--Advertisement--

साथी को बहाने से बैरक भेज जवान ने खुद को मारी गोली, नर्सिंग होम में एडमिट

डिप्टी कमांडेंट का कहना है कि कुर्लीकोट थाने में मामला दर्ज कराया गया है। घटना के कारणों की पुलिस जांच कर रही है।

Danik Bhaskar | Dec 31, 2017, 04:27 AM IST
घटनास्थल पर रायफल की जांच करती पुलिस। घटनास्थल पर रायफल की जांच करती पुलिस।

किशनगंज (भागलपुर). 19वीं बटालियन के कुर्लीकोट बीओपी के जवान राजकुमार यादव ने शुक्रवार देर रात को सिर पर गोली मारकर आत्महत्या करने की कोशिश की। यूपी के पहाड़गंज का रहने वाला है। जिसे गंभीर हालत में सिलिगुड़ी के नोटिया नर्सिंग होम में भर्ती किया गया है। जवान की हालत अब भी नाजुक बनी हुई है।


बहाना बनाकर साथी को दूसरे बैरक में भेजा

बताया गया कि राजकुमार शुक्रवार रात को बीओपी के पीछे ड्यूटी कर रहा था। करीब 11.30 बजे अचानक उसने गेट पर तैनात अपने साथी को किसी अन्य जवान को जगाने की बात कहकर बैरक की ओर भेज दिया और खुदको गोली मार ली। गोली की आवाज सुनकर बीओपी इंचार्ज संग जवान गेट की और दौड़े। जहां गोली लगने के बाद गंभीर रूप से घायल राजकुमारी को उठाकर तत्काल इलाज के लिए सिलिगुड़ी ले गए।

जवान के हैं दो बेटी और एक बेटा

घायल जवान के पिता किसान है। उसकी 9 साल पहले शादी हुई थी। उसकी दो बेटी और एक बेटा है। एसएसबी ने परिवार को घटना की जानकारी दे दी है, शनिवार रात तक परिवार के सदस्य नोटिया अस्पताल पहुंचे। परिवार के सदस्य भी यह नहीं समझ पा रहे कि राजकुमार ने आत्मघाती कदम क्यों उठाया।

शांत प्रवृति का है राजकुमार यादव
साथी जवानों के अनुसार राजकुमार शांत प्रवृत्ति का था। किसी भी काम को करने से पहले अपने साथियों से जरूर पूछता था। यहां तक की अपने मोबाइल को चलाने के लिए साथ खड़े या बैठे जवान से पूछता था कि मोबाइल चलाऊं या नहीं।

आत्महत्या के प्रयास का मामला दर्ज
शनिवार की सुबह बीओपी इंचार्ज बबलू क्षेत्री के लिखित आवेदन देकर कुर्लीकोट थाने में जवान के विरूद्द आत्महत्या के प्रयास का मामला दर्ज कराया है। सूचना मिलते ही संयुक्त टीम ने घटनास्थल का मुआयना किया और इंसास राइफल की भी जांच की।

पहले भी हो चुकी हैं इस तरह की घटनाएं
जवान द्वारा आत्महत्या करने के प्रयास का यह दूसरा मामला है। 17 सितंबर को भी एसएसबी की 52वी बटालियन के पैकटोला कंपनी के सहायक सेनानायक सुभाष दास ने अपनी ही रिवाल्वर से सीने पर गोली मारकर आत्महत्या का प्रयास किया था।

पुलिस ही आपको बता सकती है
डिप्टी कमांडेंट विनय कुमार ओझा का कहना है कि कुर्लीकोट थाने में मामला दर्ज कराया गया है और घटना के कारणों की पुलिस जांच कर रही है। इससे ज्यादा पुलिस ही इस संबंध में आपको बता सकती है।

परिवार के लोगों का भी लेंगे बयान
पुलिस अफसर राहुल कुमार का कहना है कि घटना की जांच की जा रही है। मौके का निरीक्षण और रायफल की जांच भी की गई है। परिवार के सदस्यों के भी बयान लिए जाएंगे। उसके बाद ही इस पूरे मामले में स्पष्ट रूप से ्कुछ कहा जा सकेगा।



घायल जवान राजकुमार की फाइल फोटो। घायल जवान राजकुमार की फाइल फोटो।