Hindi News »Bihar News »Patna News» Funeral Of Martyr Mozahid In Bihar

मां रो रही थी, भीड़ लगा रही थी नारा, पिता ने कहा- दूसरा बेटा भी जाएगा पाक से लड़ने

संजय मिश्रा | Last Modified - Feb 15, 2018, 08:45 AM IST

नमाज अता करने के बाद शहीद के जनाजे को सुपुर्द-ए-खाक होने के लिए करीब 500 मीटर दूर कब्रिस्तान में ले जाया गया।
  • मां रो रही थी, भीड़ लगा रही थी नारा, पिता ने कहा- दूसरा बेटा भी जाएगा पाक से लड़ने
    +11और स्लाइड देखें
    शहीद के जनाजे में पहुंचे लोग।

    आरा (बिहार). श्रीनगर में आतंकवादियों के हमले में शहीद सीआरपीएफ के 49वीं बटालियन के जवान मो. मोजाहिद खां का पार्थिव शरीर बुधवार को यहां लाया गया। नमाज अता करने के बाद शहीद के जनाजे को सुपुर्द-ए-खाक होने के लिए करीब 500 मीटर दूर कब्रिस्तान में ले जाया गया। एक तरफ मोजाहिद की मां फफक कर रो रही थी तो वहीं भीड़ भारत मां की जय और पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगा रही थी। इस बीच जब मोजाहिद के पिता से बात की गई तो उन्होंने कहा कि अब उनका दूसरा बेटा भी बॉर्डर पर पाकिस्तान से लड़ने जाएगा।

    - बता दें कि बीडीओ मनोरंजन कुमार पाण्डेय ने शहीद के शव को सुबह 7.45 में रिसीव किया। काफिला 10 मिनट बाद 7.55 बजे शहीद के घर पहुंचा।
    - वहां 8.30 बजे गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया। शव को दोहपर एक बजे पड़ाव मैदान लाया गया। जहां नमाज के लिए लोग जुटे थे।
    - इस दौरान घर और पड़ाव की दूरी करीब एक किलोमीटर तक भीड़ से खचाखच भरी हुई थी। पड़ाव मैदान में 2.05 बजे में जनाजे की नमाज अता हुई।
    - जहां सीआरपीएफ के डीआईजी मोहम्मद सज्जानुद्दीन सहित अन्य अधिकारियों ने शहीद को अंतिम सलामी दी। सीआरपीएफ के जवानों ने मातमी धुन बजाया। फायरिंग कर सलामी दी। शहीद को 3.25 बजे पीरो गांव के कब्रिस्तान में दफनाया गया।

    शहीद के बारे में ये बताते-बताते रो पड़े पिता

    - शहीद मोजाहिद के पिता अब्दुल खैर की उम्र 70 साल से ऊपर है। लेकिन, देश के प्रति जज्बा नौजवानों की तरह है।
    - घर में जवान बेटे का शव रखा हुआ था। लेकिन, पिता के जुबां से आक्रोश पाकिस्तान के खिलाफ झलक रहा था।
    - अब्दुल ने कहा- ऐसे बेटे पर मुझे फक्र है, जो देश के लिए मर मिटा। अब्दुल खैर ने अपने शहीद बेटे मुजाहिद के देशप्रेम को बयां किया।
    - बोले- मोजाहीद नौकरी ज्वाईन करने के बाद घर आया था। तब मैनें पूछा था इहे नौकरी करबअ हो (यही नौकरी करोगे)।
    - मोजाहिद का जबाब था देश की रक्षा के लिए जान देना सबके बूते की बात नहीं अब्बा। यह कहते-कहते वृद्ध अब्दुल फफक कर रोने लगे। मां हसीबा खातून अपने बेटा के शव को देख बेसुध हो रही थी।

    श्रीनगर से शहीद संग आई थी सीआरपीएफ

    - शहीद के शव के साथ श्रीनगर से कांस्टेबल तारिक अनवर साथ आए थे।
    - शहीद को अंतिम विदाई देने आए सीआरपीएफ के डीआईजी मो सज्जानुद्दीन ने शहीद के पिता को 50 हजार का चेक सौंपा।
    - उन्होंने शहीद के पिता से कहा कि कागजी प्रक्रिया के बाद शेष राशि दी जाएगी।
    - इससे पहले मंगलवार की शाम शहीद मो मोजाहिद के भाई इम्तियाज ने कहा ने कहा कि अब पाकिस्तान से बातचीत नहीं करना चाहिए। बंदूक की बात बंदूक से हो। तभी वह सुधरेगा। सरकार पाकिस्तान को उसी की भाषा में जवाब दें।

  • मां रो रही थी, भीड़ लगा रही थी नारा, पिता ने कहा- दूसरा बेटा भी जाएगा पाक से लड़ने
    +11और स्लाइड देखें
    बीडीओ मनोरंजन कुमार पाण्डेय ने शहीद के शव को सुबह 7.45 में रिसीव किया।
  • मां रो रही थी, भीड़ लगा रही थी नारा, पिता ने कहा- दूसरा बेटा भी जाएगा पाक से लड़ने
    +11और स्लाइड देखें
    8.30 बजे गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया। शव को दोहपर एक बजे पड़ाव मैदान लाया गया। जहां नमाज के लिए लोग जुटे थे।
  • मां रो रही थी, भीड़ लगा रही थी नारा, पिता ने कहा- दूसरा बेटा भी जाएगा पाक से लड़ने
    +11और स्लाइड देखें
    इस दौरान घर और पड़ाव की दूरी करीब एक किलोमीटर तक भीड़ से खचाखच भरी हुई थी।
  • मां रो रही थी, भीड़ लगा रही थी नारा, पिता ने कहा- दूसरा बेटा भी जाएगा पाक से लड़ने
    +11और स्लाइड देखें
    रोते बिलखते शहीद के परिजन।
  • मां रो रही थी, भीड़ लगा रही थी नारा, पिता ने कहा- दूसरा बेटा भी जाएगा पाक से लड़ने
    +11और स्लाइड देखें
    शहीद के पिता।
  • मां रो रही थी, भीड़ लगा रही थी नारा, पिता ने कहा- दूसरा बेटा भी जाएगा पाक से लड़ने
    +11और स्लाइड देखें
    जनाजा के दौरान पहुंची महिलाएं।
  • मां रो रही थी, भीड़ लगा रही थी नारा, पिता ने कहा- दूसरा बेटा भी जाएगा पाक से लड़ने
    +11और स्लाइड देखें
    जनाजे में शामिल लोग।
  • मां रो रही थी, भीड़ लगा रही थी नारा, पिता ने कहा- दूसरा बेटा भी जाएगा पाक से लड़ने
    +11और स्लाइड देखें
  • मां रो रही थी, भीड़ लगा रही थी नारा, पिता ने कहा- दूसरा बेटा भी जाएगा पाक से लड़ने
    +11और स्लाइड देखें
  • मां रो रही थी, भीड़ लगा रही थी नारा, पिता ने कहा- दूसरा बेटा भी जाएगा पाक से लड़ने
    +11और स्लाइड देखें
  • मां रो रही थी, भीड़ लगा रही थी नारा, पिता ने कहा- दूसरा बेटा भी जाएगा पाक से लड़ने
    +11और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Patna News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Funeral Of Martyr Mozahid In Bihar
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Stories You May be Interested in

      रिजल्ट शेयर करें:

      More From Patna

        Trending

        Live Hindi News

        0
        ×