--Advertisement--

मिस्ड कॉल से प्यार के बाद इस लड़की ने की थी शादी, स्टोरी में आया ये ट्विस्ट

बात-बात में राकेश उर्फ नीतीश से प्यार हो गया और उसी से शादी कर पूरी जिंदगी साथ गुजारने का फैसला कर लिया।

Danik Bhaskar | Dec 26, 2017, 06:54 AM IST

मधेपुरा (बिहार). पहले मोबाइल पर मिस्ड कॉल, फिर एक-दूसरे से बातचीत का सिलसिला शुरू हो गया। इसके बाद झारखंड के पलामू की लड़की अपने प्रेमी के साथ मधेपुरा आ गई और दोनों ने मंदिर में शादी करने के बाद साथ-साथ जीने और मरने की कसमें खा ली। लेकिन मोबाइल का टावर लोकेशन की मदद से लड़की का भाई यहां आया और सदर थाने की पुलिस की मदद से सोमवार की सुबह लड़की को बरामद कर लिया गया। लड़की खुद को बालिग बता कर बार-बार पति के साथ ही रहने की बात कर रही थी। लेकिन पलामू से आई पुलिस लड़की को अपने साथ लेकर सोमवार को रवाना हो गई।

राकेश को बुलाया पलामू फिर चली आई मधेपुरा

लड़की रागिनी की मानें, तो वह 17 नवंबर 2017 को अपने मोबाइल से कहीं बात कर रही थी। इसी बीच मोबाइल पर एक मिस्ड कॉल आया। कॉल बैक करने पर एक लड़के की आवाज सुनाई दी। इसके बाद उसने हमसे नाम-पता पूछा। मैंने उसको अपने बारे में पूरी जानकारी दी। मैंने भी फिर उससे उसके बारे में पूछा। इसके बाद बातचीत का सिलसिला शुरू हो गया। बात-बात में राकेश उर्फ नीतीश से प्यार हो गया और उसी से शादी कर पूरी जिंदगी साथ गुजारने का फैसला कर लिया। इसके बाद मैंने राकेश को पलामू बुलाया।

राकेश के साथ ही आ गई मधेपुरा

12 दिसंबर को राकेश ने पलामू पहुंच कर मुझे फोन किया। उसके आने की सूचना पाकर मैं घर से निकल गई और उसके साथ मधेपुरा आ गई। मधेपुरा आने के बाद उसी दिन शिव मंदिर में हिन्दू रीति-रिवाज से इंटरकास्ट मैरिज कर ली। तब से दोनों एक साथ पति-पत्नी के रूप में रह रहे हैं। राकेश ने छह दिसंबर को ही बनाए शपथ-पत्र में दहेज नहीं मांगने और सभी मांगें पूरी करने का वादा किया है। मैं बालिग हूं और अपने पति के साथ ही रहना चाहती हूं।

टावर लोकेशन के आधार पर पहुंचा भाई

रागिनी के भाई राहुल कुमार दूबे ने बताया कि हम दो बहन तथा दो भाई हैं। रागिनी बहनों में छोटी है। वह बीए प्रथम वर्ष की स्टूडेंट है। पिता बस का एजेंसी में काम करते हैं। कॉलेज जाने के नाम पर 12 दिसंबर को घर से निकलने के बाद रागिनी जब देर शाम तक घर नहीं लौटी, तो हमने इसकी सूचना थानाध्यक्ष तथा एसपी को दी। एसपी के निर्देश पर रागिनी के मोबाइल की ट्रेकिंग की गई तो पता चला कि वह मधेपुरा जिले के भगवानपुर में है। इसी आधार पर रविवार को पलामू पुलिस के साथ मधेपुरा आकर मैंने इसकी सूचना सदर पुलिस को दी। पुलिस ने सोमवार सुबह भगवानपुर में छापेमारी कर राकेश के घर से रागिनी को बरामद कर लिया।