--Advertisement--

जिस जमीन बनना था आशियाना, मर्डर के बाद उसी पर जली JDU लीडर की चिता

तेज प्रकाश सिंह की हत्या जिस विवादित जमीन के लिए अपराधियों ने कर दी उसी जमीन पर उसकी चिता को जलाया गया।

Dainik Bhaskar

Dec 09, 2017, 08:11 AM IST
मृतक जेडीयू लीडर की फाइल फोटो। मृतक जेडीयू लीडर की फाइल फोटो।

गोपालगंज. गुरुवार को जदयू नेता तेज प्रकाश सिंह की हत्या जिस विवादित जमीन के लिए अपराधियों ने कर दी उसी जमीन पर उसकी चिता को जलाया गया। बता दें कि विवादित जमीन के लिए तेज प्रकाश ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी थी। मोहल्ले के लोगों ने बताया कि इस जमीन पर मृतक ने अपना आशियाना बनाने का सपना संजोया था।

मृतक के पक्ष में था कोर्ट का फैसला

फैमिली ने बताया कि काफी दिन से वे उसी पर एक बड़ी सी झोपड़ी डालकर रहते भी थे और लगभग सात दिन पहले उस जमीन पर मृतक के पक्ष में कोर्ट से फैसला भी आ चुका था। दूसरे पक्ष द्वारा कोर्ट फैसला के विरोध में अपील किया गया था। उसके बाद गुरुवार को दोनों पक्ष के बीच पंचायती के माध्यम फैसला करने का प्रयास किया गया। लेकिन बात नहीं बनी और रात में अपराधियों ने तेज प्रकाश को मौत के घाट उतार दिया।


आपराधिक छवि के दौरान हुए थे कई दर्जन मुकदमे

तेज प्रकाश पर जिले के कई थानों में कई दर्जन आपराधिक मामले दर्ज हैं। जिनमें गोपालपुर थाना के गुलौरा गांव निवासी तेज प्रकाश अपने समय में अपराध के दुनिया में भी कम समय में ही कुख्यात हो गया था। जिस दौरान उसके ऊपर लगभग दो दर्जन से अधिक मामले दर्ज हुए थे। इनमें उसके पैतृक गांव गोपालपुर थाना में हत्या से लेकर आर्म्स एक्ट तक के 8 मामले दर्ज थे। वहीं कटेया में 2 भोरे में 1, बरौली में 1, उचकागांव में एक और अन्य थानों में भी कई मामले दर्ज थे। गोपालपुर थाना के चौहान पट्टी गांव के दीनानाथ मिश्र की हत्या के बाद वह चर्चा में आया। इसके बाद एक के बाद लगभग डेढ़ दर्जन मुकदमे भी दर्ज हुए। उस दौरान उसे सजा भी हत्या के एक मामले में हुई थी। फिर वह जमीन के कारोबार में हाथ डाला और जमीन खरीद -फरोख्त में लग कर अच्छा खासा पैसा कमाया।

बेटे ने दी चिता को आग

बड़े बेटे के पंजाब में होने के कारण छोटे बेटे ने चिता को आग दी। बता दें की गोपालपुर थाना के गुलौरा गांव निवासी तेज प्रकाश उर्फ टीपी की गोपालगंज में हत्या के बाद उसी जमीन पर उसका अंतिम संस्कार बड़े बेटे के पंजाब में रहने के कारण छोटे बेटे ने बुलेट कुमार ने किया। बुलेट अभी मैट्रिक का छात्र है।

एसआईटी का हुआ गठन

पुलिस देर रात से उसकी जांच में जुट गई है। वहीं अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए एसआईटी का गठन कर दिया गया है। जदयू नेता के हत्या के मामले में अधिकारियों ने परिजनों को यह आश्वासन दिया है, की एक सप्ताह के अंदर अपराधियों की गिरफ्तारी कर ली जाएगी। मृतक के परिजनों को सुरक्षा भी मुहैया करा दी गई है।

आगे की स्लाइड्स में देखें रिलेटेड फोटोज...

रोते बिलखते परिजन। रोते बिलखते परिजन।
मौके पर पड़ा कारतूस का खोखा। मौके पर पड़ा कारतूस का खोखा।
मौके पर पड़ा कारतूस का खोखा। मौके पर पड़ा कारतूस का खोखा।
मृतक जेडीयू लीडर के घर की फोटो। मृतक जेडीयू लीडर के घर की फोटो।
मृतक के घर के बाहर मौजूद पुलिस। मृतक के घर के बाहर मौजूद पुलिस।
मौके से कारतूस का खोखा उठाती पुलिस। मौके से कारतूस का खोखा उठाती पुलिस।
X
मृतक जेडीयू लीडर की फाइल फोटो।मृतक जेडीयू लीडर की फाइल फोटो।
रोते बिलखते परिजन।रोते बिलखते परिजन।
मौके पर पड़ा कारतूस का खोखा।मौके पर पड़ा कारतूस का खोखा।
मौके पर पड़ा कारतूस का खोखा।मौके पर पड़ा कारतूस का खोखा।
मृतक जेडीयू लीडर के घर की फोटो।मृतक जेडीयू लीडर के घर की फोटो।
मृतक के घर के बाहर मौजूद पुलिस।मृतक के घर के बाहर मौजूद पुलिस।
मौके से कारतूस का खोखा उठाती पुलिस।मौके से कारतूस का खोखा उठाती पुलिस।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..