--Advertisement--

रास्ते के विवाद में गोली से घायल ने तोड़ा दम, 12 लोगों पर प्राथमिकी, 3 अरेस्ट

प्राथमिक उपचार के बाद उन्हें रेफर कर दिया। उनके घायल पुत्र रजनीश चौधरी का वहीं इलाज चल रहा है।

Danik Bhaskar | Dec 08, 2017, 08:14 AM IST
अस्पताल में पुलिस को जानकारी देते घायल रजनीश चौधरी। अस्पताल में पुलिस को जानकारी देते घायल रजनीश चौधरी।

दलसिंहसराय (समस्तीपुर). दलसिंहसराय थाना क्षेत्र की नगरगामा पंचायत में बुधवार की रात सड़क निर्माण के विवाद को लेकर दो पक्षों के बीच हुई हिंसक झड़प में गोली से घायल समस्तीपुर कोर्ट के मुंशी कमल चौधरी की मौत इलाज के लिए ले जाने के दौरान बीच रास्ते में ही देर रात को हो गई।


गुरुवार को पुलिस ने मृतक के शव को पोस्टमार्टम कराते हुए उसके परिजनों को दाह-संस्कार के लिए सौंप दिया। बताया जाता है कि इस विवाद को लेकर दो गुटों में जमकर मारपीट हुई थी। इसी में एक गुट ने मुंशी पर गोली चला दी जिससे वे गंभीर रूप से घायल हो गए। प्राथमिक उपचार के बाद उन्हें रेफर कर दिया। उनके घायल पुत्र रजनीश चौधरी का वहीं इलाज चल रहा है। घटना को लेकर गांव के उप मुखिया सहित 12 लोगों पर नामजद प्राथमिकी दर्ज कराई है। इसमें दो महिला व दो वकील शामिल हैं। पुलिस ने नामजद आरोपितों में से देवेन्द्र चौधरी, विनय चौधरी व एक महिला को हिरासत में ले ली है। घटनास्थल से पुलिस को गोली के आगे का भाग व तलवार का कवर बरामद हुआ है।


दूसरे पक्ष ने तीन लोगों पर कराया प्राथमिकी दर्ज


घटना को लेकर दूसरे पक्ष की ओर से देवेंद्र चौधरी ने सड़क बनाने को लेकर रंजीत कुमार चौधरी, कमल चौधरी व राजदेव चौधरी पर मारपीट कर रोड़ेबाजी करने को लेकर नामजद प्राथमिकी दर्ज कराई है।

एएसपी ने घटनास्थल के लोगों से की पूछताछ


प्रखंड के नगरगामा में रास्ते के विवाद में समस्तीपुर कोर्ट के मुंशी कमल चौधरी की हत्या के बाद एएसपी सह एसडीपीओ संतोष कुमार ने घटनास्थल पर पहुंचकर जायजा लिया। इस दौरान उन्होंने स्थिति का आकलन करते हुए आसपास के लोगों, मृतक के परिजनों सहित छोटे-छोटे बच्चों से भी पूछताछ की।

घटना में शामिल अन्य लोगों को भी पकड़ा जाएगा
दलसिंहसराय के एएसपी सह एसडीपीओ संतोष कुमार ने बताया कि गोलीकांड में तीन लोगों को अभी तक गिरफ्तार किया जा चुका है। अन्य आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस लगातार छापेमारी कर रही है।