--Advertisement--

अवैध संबंधों का विरोध करने पर फौजी पति ने पत्नी को पेट्रोल छिड़क जिंदा जलाया

बगेन थानाध्यक्ष दिनेश कुमार सिंह ने बताया कि महिला को जलाकर मार डालने का मामला आया है।

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 05:22 AM IST
बाएं मृतका सुनीता देवी और दाएं आरोपी राजेंद्र सिंह की फाइल फोटो बाएं मृतका सुनीता देवी और दाएं आरोपी राजेंद्र सिंह की फाइल फोटो

बक्सर/ब्रह्मपुर. किसी और महिला के साथ अवैध संबंध के विरोध पर फौजी पति ने पत्नी को जिंदा जला कर मार डाला। घटना बगेन थाना क्षेत्र के भदवर गांव की है। परिजनों ने बताया कि शुक्रवार की देर शाम मृतका सुनिता देवी (50) अपने पति राजेन्द्र सिंह का किसी गैर महिला से संबंध का विरोध किया। जिसके बाद दोनों में कहा-सुनी हुई देखते-देखते पति ने पत्नी पर हमला कर दिया। पहले उसकी जमकर पिटाई की। उसके बाद भी पत्नी का विरोध जारी रहा तो फौजी राजेन्द्र सिंह ने कमरे में पत्नी पर पेट्रोल छिड़क कर आग लगा दिया फिर कमरा बाहर से बंद कर दिया।

घटना के बाद परिवार समेत फरार

घटना के बाद परिवार समेत भाग निकला। जब तक लोग कुछ समझ पाते महिला जलकर मर चुकी थी। मृतक सुनिता की मरने की सूचना पड़ोसियों ने उसके मायके जगदीशपुर थाना क्षेत्र कौंरा गांव निवासी भाई सुनील सिंह को दी। घटना के बाद मौके पर पहुंचे सुनील ने बहन को जलाकर मार डालने की खबर पुलिस को दी। पुलिस शव को जब्त कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। वहीं मृतका के भाई सुनील सिंह के बयान पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है।

अपने छोटे बेटे के साथ इलाज के लिए रहती थी दिल्ली में

कौंरा गांव निवासी सुनील सिंह ने बहन सुनिता के जिंदा जलाकर मारने के मामले में चार लोगों पर एफआईआर दर्ज कराई है। सुनील का आरोप है कि बहन को पांच वर्ष पूर्व गठिया रोग हो गया था। जो चलने-फिरने में असमर्थ थी। उसके बाद वह इलाज के लिए बेटे के साथ दिल्ली रहती थी। जो एमबीए कर रहा है। रामनवमी के अवसर पर घर आई थी। उसी दौरान किसी ने उसके पति राजेंद्र सिंह का संबंध गैर महिला के साथ होने की बात बताई। उसको लेकर जब बहन ने पूछा तो लोग मारने लगे। शुक्रवार को पति राजेन्द्र उर्फ मुन्ना सिंह, सास कलावती देवी, ससुर दीना नाथ सिंह, देवर बजरंगी सिंह ने जलाकर मार डाला। पीड़ित के भाई ने आरोपी राजेंद्र सिंह की तस्वीर भी पुलिस को उपलब्ध कराई है।

बीमार बड़े बेटे का भी नहीं कराया था इलाज, हो गई थी उसकी मौत
पत्नी की हत्या का आरोपित राजेंद्र सिंह की शादी करीब 30 वर्ष पूर्व हुयी थी। कौरा निवासी पत्नी सुनीता सिंह से दो पुत्र थे। जिसमे बड़े पुत्र की मानसिक स्थिति ठीक नहीं थी। उसका इलाज भी राजेंद्र सिंह ने नहीं कराया था। दो वर्ष पूर्व बड़े पुत्र की मौत हो गयी। वहीं छोटा पुत्र दिल्ली में रहकर पढ़ाई करता है। इधर, घटना के बाद गांव में तरह-तरह की चर्चाएं हो रही हैं। बता दें कि इस गांव में हाल के दिनों में पत्नी को जलाकर मार डालने की यह चौथी घटना है। इसके पहले के तीन मामलों में आरोपितों को जेल की सजा भुगतनी पड़ी। लेकिन, लोगों में कानून का खौफ उसके बावजूद भी नहीं है। जिस कारण आए दिन ऐसी घटनाएं हो रही हैं।

फौज में वरीय अफसरों को भी दी थी अवैध संबंध की सूचना

मृतका के भाई सुनील सिंह ने बताया कि राजेंद्र सिंह उर्फ मुन्ना सिंह अय्याश किस्म का आदमी है। इसके पहले भी दिल्ली की एक महिला से अवैध रिश्ते के कारण पति-पत्नी के बीच मारपीट हुई थी। जिसके बाद सुनीता ने इसकी सूचना राजेंद्र सिंह के कैम्प में जाकर उसके अधिकारियों को दी थी। अधिकारियों ने कहा था कि वे समझा देंगे। इसके बाद पति-पत्नी का विवाद खत्म हो गया था। लेकिन, इसके बावजूद राजेंद्र सिंह अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा था। उसने अपनी बहन के गांव की एक विधवा शिक्षिका के साथ नाजायज संबंध स्थापित किया था। छुट्टी में आने पर अपने गांव पत्नी के पास आने की बजाय वह उक्त शिक्षिका के पास दानापुर चला जाता था। इसी बात के विरोध पर मारपीट की गयी। और सुनीता को जिन्दा जला दिया गया।

फरार हैं सभी आरोपी, जल्द होंगे गिरफ्तार

बगेन थानाध्यक्ष दिनेश कुमार सिंह ने बताया कि महिला को जलाकर मार डालने का मामला आया है। मृतका सुनीता देवी के भाई सुनील सिंह के बयान पर पुलिस ने मामला दर्ज कर पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। वहीं घटना के सारे आरोपी फिलहाल घर से फरार है। सभी की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है।

सदर अस्पताल के बाहर जुटी भीड़। सदर अस्पताल के बाहर जुटी भीड़।