--Advertisement--

बाइकर्स गिरोह का खौफ : 45 मिनट में बदमाशों ने 9 से की लूट, गश्ती इंचार्ज सस्पेंड

हाईवे पर दो बाइक पर सवार चार अपराधियों ने रोक कर पिस्टल सटा दी और 1.20 लाख रुपए, मोबाइल व पर्स लूट लिए।

Danik Bhaskar | Dec 09, 2017, 06:22 AM IST

कांटी (मुजफ्फरपुर). यहां के कांटी सदातपुर से नरसंडा के बीच हाईवे पर 45 मिनट के अंदर बाइकर्स गिरोह ने 9 लोगों से लूट-पाट की। कांटी पुलिस की पेट्रोलिंग गाड़ी सदातपुर ब्रिज पर खड़ी रही। इस मामले में गश्ती दल के इंचार्ज सब इंस्पेक्टर रामानुज सिंह को एसएसपी ने सस्पेंड कर दिया है। सिटी एसपी के नेतृत्व में जांच के लिए टीम का गठन किया गया है। इसमें डीएसपी पूर्वी व पश्चिमी के साथ कांटी थानाध्यक्ष शामिल हैं।


बाइक रोक पिस्टल सटा दी

पनसलवा में टीवीएस शोरूम बंद करवा कर मो.आशिफ आजम बाइक से शहर लौट रहे थे। नरसंडा हाईवे पर दो बाइक पर सवार चार अपराधियों ने रोक कर पिस्टल सटा दी और 1.20 लाख रुपए, मोबाइल व पर्स लूट लिए। नरसंडा में ही राकेश कुमार मिश्रा से 4 अपराधियों ने 15 हजार रुपए लूट लिए। राकेश कांटी नेता चौक लौट रहे थे। लसगरीपुर में भी बैंककर्मी मनोज से साढ़े आठ हजार कैश लूट लिए। कांटी बाजार स्थित वार्ड नंबर-4 के सगे भाई संतोष व विकास से भी लूट-पाट की गई। छपरा काली मंदिर के पास संतोष से साढ़े आठ हजार व सदातपुर में विकास से साढ़े चार हजार लूट लिए। कांटी के 4 और बाइक सवारों सुमित, राजकुमार महतो, संजीव झा व ओमप्रकाश सोनी से लूट-पाट की।

5 लाख कैश की थी खोज

बदमाशों ने एक ही तरह से चारों घटनाओं को अंजाम दिया। सभी बाइक सवार से लूट के दौरान 5 लाख कैश निकालने के लिए गिरोह धमका रहा था। पुलिस का मानना है कि बाइकर्स गिरोह को यह जानकारी मिली थी कि बाइक से 5 लाख कैश लेकर सिंगल कारोबारी जा रहा है।

देवरिया थाने से 200 गज दूर मैनेजर से 4.90 लाख की लूट

उधर, बेखौफ अपराधियों ने देवरिया थाने से महज 200 गज की दूरी पर केनरा बैंक के निकट शुक्रवार को माइक्रो फाइनेंस कंपनी के ब्रांच मैनेजर से 4.90 लाख रुपए लूट लिए। बाइकर्स गिरोह पिस्टल दिखा कर लूट की और फायरिंग करते हुए फरार हो गया। लूट के शिकार भभुआ के उमापुर गांव निवासी ब्रांच मैनेजर राजेश मिश्रा ने बताया कि सीएसओ लूटन सिंह के साथ डाकघर के पास स्थित कंपनी के ऑफिस से कलेक्शन के 4.90 लाख रुपए बैग में रख कर पैदल ही केनरा बैंक में जमा करने जा रहे थे।

इस दौरान नकाबपोश अपराधी हाथ में पिस्तौल लिए आ धमके और बैग छीनने लगे। छीना-झपटी के दौरान ही अपराधियों ने पिस्तौल सटा दी। शोर मचाने पर जान से मारने की धमकी दी, फिर बैग लेकर एक राउंड फायरिंग करते हुए मुजफ्फरपुर की ओर फरार हो गए। नकाबपोश अपराधी सेंटिंग क्रेडिट केयर नेटवर्क लिमिटेड कंपनी के मैनेजर से बैग की छीना-झपटी कर रहे थे तब प्रत्यक्षदर्शी दोनों का आपसी मामला समझ रहे थे। जब अपराधी बैग लेकर फायरिंग करते हुए भागे तब खुलासा हुआ।

एसएसपी विवेक कुमार ने बताया कि देवरिया की घटना की जांच की जा रही है। माइक्रो फाइनेंस कंपनी के संचालक को बार-बार कहा गया है कि कैश ट्रांजेक्शन की सूचना पुलिस को दें। लेकिन, पुलिस को सूचित नहीं कर रहे। थाने से फाइनेंस कर्मी कैश ट्रांजेक्शन के समय संपर्क करें। डीएसपी व जिला मुख्यालय से भी संपर्क कर सकते हैं।