--Advertisement--

घरवालों ने आगे पढ़ने से रोका तो लड़की ने महिला हेल्पलाइन में शिकायत कर लिया हक

यह बात कई दिनों से वह बर्दाश्त कर रही थी। जब उसे असहज महसूस होने लगा तो उसने इसकी शिकायत की।

Danik Bhaskar | Mar 14, 2018, 04:43 AM IST

छपरा. रिविलगंज थाना क्षेत्र के शमसुद्दीनपुर में एक दारोगा के बेटी को उसी के परिवार वाले पढ़ने के लिए घर से नहीं निकलने दे रहे थे। उसको बाहर निकलने पर रोक लगा दी गई थी। इस पर लड़की ने हिम्मत जुटाई और नगर विकास निगम, पटना के नंबर पर सारी बात बता दी। इसके बाद महिला निगम ने जिलास्तरीय महिला हेल्प लाइन प्रबंधक को इसकी जांच करने का निर्देश दिया।

महिला हेल्प लाइन प्रबंधक ने त्वरित कार्रवाई करते हुए स्थानीय रिविलगंज पुलिस को लेकर उसके घर पहुंची, जहां पर लड़की को बुलाया गया और इसके बारे में जानकारी ली गई। वहां पर लड़की के परिवार वाले भी मौजूद थे। बता दें कि लड़की के पिता पटना में सब-इंस्पेक्टर पद पर कार्यरत थे। नौकरी के दौरान उनका निधन हो गया। शिकायतकर्ता युवती छह बहन है। वह इंटर में पढ़ाई करती है। जैसा कि लड़की ने हेल्प लाइन को बताया कि कुछ दिनों से वह छपरा आकर अपनी पढ़ाई करना चाह रही थी। उनके अभिभावक उसे बाहर जाने से मनाही कर रहे थे।

यह बात कई दिनों से वह बर्दाश्त कर रही थी। जब उसे असहज महसूस होने लगा तो उसने इसकी शिकायत कर बैठी। हेल्प लाइन प्रबंधक ने उस लड़की के बयान के लिए छपरा बुलाया, ताकि सारी बात खुलकर कह सके। उस लड़की से दोबारा बातचीत की गई। मौके पर पुलिस व हेल्प लाइन टीम ने पहुंचकर उसकी परेशानी की जानकारी ली। लड़की ने बताया कि अब उसे कोई भी नहीं दिक्कत नहीं है। उसे कोई नहीं रोक रहा है। पुलिस हस्तक्षेप के बाद किसी तरह की परेशानी नहीं है। परिजनों का कहना था कि इस तरह की कोई दबाव नहीं था।

आप महिला हैं और आप पर भी जुल्म हो रहा है तो इस नंबर पर करें शिकायत

अगर आप महिला या युवती है और आप पर किसी तरह की प्रताड़ना की जा रही है। कोई घरेलू हिंसा या कोई प्रताड़ित कर रहा है तो आप जिलास्तरीय महिला हेल्प लाइन को सूचित कर सकती हैं। इसके लिए हेल्प लाइन प्रबंधक मधुबाला का मोबाइल नंबर जारी है। किसी तरह की सूचना 9771468029 है।