--Advertisement--

सर, लॉज में चलता है देह-व्यापार का धंधा, कहा-मेरी पत्नी भी है शामिल

पढ़ाई के नाम पर लगातार पत्नी पैसे भी लेती है, लेकिन अच्छा बर्ताव नहीं करती है।

Danik Bhaskar | Jan 09, 2018, 06:29 AM IST
डेमो फोटो। डेमो फोटो।

भागलपुर. दुमका का एक व्यक्ति सोमवार को डीआईजी विकास वैभव से मिला। उसने एसएम कॉलेज रोड के एक लॉज में देह-व्यापार के धंधे की जानकारी दी। व्यक्ति ने कहा कि उसकी पत्नी भी घर-द्वार छोड़ कर इस दलदल में फंसी है। इस गलत काम को अजय नामक एक पुलिसकर्मी का संरक्षण है। वह अलीगंज मोहल्ले का रहने वाला है।

बरारी थानेदार को जांच करने के दिए निर्देश

डीआईजी ने बरारी थानेदार को मामले की त्वरित जांच के निर्देश दिए। व्यक्ति का आरोप है कि 2001 में उसकी शादी हुई थी और उसे तीन बच्चे भी हैं। शादी के 14 साल तक पत्नी उसके साथ रही। 2015 में पढ़ाई करने के नाम पर पत्नी भागलपुर आ गई और उक्त लॉज में रहने लगी। पढ़ाई के नाम पर लगातार पत्नी पैसे भी लेती है, लेकिन अच्छा बर्ताव नहीं करती है। इस कारण पूछा तो पत्नी ने कहा कि जैसे कहते हैं, वैसा करो, नहीं तो जान मरवा देंगे और झूठे केस में भी फंसा देंगे। बाद में पता चला कि मेरी पत्नी भागलपुर के जिस लॉज में रहती है, वहां अन्य महिलाएं भी देह-व्यापार में संलिप्त हैं। अजय नामक पुलिस वाला सभी महिलाओं से गलत काम करवाता है। एक दिन पत्नी का मोबाइल मेरे हाथ लगा तो उसमें दो नंबर मिले। इस पर कॉल करने पर जान मारने की धमकी दी गई।

पुलिस के पहुंचने से पहले ही महिला ने सामान हटाया, लॉज खाली कर दिया

डीआईजी के आदेश के बाद बरारी थानेदार रोहित कुमार सिंह पति को लेकर महिला के लॉज पहुंचे। लेकिन वहां पता चला कि महिला थोड़ी से देर पहले कमरा खाली कर चली गई है। उसने टेम्पो से अपना सामान ढोया है। लॉज में कमरा खाली कर जाने वाला भरा हुआ फार्म भी बरारी पुलिस को दिखाया गया। फिलहाल महिला कहां गई, इसका पता उसके पति को भी नहीं है। पुलिस महिला के मोबाइल नंबर के आधार पर मामले की जांच कर रही है। पुलिस का कहना है कि जब तक महिला नहीं सामने आ जाती है, तब तक कुछ कहा नहीं जा सकता है। पति का आरोपों में कितना दम है, इसका पटाक्षेप महिला की कर सकती है।