--Advertisement--

CCTV: फ्रॉड ने 3 स्मार्ट फोन खरीदे, 49 हजार लेन-देन में 46 हजार का लगाया चूना

गैंग के सदस्यों ने बीस-बीस हजार रूपये का दो एवं नौ हजार रूपये का एक मोबाइल खरीदा था।

Danik Bhaskar | Dec 31, 2017, 05:17 AM IST

आरा. भोजपुर जिले के कारोबारी सावधान हो जाएं। लेनदेन में हेराफेरी कर दुकानदारों को चूना लगाने वाला एक शातिर गैंग आरा शहर में एंट्री कर गया है। एक ऐसा ही बड़ा मामला सामने आया है, आरा शहर के करमन टोला रोड में। गैंग के सदस्यों ने नोट में हेराफेरी कर एक ब्रांडेड मोबाइल शो-रूम के मालिक को 46 हजार रुपए का चूना लगा दिया है।

हेराफेरी की फुटेज शनिवार को “दैनिक भास्कर’ के हाथ लगी है। इसे लेकर मोबाइल शो-रूम के मालिक ने नवादा थाना में फ्रॉड गैंग के अज्ञात सदस्यों पर केस दर्ज करा दिया है। पुलिस सीसीटीवी कैमरे की फुटेज के जरिए बदमाशों को चिह्नित करने के प्रयास में लगी हुई है। बहरहाल ठगी के इस तौर-तरीके की व्यवसायियों के बीच दिनभर चर्चा होती रही। उनकी बोलचाल भी स्थानीय ही बतायी जा रही है।

काले रंग की पल्सर बाइक से थे

शहर के बाबू बाजार मुहल्ला के गोपाल प्रसाद का ओपो कंपनी का मोबाइल शो-रूम करमन टोला रोड में शहीद भगत सिंह की मूर्ति के पास है। उनके मोबाइल दुकान में दो बदमाश दोपहर दो बजे काले रंग की एक पल्सर बाइक से ग्राहक बनकर आए थे। गैंग के सदस्यों ने बीस-बीस हजार रूपये का दो एवं नौ हजार रूपये का एक मोबाइल खरीदा था।

लेन-देन में उलझाया

दुकान के स्टाफ चंदन ने बताया कि तीनों मोबाइल का मूल्य करीब 49 हजार रूपये हुआ था। ग्राहक बनकर अाए जालसाज ने पहले 49 हजार रूपये कैश दे दिया था। इसके बाद जब वह नोट को गिनकर गल्ला में रखने लगा तो पुन: बायें हाथ से पैसे वापस ले लिए और कंधे पर रखे गमछे में चालाकी से छिपाकर दायें हाथ से दूसरा पैसा का बंडल धरा दिए। सब कुछ इतना तेजी में हुआ कि समझ नहीं सके। पैसा गिना हुआ था, इसलिए दूबारा नहीं गिने।

बंडल में छुपाए थे 10 के नोट

इसके बाद दोनों फ्रॉड आराम से तीनों सेट लेकर चले गए। बाद में उन्हें अपनी ठगी का एहसास हुआ। दूसरी बार जो नोट दिए थे, उसके ऊपर दो हजार का एक नोट, उसके नीचे पांच सौ का एक नोट और फिर दस-दस रूपये का पचास नोट रखकर बंडल बना दिए थे। जिससे बंडल बदलने का अाभास नहीं हो सके। फ्रॉड गैंग का मेन सरगना नीले रंग का स्वेटर पहने हुए था। कंधे पर सफेद गमछा लिए था।