--Advertisement--

दिन में स्वीपर का काम फिर रात में पढ़ाई करता था ये ITI स्टूडेंट, ऐसे हो गई मौत

बिना पुलिस को बताए कमरे की सफाई करवाकर साक्ष्य मिटा दिया गया।

Dainik Bhaskar

Feb 02, 2018, 06:43 AM IST
अपने बेटे रोहित पंडित की लाश के पास विलाप करते पिता शंभू पंडित। अपने बेटे रोहित पंडित की लाश के पास विलाप करते पिता शंभू पंडित।

भागलपुर. रेलवे स्टेशन के सामने एमएस होटल के बंद कमरे में संदेहास्पद स्थिति में स्वीपर का काम करने वाले एक लड़के की मौत हो गई। बताया जा रहा है कि मृतक रोहित पंडित आईटीआई का स्टूडेंट था। दिन में काम के बाद वो रात को पढ़ाई करता था। रोहित के दो दोस्त हॉस्पिटल में एडमिट हैं। बताया जा रहा है कि काम खत्म होने के बाद रोहित अपने दो दोस्तों के साथ बुधवार रात 12:30 बजे सोने चला गया था।

पुलिस ने कहा- दम घुटने से हुई मौत, एफएसएल टीम ने कहा- फिर मुंह से झाग कैसे निकला

- इस घटना का पता तब चला जब गुरुवार सुबह 5 बजे होटल का गार्ड उन्हें जगाने गया। कमरे के गेट पर धक्का मारने पर अंदर की छिटकनी खुल गई। इसके बाद सभी को बाहर निकाला गया।
- होटल प्रबंधन ने तीनों को मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती कराया, जहां एक को डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। एक की हालत गंभीर है जबकि दूसरे को होश आ गया है। जिस कमरे में तीनों सोए हुए थे वह छह बाई पांच का है। - सीसीटीवी फुटेज देखने के बाद पुलिस मान रही है कि बंद कमरे में अंगीठी की आग ठंडी होने पर कमरे में कार्बन मोनो ऑक्साइड और मिथेन गैस की अधिकता हो गई होगी।

पांच गुना छह फीट के कमरे के अंदर सो रहे तीनों युवक बेहोश हो गए और एक की मौत हो गई। जबकि दूसरा अब तक बेहोश ही है। एफएसएल इस तर्क को सही नहीं मान रही।

टीम का कहना है कि यदि गैस भरने से मौत हुई होती तो मुंह से झाग जरूर निकलता। मृतक रोहित के मुंह से झाग नहीं निकला था।

फूड प्वाइजनिंग की बात को भी नकारा

- एफएसएल टीम पुलिस की फूड प्वाइजनिंग के तर्क को भी सही नहीं मानती। टीम का कहना है कि जब होटल में कार्यरत करीब 30 कर्मियों ने वही सब्जी-रोटी खायी थी तो सिर्फ इन तीनों की ही तबीयत ही क्यों बिगड़ी।

- मौत की दूसरी वजह शराब या ड्रग का इस्तेमाल होना भी सामने आया। हालांकि तातारपुर पुलिस इसे सिरे से खारिज कर दिया।

- बेहोश तीनों कर्मचारियों को बाहर निकालने और अस्पताल भेजने के करीब तीन घंटे बाद होटल मैनेजर ने तातारपुर थाने को घटना की जानकारी दी। होटल प्रबंधन संदेह के घेरे में है।

- बिना पुलिस को बताए कमरे की सफाई करवाकर साक्ष्य मिटा दिया गया। थानाध्यक्ष ने बताया कि इसके पीछे प्रबंधन की क्या मंशा रही होगी, इसकी जांच की जा रही है। एफएसएल की टीम ने बेडशीट व पिलो कवर को वैज्ञानिक जांच के लिए जब्त कर लिया है।

बेहोश रोहित के चेहरे पर पानी का छींटा मारते होटल के कर्मचारी। बेहोश रोहित के चेहरे पर पानी का छींटा मारते होटल के कर्मचारी।
स्टेशन चौक स्थित इसी एमएस होटल में कर्मचारी की मौत हुई। स्टेशन चौक स्थित इसी एमएस होटल में कर्मचारी की मौत हुई।
मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती विकास महतो के साथ परिजन। मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती विकास महतो के साथ परिजन।
अस्पताल में भर्ती ऋषिकांत कुमार। अस्पताल में भर्ती ऋषिकांत कुमार।
होटल में बेहोशी के दौरान विकास और ऋषिकांत। होटल में बेहोशी के दौरान विकास और ऋषिकांत।
X
अपने बेटे रोहित पंडित की लाश के पास विलाप करते पिता शंभू पंडित।अपने बेटे रोहित पंडित की लाश के पास विलाप करते पिता शंभू पंडित।
बेहोश रोहित के चेहरे पर पानी का छींटा मारते होटल के कर्मचारी।बेहोश रोहित के चेहरे पर पानी का छींटा मारते होटल के कर्मचारी।
स्टेशन चौक स्थित इसी एमएस होटल में कर्मचारी की मौत हुई।स्टेशन चौक स्थित इसी एमएस होटल में कर्मचारी की मौत हुई।
मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती विकास महतो के साथ परिजन।मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती विकास महतो के साथ परिजन।
अस्पताल में भर्ती ऋषिकांत कुमार।अस्पताल में भर्ती ऋषिकांत कुमार।
होटल में बेहोशी के दौरान विकास और ऋषिकांत।होटल में बेहोशी के दौरान विकास और ऋषिकांत।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..