Hindi News »Bihar »Patna» Girl Student Thrown Out From Moving Train

लूट का विरोध करने पर लड़की को चलती ट्रेन से फेंका, बुरी तरह बिगड़ा चेहरा

छपरा-सोनपुर रेलवे ट्रैक पर लुटेरों ने चलती अप इंटर सिटी पैसेंजर ट्रेन से मेडिकल की तैयारी कर रही लड़की को नीचे फेंक दिया

Bhaskar News | Last Modified - Dec 04, 2017, 07:42 AM IST

  • लूट का विरोध करने पर लड़की को चलती ट्रेन से फेंका, बुरी तरह बिगड़ा चेहरा
    +1और स्लाइड देखें
    हॉस्पिटल में जानकारी देती लड़की।

    छपरा.छपरा-सोनपुर रेलवे ट्रैक पर लुटेरों ने चलती अप इंटर सिटी पैसेंजर ट्रेन से मेडिकल की तैयारी कर रही लड़की को नीचे फेंक दिया। घटना शनिवार की रात 10.30 बजे की है। बताया जा रहा है कि साक्षी नाम की लड़की मस्तीपुर से सीवान जाने वाली इंटरसिटी पैसेंजर ट्रेन में हाजीपुर स्टेशन से बैठी। उसे छपरा कचहरी स्टेशन पर उतरना था। ट्रेन में ही एक अपराधी ने उससे मोबाइल छीनने की कोशिश की तो विरोध करने पर लूटेरे ने लड़की को चलती ट्रेन से नीचे फेंक दिया।

    गैंग मैन और ट्रैक मैन ने पहुंचाया हॉस्पिटल

    फिलहाल घायल साक्षी को रेलवे ट्रैक पर पेट्रोलिंग कर रहे गैंग मैन और ट्रैक मैन ने इलाज के लिए सदर हॉस्पिटल में एडमिट कराया है। लड़की छपरा के रहने लालू प्रसाद यादव की बेटी है। लड़की की फैमिली का आरोप है कि घटना के 14 घंटे बाद तक (खबर लिखे जाने तक) लड़की का बयान दर्ज नहीं किया गया है।

    घरवालों ने किया तो नहीं मिली रहा था बेटी का फोन

    लड़की के फैमिली मेंबर्स ने बताया कि ट्रेन चलने के बाद उन्होंने कई बार साक्षी को फोन किया लेकिन उसका फोन नहीं लगा। दूसरे मोबाइल पर काफी देर काल के बाद किसी पैसेंजर ने काल रिसीव किया तो, उसने बताया कि एक लड़की का मोबाइल लूटने के दौरान अपराधियों ने ट्रेन से फेंक दिया है और उसी का बैग है जो ट्रेन में पड़ा है। डर के कारण कोई फोन रिसीव नहीं कर रहा था। उसी यात्री से मिली जानकारी के आधार पर फैमिली मेंबर्स स्टेशन पहुंचे तब तक रेलवे कर्मचारी हॉस्पिटल से जा चुके थे।

    लड़की ने कहा- हाजीपुर स्टेशन पर मेरी बोगी में आकर बैठा था आरोपी

    पीड़िता सोनी साक्षी ने घटना के बारे में बताते हुए कहा कि मैं आठ बजकर 30 मिनट में हाजीपुर स्टेशन पर इंटरसिटी ट्रेन में बैठी। इसकी जानकारी घरवालों को फोन करके दे दी। हाजीपुर में ही एक करीब 26 साल का एक लड़का आया और सामने के सीट पर बैठ गया। इस दौरान मैं मोबाइल चला रही थी। रात होने कारण उस बोगी के सभी पैसेंजर्स सो गये थे। बड़ागोपाल स्टेशन से ट्रेन खुलने के बाद आरोपी उठकर गेट पर गया और खोल दिया। उसके बाद फिर से आकर बैठ गया। ट्रेन एक पुल से जैसे गुजरी वो मेरे हाथ से मोबाइल छिनने लगा। मैंने मोबाइल नहीं दिया। मुश्किल से दो मिनट तक झड़प चली। फिर वो मुझे खिंचते हुए गेट के पास लाया और मोबाइल छीन कर मुझे नीचे फेंक दिया।

    आगे की स्लाइड्स में देखें संबंधित फोटोज...

  • लूट का विरोध करने पर लड़की को चलती ट्रेन से फेंका, बुरी तरह बिगड़ा चेहरा
    +1और स्लाइड देखें
    हॉस्पिटल में पीड़िता के साथ उसके फैमिली मेंबर्स।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Patna

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×