Hindi News »Bihar »Patna» ITI Students Die In Suspicious Circumstances

दिन में स्वीपर का काम फिर रात में पढ़ाई करता था ये ITI स्टूडेंट, ऐसे हो गई मौत

बिना पुलिस को बताए कमरे की सफाई करवाकर साक्ष्य मिटा दिया गया।

Bhaskar News | Last Modified - Feb 02, 2018, 06:43 AM IST

  • दिन में स्वीपर का काम फिर रात में पढ़ाई करता था ये ITI स्टूडेंट, ऐसे हो गई मौत
    +5और स्लाइड देखें
    अपने बेटे रोहित पंडित की लाश के पास विलाप करते पिता शंभू पंडित।

    भागलपुर. रेलवे स्टेशन के सामने एमएस होटल के बंद कमरे में संदेहास्पद स्थिति में स्वीपर का काम करने वाले एक लड़के की मौत हो गई। बताया जा रहा है कि मृतक रोहित पंडित आईटीआई का स्टूडेंट था। दिन में काम के बाद वो रात को पढ़ाई करता था। रोहित के दो दोस्त हॉस्पिटल में एडमिट हैं। बताया जा रहा है कि काम खत्म होने के बाद रोहित अपने दो दोस्तों के साथ बुधवार रात 12:30 बजे सोने चला गया था।

    पुलिस ने कहा- दम घुटने से हुई मौत, एफएसएल टीम ने कहा- फिर मुंह से झाग कैसे निकला

    - इस घटना का पता तब चला जब गुरुवार सुबह 5 बजे होटल का गार्ड उन्हें जगाने गया। कमरे के गेट पर धक्का मारने पर अंदर की छिटकनी खुल गई। इसके बाद सभी को बाहर निकाला गया।
    - होटल प्रबंधन ने तीनों को मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती कराया, जहां एक को डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। एक की हालत गंभीर है जबकि दूसरे को होश आ गया है। जिस कमरे में तीनों सोए हुए थे वह छह बाई पांच का है। - सीसीटीवी फुटेज देखने के बाद पुलिस मान रही है कि बंद कमरे में अंगीठी की आग ठंडी होने पर कमरे में कार्बन मोनो ऑक्साइड और मिथेन गैस की अधिकता हो गई होगी।

    पांच गुना छह फीट के कमरे के अंदर सो रहे तीनों युवक बेहोश हो गए और एक की मौत हो गई। जबकि दूसरा अब तक बेहोश ही है। एफएसएल इस तर्क को सही नहीं मान रही।

    टीम का कहना है कि यदि गैस भरने से मौत हुई होती तो मुंह से झाग जरूर निकलता। मृतक रोहित के मुंह से झाग नहीं निकला था।

    फूड प्वाइजनिंग की बात को भी नकारा

    - एफएसएल टीम पुलिस की फूड प्वाइजनिंग के तर्क को भी सही नहीं मानती। टीम का कहना है कि जब होटल में कार्यरत करीब 30 कर्मियों ने वही सब्जी-रोटी खायी थी तो सिर्फ इन तीनों की ही तबीयत ही क्यों बिगड़ी।

    - मौत की दूसरी वजह शराब या ड्रग का इस्तेमाल होना भी सामने आया। हालांकि तातारपुर पुलिस इसे सिरे से खारिज कर दिया।

    - बेहोश तीनों कर्मचारियों को बाहर निकालने और अस्पताल भेजने के करीब तीन घंटे बाद होटल मैनेजर ने तातारपुर थाने को घटना की जानकारी दी। होटल प्रबंधन संदेह के घेरे में है।

    - बिना पुलिस को बताए कमरे की सफाई करवाकर साक्ष्य मिटा दिया गया। थानाध्यक्ष ने बताया कि इसके पीछे प्रबंधन की क्या मंशा रही होगी, इसकी जांच की जा रही है। एफएसएल की टीम ने बेडशीट व पिलो कवर को वैज्ञानिक जांच के लिए जब्त कर लिया है।

  • दिन में स्वीपर का काम फिर रात में पढ़ाई करता था ये ITI स्टूडेंट, ऐसे हो गई मौत
    +5और स्लाइड देखें
    बेहोश रोहित के चेहरे पर पानी का छींटा मारते होटल के कर्मचारी।
  • दिन में स्वीपर का काम फिर रात में पढ़ाई करता था ये ITI स्टूडेंट, ऐसे हो गई मौत
    +5और स्लाइड देखें
    स्टेशन चौक स्थित इसी एमएस होटल में कर्मचारी की मौत हुई।
  • दिन में स्वीपर का काम फिर रात में पढ़ाई करता था ये ITI स्टूडेंट, ऐसे हो गई मौत
    +5और स्लाइड देखें
    मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती विकास महतो के साथ परिजन।
  • दिन में स्वीपर का काम फिर रात में पढ़ाई करता था ये ITI स्टूडेंट, ऐसे हो गई मौत
    +5और स्लाइड देखें
    अस्पताल में भर्ती ऋषिकांत कुमार।
  • दिन में स्वीपर का काम फिर रात में पढ़ाई करता था ये ITI स्टूडेंट, ऐसे हो गई मौत
    +5और स्लाइड देखें
    होटल में बेहोशी के दौरान विकास और ऋषिकांत।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Patna

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×