--Advertisement--

कमरे में सोए थे कपल, पुलिस की वर्दी में आए बदमाशों ने ताबड़तोड़ की फायरिंग

जिस कमरे में दंपती सोए थे, उसमें दो दरवाजा है। एक दरवाजा आंगन की ओर और दूसरा दरवाजा बाहर की आेर खुलता है।

Danik Bhaskar | Jan 15, 2018, 03:37 AM IST

आरा. यहां शनिवार की देर रात 10 बजे हथियारबंद अपराधियों ने घर में घुसकर ताबड़तोड़ फायरिंग कर एक शख्स की हत्या कर दी। बताया जा रहा है कि वारदात के दौरान मृतक अपने कमरे में पत्नी के साथ था। बदमाश दो की संख्या में थे। उन्होंने पुलिस की वर्दी पहनी हुई थी। सूत्रों के मुताबिक, ये अवैध संबंध की प्रतिशोध का भी मामला हो सकता है।

डॉक्टर है मृतक

- गांव के लोगों ने बताया कि मृतक संतोष साह डॉक्टर थे और गांव के पूर्व उपमुखिया थे। संतोष के बाएं गर्दन, पेट, सिर और पीठ के पास गोली का जख्म है।

- मौके पर पहुंची पुलिस ने संतोष की पत्नी शैल देवी से पूछताछ कर क्लू लेने का प्रयास किया। शुरूआती जांच में कोई ठोस वजह सामने नहीं आयी है।

- वैसे 3 साल पहले एक वाहन की ठोकर से युवक की मौत एवं किसी गैर से नजदीकी संबंध को केन्द्र में रखकर घटना की पड़ताल की जा रही है। तकनीकी सूत्र की भी मदद ली जा रही है।

दो प्रकार के हथियार के किए थे इस्तेमाल

- पुलिस ने बताया कि हत्या के बाद मौके से 315 बोर का चार और 12 बोर का दो खाली खोखा मिला है। आशंका है कि अपराधी अलग-अलग दो तरह के हथियारों से लैस थे।

- सूत्रों के अनुसार अपराधियों के वर्दी में होने के चलते नक्सली कनेक्शन की भी संभावना जतायी जा रही है।

चार बहनों में इकलौता भाई था संतोष

- संतोष को दो बेटे धीरज तथा नीरज और दो बेटियां प्रीति तथा सलोनी है। सलोनी आठवीं कक्षा और प्रीति इंटर में है।

- बताया जा रहा है कि तीन साल पहले गाड़ी के टक्कर से एक युवक की मौत हो गयी थी। उस समय गाड़ी संतोष ही चला रहा था।

- इस घटना को भी इस कड़ी से जोड़कर देखा जा रहा है। वहीं, पुलिस का कहना है कि परिजन अभी तक खुलकर ठोस कारण नहीं बता रहे हैं।

एक अंदर का दरवाजा था खुला

- संतोष साह का परिवार रोज की तरह खाना खाकर अलग-अलग कमरे में सोया हुआ था। दंपती संतोष एवं शैल देवी एक कमरे में सोए थे। जबकि, बच्चे दूसरी कमरे में सोए हुए थे।

- जिस कमरे में दंपती सोए थे, उसमें दो दरवाजा है। एक दरवाजा आंगन की ओर और दूसरा दरवाजा बाहर की आेर खुलता है।

- इस बीच अचानक पुलिस की वर्दी में हथियार लिए हुए दो अपराधी कमरे में आ धमके। जिसके बाद गोली मारकर संतोष साह को मार डाला।

- पति को बचाने के क्रम में पत्नी के हाथ में बारूद का छींटा भी पड़ा है। 6 गोली मारे जाने से प्रतीत होता है कि अपराधी हर हाल में हत्या करने ही आए थे।