पटना

--Advertisement--

लव ट्राएंगल मामले में प्रेमी ने प्रेमिका को मारी गोलियां, फोन कर बुलाया था घर से

तत्काल मौके पर पहुंची पुलिस को देख पीड़िता ने कहा- सर मुझे बचा लीजिए।

Danik Bhaskar

Dec 27, 2017, 05:55 AM IST
गंभीर रूप से घायल लड़की को परिजन इलाज के लिए पीएमसीएच लेकर आए। गंभीर रूप से घायल लड़की को परिजन इलाज के लिए पीएमसीएच लेकर आए।

पटना. प्रेमिका से दूसरे युवक के बढ़ते प्रेम को देख बौखलाए प्रेमी ने लड़की को गोली मारकर बुरी तरह घायल कर दिया। गोली मारने वाले हिमांशु उर्फ शुभम ने मंगलवार की शाम छह बजे प्रेमिका को मिलने के लिए उसको घर से बुलाया, फिर उसपर ताबड़तोड़ तीन गोलियां दाग दीं। प्रेमिका को घर से करीब 500 मीटर दूर गोली मारने के बाद शुभम अपने साथी के साथ फरार हो गया। घायल छात्रा को आनन-फानन में पीएमसीएच लाया गया। उसे पेट, कमर के नीचे और बांह में गोली लगी है।

11वीं की स्टूडेंट है लड़की

बताया जा रहा है कि डॉक्टरों ने तीनों गोली निकाल दी है। लड़की की हालत खतरे से बाहर है। पीड़िता जेडी वीमेंस काॅलेज में 11वीं की स्टूडेंट है, जबकि गोली मारने वाला शुभम बेगूसराय का रहने वाला है। ग्रैजुएशन कर चुका शुभम पटना में दादा रामनरेश सिंह (रिटायर्ड टीचर) के साथ रहता है। वहीं लड़की पटना में अपने भाई और मां के साथ रहती है। घटनास्थल से पुलिस ने एक मोबाइल भी बरामद किया है। पुलिस अफसर शरदेंदु शरत ने बताया कि लड़की के ओटी से निकलने के बाद उसके बयान पर एफआईआर दर्ज की जाएगी। छापेमारी जारी है।

लड़की ने कहा- अक्सर जान से मारने की देता था धमकी

लड़की की मां पटना के एक ब्यूटीपार्लर में काम करती है। उन्होंने बताया कि शुभम और उनकी बेटी की जान-पहचान तकरीबन एक डेढ़ साल पुरानी थी। लड़का अक्सर उसे शादी करने का दबाव देता था। कई बार धमकी भी दी थी कि शादी नहीं करोगी तो तुम्हारी मां और भाई को गोली मार देंगे। बताया गया कि शुभम ने एक बार फोन पर लड़की की मां को भी धमकी दी थी। उन्होंने कहा कि जब शुभम ने मुझे फोन पर धमकी दी थी तो मैंने उसकी मां को फोन कर शिकायत की थी। शुभम बदमाश लड़का है। एक बार पहले भी उसने इसी गली में गोलीबारी की थी। उसकी संगत गलत लड़कों से है।

शुभम की मां ने पीड़िता की मां को किया था फोन

पीड़िता की मां ने कहा कि वह अपनी ड्यूटी से रात के नौ बजे घर लौटती है। उसे उसके बेटे ने फोन पर बेटी को गोली लगने की बात कही और वह आनन फानन में हॉस्पिटल पहुंची। हॉस्पिटल पहुंचते ही लड़की की मां के फोन पर शुभम की मां ने फोन किया और कहा कि शुभम फोन नहीं उठा रहा है। आपको कोई जानकारी है क्या। लड़की की मां ने बताया कि शुभम की मां उसके पार्लर आती थी, इसी दौरान उसकी जान पहचान हुई।

पुलिस के पहुंचते ही लड़की बोली, सर मुझे बचा लीजिए

उधर, वारदात के बाद स्थानीय लोगों ने फोन कर पुलिस को जानकारी दी। तत्काल मौके पर पहुंची पुलिस को देख पीड़िता ने कहा- सर मुझे बचा लीजिए। शुभम ने मिलने बुलाया और गोली मार दी। लड़की ने पुलिस को सिर्फ शुभम का नाम बताया है, जबकि स्थानीय लोगों ने पुलिस को बताया कि एक बाइक पर दो लड़के थे। दूसरा लड़का थोड़ी दूरी पर खड़ा था और लड़की एक लड़के से बात कर रही थी। थोड़ी देर नोक-झोंक हुई और लड़के ने लड़की पर गोली चला दी।

Click to listen..