--Advertisement--

30 जनवरी तक बच्चों के खाते में जाएगी राशि, नौंवी की हर छात्रा को 5450 रुपए

साइकिल, पोशाक सहित विभिन्न योजनाओं की राशि उन बच्चों के खाते में जाएगी, जिसकी कक्षा में 75 प्रतिशत से अधिक उपस्थिति हो।

Dainik Bhaskar

Jan 17, 2018, 05:31 AM IST
money will be transferred to Children bank accounts

पटना. स्कूली बच्चों के खाता में पोशाक, छात्रवृत्ति सहित विभिन्न योजनाओं की राशि भेजने की डेडलाइन समाप्त हो गई, लेकिन पैसे खाते में नहीं पहुंचे। लिहाजा शिक्षा विभाग ने नई डेडलाइन 30 जनवरी तय की है। पहले 15 जनवरी तक भेजने का आदेश दिया गया था। शिक्षा विभाग ने उसे पंद्रह दिन और बढ़ा दी है। हालात यह थी कि 15 जनवरी तक योजनाओं की बीस फीसदी राशि भी खातों में नहीं भेजी गई।

विभाग की फटकार के बाद भागलपुर ने राशि निकासी में सुधार किया है। राशि निकासी में भागलपुर अब छठे स्थान पर आ गया है। सुपौल, बांका, रोहतास, मुंगेर और जमुई में तो 25 प्रतिशत से भी कम राशि की ट्रेजरी से निकासी हुई है। मंगलवार को पोशाक व छात्रवृत्ति सहित विभिन्न योजनाओं की राशि लाभुक छात्र-छात्राओं को भेजने के मामले की समीक्षा की गई।


समीक्षा में पाया गया कि मुजफ्फरपुर, पूर्णिया, बेगूसराय, अररिया व शेखपुरा जिले राशि की निकासी में सबसे बेहतर प्रदर्शन कर रहे है। इन जिलों में 75प्रतिशत से अधिक योजना की राशि निकासी हो चुकी है। हालांकि समीक्षा में पाया गया कि अभी तक 20 प्रतिशत बच्चों के खाते में भी योजना राशि नहीं भेजी जा सकी है। 2.24 करोड़ बच्चों के खाते में विभिन्न योजनाओं की राशि भेजनी है। प्राथमिक शिक्षा निदेशक एम रामचंद्रुडू और माध्यमिक शिक्षा निदेशक राजीव प्रसाद सिंह रंजन ने डीपीओ (योजना व लेखा) से कहा कि 30 जनवरी तक हर हाल में बच्चों के खाते में राशि भेज दें। समीक्षा के दौरान राशि भेजने में बैंकों द्वारा सहयोग नहीं करने की भी शिकायत सामने आई है। डीपीओ को यह भी निर्देश दिया गया कि पिछड़ा, अति पिछड़ा,अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के छात्र-छात्राओं की संख्या विभाग को जल्द उपलब्ध करा दें।


खाते में राशि भेजने की प्रगति काफी धीमी है


समीक्षा में पाया गया कि माध्यमिक और उच्चतर माध्यमिक स्कूलों के बच्चों के खाते में कुछ राशि तो भेजी भी जा रही है, लेकिन प्रारंभिक स्कूलों के बच्चों के खाते में राशि भेजने की प्रगति काफी धीमी है। कैमूर, अररिया, कटिहार, मधेपुरा, पूर्णिया, रोहतास, सुपौल, पश्चिम चंपारण और वैशाली जिले में साइकिल योजना की राशि नौवीं के छात्र-छात्राओं के खाते में अधिक गयी है। साइकिल, पोशाक सहित विभिन्न योजनाओं की राशि उन बच्चों के खाते में जाएगी, जिसकी कक्षा में 75 प्रतिशत से अधिक उपस्थिति हो।

नौंवी की हर छात्रा को मिलेंगे 5450 रुपए

कक्षा नौ की हर लड़की को 5450 रुपए मिलेंगे। इनमें साइकिल केलिए 2500, पोशाक के लिए 1000 और 1800 रु. छात्रवृत्ति के साथ सेनेटरी नेपकिन की 150 रु. दिए जाएंगे। इसके अलावा कक्षा एक से आठ तक पोशाक राशि। कक्षा एक-दो को 400, कक्षा 3-5 को 500 व कक्षा 6-8 तक के हरबच्चे को 700 रु.। एक से चार को 600, छह-सात को 1200 और कक्षा सात और आठ की लड़कियों को 1800 रु. की छात्रवृत्ति मिलेगी। साइकिल की राशि 2500-2500 सिर्फ नौंवी कक्षा के लड़का-लड़की को दिया जाना है।

नोडल अधिकारियों को जिलों में जाने का आदेश


प्रधान सचिव आरके महाजन ने सभी जिलों के नोडल पदाधिकारियों से जिलों में जाने का आदेश दिया है। उन्होंने नोडल पदाधिकारियों से कहा है छात्र-छात्राओं को विभिन्न योजनाओं की राशि वितरण में सहयोग दें। योजना राशि की निकासी और उन्हें बच्चों के खाते में भेजने की रोजाना समीक्षा करने के लिए कहा है। हर हाल में 30 जनवरी तक बच्चों के खाता में राशि भेजवाना सुनिश्चित कराएं।

X
money will be transferred to Children bank accounts
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..