Hindi News »Bihar »Patna» Missing Contractor Dead Body Found In Farm

गन्ने के खेत में मिली ठेकेदार की डेडबॉडी, 10 दिन से था लापता, तेजाब से जला था चेहरा

ठेकेदार संजय की हत्या के पीछे नई दिल्ली में दो दोस्तों के बीच मिक्चर मशीन की ठेकेदारी का विवाद सामने आ रहा है।

Bhaskar News | Last Modified - Dec 03, 2017, 08:11 AM IST

  • गन्ने के खेत में मिली ठेकेदार की डेडबॉडी, 10 दिन से था लापता, तेजाब से जला था चेहरा
    +1और स्लाइड देखें

    साहेबगंज/मुजफ्फरपुर.साहेबगंज के भतहंडी गांव के ठेकेदार संजय राय का शव लापता होने के 10 दिनों के बाद शनिवार की दोपहर पश्चिमी दियारा स्थित गन्ने के खेत में क्षत-विक्षत व सड़ी-गली अवस्था में मिला। वे 23 नवंबर की शाम से ही लापता थे। मृतक के चेहरे को तेजाब डाल कर झुलसा दिया गया था। वहीं, एक पैर को कुत्ते नोंच कर खा चुके थे। कपड़ा, चश्मा व चप्पल से शव की पहचान हो सकी।

    शव मिलने की जानकारी मिलते ही भतहंडी गांव में सड़क पर उतर कर लोगों ने साहेबगंज पुलिस की शिथिलता पर विरोध जताया। शव की स्थिति देख पुलिस को आशंका है कि अपहरण के पहले ही दिन संजय राय की गला दबा कर हत्या करने के बाद चेहरे व सिर को तेजाब से जला दिया गया हो। पुलिस को पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार है।

    पुलिस कोर्ट से मांगेगी आरोपियों का रिमांड


    ठेकेदार संजय की हत्या के पीछे नई दिल्ली में दो दोस्तों के बीच मिक्चर मशीन की ठेकेदारी का विवाद सामने आ रहा है। संजय के अगवा होने के बाद जेल भेजे गए संजय के दोस्त राजेश राय समेत तीनों संदिग्ध को रिमांड पर लेने के लिए साहेबगंज पुलिस कोर्ट से अनुरोध किया है। पुलिस का कहना है कि माधोपुर हजारी गांव का नवल राय नई दिल्ली में भवन निर्माण से संबंधित मिक्चर मशीन की ठेकेदारी करता है। नवल राय के साथ उसका बेटा राजेश राय भी दिल्ली में ही रहता था। कुछ साल से नवल राय के साथ ही अपहृत संजय राय नई दिल्ली में साथ रहने लगा। पांच माह पहले संजय राय खुद का मिक्चर मशीन खरीद कर नवल राय से अलग हो गया। इसके बाद से राजेश व संजय की दोस्ती में दरार आने लगा।

    राजेश समेत तीनों संदिग्धों को रिमांड पर लेकर पुलिस करेगी पूछताछ


    नामजद एफआईआर के आधार पर पुलिस ने राजेश राय व तीन संदिग्धों को गिरफ्तार कर पूछताछ की। बावजूद कोई जानकारी पुलिस को नहीं मिली। तीनों संदिग्धों को जेल भेज कर साहेबगंज पुलिस पता लगाती रही। पुलिस को बताया गया है कि चवर में 23 नवंबर की शाम में राजेश राय के साथ संजय को देखा गया था। अंतिम कॉल भी संजय को राजेश ने ही किया था। साहेबगंज थानाध्यक्ष का कहना है कि रिमांड पर लेकर जेल भेजे गए आरोपियों से पूछताछ होगी। थानाध्यक्ष ने चेहरे व सिर पर तेजाब डालने की पुष्टि करते हुए कहा कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट से मौत के कारणों का खुलासा हो सकेगा।

    4 दिन पहले भी पुलिस ने छानी थी खाक


    पांच दिन बाद राजेश भी दिल्ली से माधोपुर हजारी स्थित पैतृक गांव पहुंचा। संजय व राजेश में पैतृक गांव लौटने के बाद मोबाइल पर बातचीत व मिलना-जुलना जारी रहा। 23 नवंबर की शाम में मोबाइल पर कॉल आने के बाद संजय घर से निकला। उसके बाद से पता नहीं चला। लापता होने के अगले दिन पश्चिमी दियारा में संजय की बाइक लावारिस हालत में बरामद हुई। नामजद एफआईआर दर्ज करने के बाद पुलिस ने राजेश राय, मनोज राय व जयलाल राय को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। चार दिन पहले श्वान दस्ते के साथ पश्चिमी दियारा में पुलिस खाक छान कर लौट गई, कोई सुराग नहीं मिला। जबकि, माधोपुर हजारी गांव से दो किमी दूर गन्ने के खेत में हत्या कर संजय का शव फेंक दिया गया था। मुखिया वैद्यनाथ राय के खेत में मजदूर काम कर रहे थे।

  • गन्ने के खेत में मिली ठेकेदार की डेडबॉडी, 10 दिन से था लापता, तेजाब से जला था चेहरा
    +1और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Patna

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×