Home | Bihar | Patna | ISIS militant Anwar Alam Connection Form Terrorist Organizations

इस आतंकी के पाकिस्तान, अफगानिस्तान और कश्मीर के आतंकी संगठनों से जुड़े हैं तार

इस महीने ही मो. अनवर कश्मीर को निकलने वाला था। विभिन्न एजेंसियों की पूछताछ में उसने यह स्वीकार भी किया है।

Bhaskar News| Last Modified - Feb 12, 2018, 05:47 AM IST

1 of
ISIS militant Anwar Alam Connection Form Terrorist Organizations

गया (बिहार).     आईएसआईएस से जुड़े मो. अनवर आलम उर्फ मुन्ना की निशानदेही पर गया के विभिन्न इलाकों के अलावा जहानाबाद और रांची में भी सुरक्षा एजेंसियों ने छापेमारी की। एक को हिरासत में लिए जाने की सूचना है, जबकि रविवार देर रात एक अन्य संदिग्ध को नगमतिया रोड से पुलिस ने धर दबोचा। दिन भर बिहार एटीएस और गया पुलिस की टीमें अलग-अलग स्थानों पर दबिश देती रहीं। गया में तीन और संदिग्धों की तलाश की जा रही है। पुलिस सूत्रों के मुताबिक आईएसआईएस से जुड़ा मो. अनवर व्हाटस ऐप से आतंकी संगठनों से संपर्क में था। पाकिस्तान और कश्मीर में कई आतंकी संगठन से संपर्क की बात सामने आई है।  


इसी महीने निकलने वाला था कश्मीर

 

इस महीने ही मो. अनवर कश्मीर को निकलने वाला था। विभिन्न एजेंसियों की पूछताछ में उसने यह स्वीकार भी किया है। कश्मीर में उसका इंतजार मरियम नाम की लड़की कर रही थी। हालांकि मरियम कौन है, इस संबंध में वह कुछ बताने से परहेज बरत रहा। इधर अनवर के पकड़े जाने के बाद गया-जहानाबाद-रांची और कोलकाता के एक बड़े आतंकी नेटवर्क का खुलासा हो सकता है।  

 

कश्मीर में मुंगेरी हथियार की मांग 


चौंकाने वाली बात यह आई है, कि कश्मीर में बिहार के मुंगेर के हथियारों की मांग है। यही वजह रही कि जो पिस्टल बरामद किया गया है, वह मुंगेर का ही निर्मित है। 42 पीस कारतूस बरामद किए जाने की बात सामने आई है। विदित हो कि 10 फरवरी को एनआईए-एटीएस और गया पुलिस की कार्रवाई के दौरान आईएसआईएस से ताल्लुकात रखने वाले मो. अनवर उर्फ मुन्ना को गया शहर के मारूफगंज से गिरफ्तार किया गया था। वहीं दो संदिग्धों को भी पकड़ा गया है।

 

अफगानिस्तान और पाकिस्तान से संपर्क की बात स्वीकारी


अनवर ने अफगानिस्तान-पाकिस्तान और कश्मीर में रहे आतंकी संगठनों से संपर्क की बात स्वीकारी है। इसने बताया कि व्हाटसएप और फेसबुक के जरिए वह संपर्क में रहता था। श्रीनगर में एक मस्जिद के इमाम मौलाना वकार से उसका संपर्क था, जिसने उसे इस्लाम के लिए जेहाद करने की ट्रेनिंग दी थी। इसी ने उसे एक नंबर दिया था, जिससे अफगानिस्तान के आतंकियों से वह संपर्क में रहता था।

 

एक संदिग्ध को छोड़ दिया गया 


गया की सीनियर एसपी गरिमा मल्लिक ने बताया कि आईएसआईएस से ताल्लुकात रखने वाले अनवर और इसके साथी मो. सईद शमी मारूफगंज निवासी को जेल भेज दिया गया है। एक संदिग्ध मो. शाद के खिलाफ किसी आतंकी संगठन से संबंध की बात सामने नहीं आने पर उसे छोड़ दिया गया।

 

तौसीफ के भी संपर्क में रहा था अनवर


गया में शिक्षक बनकर आठ सालों तक आतंक की पाठशाला चलाने वाला मो. तौसीफ खां के साथ भी यह संपर्क में रहा था। गया में स्लीपर सेल तौसीफ ने तैयार किया है। अनवर की गिरफ्तारी के बाद माना जा रहा है कि स्लीपर सेल के खुलासे के लिए कई नाम अब सुरक्षा एजेंसियों के पास हैं।

 

सीआरपीएफ के अत्याधुनिक हथियार लूटने की थी योजना, देशद्रोह का मामला हुआ दर्ज

 

रविवार को मो. अनवर और मो. सईद को जेल भेज दिया गया। सिविल लाईन थानाध्यक्ष हरि ओझा ने बताया कि इन्होंने गया में भी सुरक्षाबलों के अत्याधुनिक हथियार लूटने की योजना बना रखी थी। यह कश्मीर के अलावे कुछ और देशों में आतंकी संगठनों के संपर्क में था। इंडियन मुजाहिदीन से भी जुड़े होने की बात सामने आई है। थानाध्यक्ष ने बताया कि मो. अनवर और मो. सईद शमी के खिलाफ देशद्रोह एवं विधि विरूद्ध कार्यालाप एवं अवैध शस्त्र रखने को लेकर कांड संख्या 60। 18 दर्ज की गई है। बताया कि मो. अनवर का सहयोग मो. सईद शमी करता था। रविवार को केस दर्ज करने के बाद दोनों को कोर्ट में पेश किया गया, जिसके बाद जेल भेजा गया। बता दें कि तीसरे संदिग्ध मो. शाद से पूछताछ के बाद पुलिस ने उसे छोड़ दिया। इसकी योजना में अंतर्राष्ट्रीय स्थली बोधगया को भी दहलाने की तैयारी थी। विष्णुपद-बोधगया के अलावे गया एयरपोर्ट और गया रेलवे स्टेशन को टारगेट कर रखा था।

ISIS militant Anwar Alam Connection Form Terrorist Organizations
ISIS militant Anwar Alam Connection Form Terrorist Organizations
ISIS militant Anwar Alam Connection Form Terrorist Organizations
ISIS militant Anwar Alam Connection Form Terrorist Organizations
prev
next
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending Now