--Advertisement--

शोरूम के अकाउंटेंट को गोली मारकर लूटे 10.53 लाख, 200 मीटर दूर था SSP आवास

वारदात को अंजाम देकर तीन अलग-अलग बाइक पर सवार होकर अपराधी दो अलग-अलग दिशाओं में भागे।

Danik Bhaskar | Jan 24, 2018, 04:51 AM IST
बाइक सवार अकाउंटेंट के साथ चल रहे बुलेट सवार अपराधी (लाल घेरे में)। बाइक सवार अकाउंटेंट के साथ चल रहे बुलेट सवार अपराधी (लाल घेरे में)।

भागलपुर. एसएसपी आवास से महज 200 मीटर दूर मंगलवार सुबह 11 बजे तीन बाइक पर सवार छह अपराधियों ने महिंद्रा शोरूम के अकाउंटेंट पंकज शर्मा को गोली मार कर 10.53 लाख रुपए लूट लिए। लूटपाट और गोलीबारी की पूरी घटना डॉक्टर के क्लीनिक में लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई है।


कंधे के नीचे लगी गोली, पटना रेफर

जख्मी अकाउंटेंट को पहले मायागंज ले जाया गया जहां से पटना रेफर कर दिया गया है। गोली उसके बाएं कंधे के नीचे लगी है। अपराधी शोरूम से ही अकाउंटेंट की रेकी कर रहे थे। एसएसपी मनोज कुमार, सिटी डीएसपी शहरयार अख्तर मौके पर पहुंचे और मामले की जांच की। अपराधियों की धरपकड़ के लिए तीन थानेदारों के नेतृत्व में टीम का गठन कर छापेमारी की जा रही है। पंकज एचडीएफसी की तिलकामांझी शाखा में रुपए जमा कराने जा रहे थे। अकाउंटेंट मूल रूप से शाहकुंड के हरपुर गांव के रहने वाले हैं।

तीन अपराधी हटिया रोड और तीन भागे इशाकचक थाने की ओर


वारदात को अंजाम देकर तीन अलग-अलग बाइक पर सवार होकर अपराधी दो अलग-अलग दिशाओं में भागे। एक बाइक पर सवार तीन अपराधी कृषि भवन होते हुए सैंडिस के गेट के सामने के रास्ते से इशाकचक थाने की ओर भागे। जबकि दो अलग-अलग बाइक पर सवार तीन अपराधी हटिया रोड की ओर भाग निकले।

मायागंज अस्पताल में जुटे शोरूम के मालिक और कर्मचारी


वारदात के बाद शोरूम मालिक राजेश समेत स्टाफ मायागंज अस्पताल पहुंचे। राजेश ने डॉक्टरों से कहा कि हर हाल में पंकज की जान बचनी चाहिए। सारा खर्च मेरी ओर से होगा। एक्सरे में गोली फंसी देख डॉक्टरों ने तुरंत एबुंलेंस का इंतजाम कर जख्मी को पारस अस्पताल पटना भिजवाया।

अपराधियों की पहचान हो गई है


एसएसपी मनोज कुमार ने कहा कि वारदात में शामिल अपराधियों की पहचान हो गई है। पुलिस उनके बहुत करीब पहुंच गई है। मैंने खुद घटनास्थल का निरीक्षण किया है। गिरफ्तारी के लिए टीम लगातार छापेमारी कर रही है।

गोली लगने के बाद घायल पंकज शर्मा। गोली लगने के बाद घायल पंकज शर्मा।
दो बाइक पर सवार 4 अपराधी, घटनास्थल की ओर आते हुए। (लाल घेरे में)। दो बाइक पर सवार 4 अपराधी, घटनास्थल की ओर आते हुए। (लाल घेरे में)।
रुपए से भरा बैग नहीं देने पर अकाउंटेट को गोली मारते अपराधी। (लाल घेरे में) रुपए से भरा बैग नहीं देने पर अकाउंटेट को गोली मारते अपराधी। (लाल घेरे में)
गोली मारने के बाद अपराधी दूसरे साथी को रुपए से भरा बैगे देता हुआ। (लाल घेरे में) गोली मारने के बाद अपराधी दूसरे साथी को रुपए से भरा बैगे देता हुआ। (लाल घेरे में)
अकाउंटेंट पंकज को रोकते अपराधी (लाल घेरे में) और क्लिनिक के बाहर खड़ा स्टाफ ब्लू जैकेट में। अकाउंटेंट पंकज को रोकते अपराधी (लाल घेरे में) और क्लिनिक के बाहर खड़ा स्टाफ ब्लू जैकेट में।
बाइक सवार अकाउंटेंट से मारपीट करता शॉल ओढ़े अपराधी व मौजूद दो अन्य अपराधी (लाल घेरे में)। बाइक सवार अकाउंटेंट से मारपीट करता शॉल ओढ़े अपराधी व मौजूद दो अन्य अपराधी (लाल घेरे में)।
मारपीट देख क्लिनिक का स्टाफ बचाने दौड़ा तो एक अपराधी ने पिस्तौल निकाल ली। (लाल घेरे में) मारपीट देख क्लिनिक का स्टाफ बचाने दौड़ा तो एक अपराधी ने पिस्तौल निकाल ली। (लाल घेरे में)
गोली लगने के बाद गिरा जख्मी अकाउंटेंट और सड़क पर गिरी उसकी बाइक (लाल घेरे में) गोली लगने के बाद गिरा जख्मी अकाउंटेंट और सड़क पर गिरी उसकी बाइक (लाल घेरे में)
अकाउंटेंट को मायागंज अस्पताल में भर्ती कराने के बाद वहां पहुंचे शोरूम के सभी स्टाफ व परिजन। अकाउंटेंट को मायागंज अस्पताल में भर्ती कराने के बाद वहां पहुंचे शोरूम के सभी स्टाफ व परिजन।
तिलकामांझी हटिया रोड में महिंद्रा शोरूम के अकाउंटेंट से लूटपाट के बाद जांच को पहुंचे डीएसपी शहरयार अख्तर व तिलकामांझी के थाना प्रभारी। तिलकामांझी हटिया रोड में महिंद्रा शोरूम के अकाउंटेंट से लूटपाट के बाद जांच को पहुंचे डीएसपी शहरयार अख्तर व तिलकामांझी के थाना प्रभारी।
मनोज कुमार, एसएसपी। मनोज कुमार, एसएसपी।