--Advertisement--

बेस कैंप पर माओवादियों ने किया हमला, पोकलेन समेत दो मशीनों को लगाई आग

कंपनी के गार्ड के मुताबिक माओवादियों का दस्ता अचानक बीती रात्रि को आ धमका। पहले सभी कर्मियों से मोबाइल छीन लिए।

Dainik Bhaskar

Jan 01, 2018, 06:19 AM IST
हल्दिया गैस पाइप लाइन योजना की फूंकी गई मशीन। हल्दिया गैस पाइप लाइन योजना की फूंकी गई मशीन।

गुरुआ (गया). हल्दिया गैस पाइप लाइन योजना के कार्य पर एक बार फिर नक्सलियों ने ग्रहण लगा दिया है। शनिवार की रात को दर्जन भर की संख्या में रहे प्रतिबंधित नक्सली संगठन भाकपा माओवादी के हथियारबंद नक्सलियों ने गुरूआ थाना अंतर्गत काज गांव स्थित इस योजना के निर्माण काम में लगी गेल कंपनी के बेस कैम्प को निशाना बनाया। नक्सलियों ने इस दौरान पोकलेन मशीन समेत दो मशीनों में आग लगा दी। वहीं मौजूद रहे गार्ड अरूण यादव और नंदू यादव समेत कई मजदूरों की जमकर पिटाई कर दी। घटना के बाद निर्माण कार्य में लगे कर्मियों में दहशत का माहौल कायम हो गया है।


पहले मोबाइल छीना और फिर लगा दी आग


कंपनी के गार्ड के मुताबिक माओवादियों का दस्ता अचानक बीती रात्रि को आ धमका। पहले सभी कर्मियों से मोबाइल छीन लिए। इसके बाद सभी की पिटाई करने लगे। इस दौरान नक्सली कहे जा रहे थे, कि आमस थाना के महुआवां में हमलोगों ने इसी योजना के कार्य में लगे वाहन को जलाया था। फिर भी इस इलाके में इतनी जल्दी काम शुरू करने की हिम्मत कैसे की। काफी पिटाई करने के बाद दो कीमती मशीनों में आग लगा दिया। विदित हो कि एक माह पहले ही आमस के इलाके में माओवादियों ने इसी योजना में लगे गेल कंपनी के बेस कैम्प पर हमला बोल दिया था।

फायरिंग करते हुए गंतव्य की ओर निकल गए माओवादी


पोकलने समेत दो कीमती मशीनों को फूंकने के बाद माओवादियों ने जमकर फायरिंग करनी शुरू कर दी थी। ताबड़तोड़ फायरिंग किए जाने के बाद लोग सहम गए थे। अनहोनी की आशंका का भय समा गया। किन्तु माओवादी बगैर किसी को क्षति पहुंचाए फायरिंग करते हुए अपने गंतव्य की ओर चले गए।

मांगी एक करोड़ की लेवी गैस पाइप लाइन योजना के ठिकाने पर जिले के विभिन्न थाना इलाकों को मिलाकर 30 दिसंबर की रात को चौथा हमला गुरूआ में किया गया। माना जा रहा कि इस योजना को चालू करवाने के एवज में प्रतिबंधित नक्सली संगठन भाकपा माओवादी एक करोड़ की लेवी मांग रही।

घटनास्थल पर पहुंचे डीएसपी

नक्सली घटना की जानकारी मिलते ही शेरघाटी डीएसपी उपेन्द्र प्रसाद, सर्किल इंस्पेक्टर अरुण कुमार सिंह आमस थानाध्यक्ष प्रसिद्ध कुमार सिंह, गुरुआ थानाध्यक्ष विकास कुमार दल बल मौके पर पहुंचे। विभिन्न बिंदुओं पर पड़ताल करते हुए नक्सलियों के संबंध में मजदूरों से डीएसपी ने जानकारी हासिल की। इस घटना के बाद नक्सलियों की टोह में छापेमारी तेज कर दी गई है। शेरघाटी डीएसपी उपेन्द्र प्रसाद ने बताया कि नक्सलियों के भागने की दिशा में सुरक्षाबलों द्वारा ऑपरेशन शुरू किया गया है।

एक माह में गुरुआ इलाके में तीसरी नक्सली घटना

गुरुआ में विभिन्न नक्सली संगठन के द्वारा एक माह में तीसरी घटना को अंजाम दिया गया है, जो पुलिस-प्रशासन के लिए बड़ी चुनौती है। 23 नवम्बर को नक्सली संगठन पीएलएफआई के हथियार बंद दस्ते ने दिन के उजाले में गुरुआ मिडिल स्कूल से तेतरिया गांव तक प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना से सड़क निर्माण कार्य में लगें जेसीबी मशीन को तोड़फोड़ व चालक की जमकर पिटाई किया था। 27 नवम्बर को वैदा गांव के निकट चार लाख वोल्टेज वाली बिजली प्रवाहित होने वाली टावर निर्माण कार्य में लगे मजदूरों को हथियार बंद नक्सलियों ने मारपीट की थी।

निर्माण कार्य बंद, गेल कंपनी के ठिकाने पर चौथा हमला


इस घटना के बाद हल्दिया गैस पाइप लाइन योजना का निर्माण कार्य गुरूआ इलाके में फिलहाल बंद हो गया है। बताते चलें कि गैस पाईप लाईन योजना के निर्माण कार्य में लगी गेल कंपनी के ठिकाने पर यह नक्सलियों का चौथा हमला है। आमस, गुरूआ के पूर्व दो दफा मोहनपुर थाना के इलाके में इस महत्वाकांक्षी योजना के निर्माण कार्य के ठिकाने पर नक्सलियों ने हमला किया है।

X
हल्दिया गैस पाइप लाइन योजना की फूंकी गई मशीन।हल्दिया गैस पाइप लाइन योजना की फूंकी गई मशीन।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..