्तनों की जांच करती पुलिस।
ढाई साल का बच्चा जो अब परिवार में अकेला बच गया है।ढाई साल का बच्चा जो अब परिवार में अकेला बच गया है।
जानकारी जुटाती पुलिस की टीम।जानकारी जुटाती पुलिस की टीम।
बर्तन की जांच करती टीम।बर्तन की जांच करती टीम।
हॉस्पिटल में चारों मृतकों की डेडबॉडी।हॉस्पिटल में चारों मृतकों की डेडबॉडी।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..