--Advertisement--

बेटा नहीं जनने पर पति करता था पिटाई, तंग आकर पत्नी-बेटी ने उठाया ये कदम

हॉस्पिटल जाने के दौरान कुसुम चिल्ला-चिल्लाकर कह रही थी कि यह हमारे पिता नहीं, शैतान हैंं।

Danik Bhaskar | Jan 07, 2018, 06:54 AM IST
आग से झुलसी मां और बेटी। आग से झुलसी मां और बेटी।

भागलपुर. बेटा नहीं जनने पर पति हमेशा पिटाई करता था। पति की पिटाई से तंग आकर शनिवार सुबह पत्नी और उसकी बेटी ने खुद पर केरोसिन तेल छिड़क कर आग लगा ली। दोनों को गंभीर हालत में हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया। डॉक्टरों ने दोनों की गंभीर हालत को देखते हुए पीएमसीएच रेफर कर दिया। घटना में 50 साल की हेमा देवी 90 फीसदी झुलस गई है, जबकि 20 साल की बेटी कुसुम 50 फीसदी झुलसी है। वह सुंदरवती महिला कॉलेज की पार्ट टू की स्टूडेंट है। घटना के बाद महिला का पति विनय घर में ताला लगाकर फरार हो गया।

पिटाई के बाद खुले आंगन में रातभर ठिठुरती रहीं दोनों

- गांव के लोगों ने बताया कि शुक्रवार की शाम विनय ठाकुर ने पत्नी और बेटी के साथ मारपीट की थी। पिटाई से आहत होकर दोनों घर से बाहर निकल गईं।

- मां-बेटी आंगन में खुले आसमान के नीचे कड़ाके की ठंड में रातभर ठिठुरती रहीं। ठंड से बेटी की तबीयत बिगड़ गई। यह देखकर मां को रहा नहीं गया।

- रोज-रोज के कलह से तंग होकर दोनों ने सुसाइड का निर्णय ले लिया। मां ने रसोई से केरोसिन का डिब्बा लाकर पहले बेटी और फिर खुद के ऊपर छिड़का और आग लगा ली।

जलने के बाद दो घंटे तक तड़पती रही मां-बेटी

- जलने के बाद मां-बेटी करीब दो घंटे तक तड़पती रही। इसके बाद भी पति ने उन्हें इलाज के लिए हॉस्पिटल नहीं पहुंचाया। सुबह घटना की जानकारी जब पड़ोसियों को मिली तो वे घटनास्थल पर पहुंचे।

- इसके बाद लोगों की मदद से पति ने दोनों को इलाज के लिए पीएचसी पहुंचाया। वहां प्राथमिक उपचार के बाद उनकी गंभीर हालत देखते हुए डॉक्टरों ने मायागंज अस्पताल रेफर कर दिया। यहां भी कुछ देर बाद ही डॉक्टरों ने दोनों को पीएमसीएच रेफर कर दिया।

विनय अक्सर पत्नी और बेटी से करता था मारपीट


- गांववालों की सूचना पर थानाध्यक्ष कौशल कुमार ने घटनास्थल पर पहुंचकर मामले की तहकीकात की। उन्होंने पुलिस को बताया कि विनय ठाकुर झगड़ालू प्रवृत्ति का है।

- वह अक्सर पत्नी और बेटी के साथ गाली गलौज और मारपीट करता है। रोज-रोज के आपसी कलह से पड़ोसी व टोले के लोग भी आजिज हैं।

- पड़ोसियों ने भी कई बार उसे समझाने की कोशिश की, लेकिन वह किसी की बात मानने के लिए तैयार नहीं है।

पिता नहीं शैतान है, सजा दिलाकर रहूंगी: कुसुम

- हॉस्पिटल जाने के दौरान कुसुम चिल्ला-चिल्लाकर कह रही थी कि यह हमारे पिता नहीं, शैतान हैंं। मैं इनके साथ नहीं रहना चाहती। मैं इन्हें सजा दिलाकर रहूंगी।

- कुसुम की एक और बहन है। बड़ी बहन की शादी 5 वर्ष पूर्व हो चुकी है। उसने बताया कि बेटा नहीं होने पर पिता हमेशा मां को प्रताड़ित करते हैं। वे दूसरी शादी करने की भी धमकी देते रहते हैं।

- मेरे और मां के विरोध करने पर अक्सर हमारी पिटाई करते हैं। बहन की शादी के बाद से ही वे दूसरी शादी करना चाहते थे। बहन और बहनोई ने उन्हें ऐसा करने से रोका था।

घायल मां-बेटी को हॉस्पिटल ले जाते लोग। घायल मां-बेटी को हॉस्पिटल ले जाते लोग।
मौके पर बिखरा किरोसिन तेल और जला कपड़ा। मौके पर बिखरा किरोसिन तेल और जला कपड़ा।
घायल छात्रा कुसुम। घायल छात्रा कुसुम।
घायल मां-बेटी को घर से बाहर ले जाते लोग। घायल मां-बेटी को घर से बाहर ले जाते लोग।
घायल मां-बेटी का इलाज पटना मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल में चल रहा है। घायल मां-बेटी का इलाज पटना मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल में चल रहा है।