--Advertisement--

प. चंपारण में दवा व्यवसायी के अपहृत बेटे की हत्या, मांगी थी 10 लाख फिरौती

प्रिंस राजकिशोर साह के चार पुत्रों में सबसे छोटा था। घटना के दिन भाई व बहन के साथ पढ़ने गया था।

Danik Bhaskar | Mar 14, 2018, 01:26 AM IST

पश्चिमी चंपारण. थाना क्षेत्र के रामपुर खजुरिया चौक से अपराधियों ने सोमवार की शाम दवा व्यवसायी राजकिशोर साह के 7 वर्षीय पुत्र प्रिंस कुमार उर्फ ज्ञान प्रकाश का अपहरण कर हत्या कर दी। मंगलवार शाम उसकी लाश बिहार पब्लिक स्कूल के पास मिली। अपहरण की घटना थाना से महज 200 मीटर की दूरी पर हुई थी। बच्चे की रिहाई के लिए अपहर्ताओं ने रात में पिता को फोन कर दस लाख रुपए की फिरौती मांगी थी।

दवा व्यवसायी ने थाने में आवेदन देते हुए कहा था कि प्रिंस शाम 4 बजे घर से खेलने निकला था। घंटों बाद जब नहीं लौटा तब काफी खोजबीन की पर नहीं मिला। रात नौ बजे मेरे मोबाइल पर अज्ञात अपराधी ने 9534767665 नंबर से फोन किया। कहा कि तुम्हारा लड़का हमारे कब्जे में है। रिहाई चाहते हो तो दस लाख रुपए लेकर मुजफ्फरपुर आ जाओ। अपहर्ता ने पुलिस को नहीं बताने की भी धमकी दी थी। बाद में उसकी हत्या की खबर मिली।

हत्या की खबर से घर में मची चीख-पुकार

प्रिंस राजकिशोर साह के चार पुत्रों में सबसे छोटा था। घटना के दिन भाई व बहन के साथ पढ़ने गया था। स्कूल से आने के बाद खेलने चला गया और बाकी बच्चे कोचिंग चले गए। जब बच्चे पढ़ कर लौटे तो प्रिंस को घर में नहीं देख खोजबीन शुरू की। परिजनों की बेचैनी भी बढ़ती गई। जब रात में फिरौती के लिए फोन आया तब से घर में चीख पुकार मची थी। हत्या की सूचना के बाद मां सरोज देवी का बुरा हाल है। बार-बार बेहोश हो रही है।

विरोध में व्यवसायियों ने जाम की सड़क, हंगामा


घटना के विरोध में रामपुर खजुरिया चौक के व्यवसायियों ने मंगलवार दोपहर राजमार्ग 74 पथ जाम कर दिया था। पुलिस पर लेटलतीफी का आरोप लगाते हुए बच्चे की सकुशल रिहाई की मांग की थी। कहा था कि घटना के 20 घंटा बीत जाने के बाद भी पुलिस ने कार्रवाई नहीं की। एसपी ने 24 घंटे में बच्चे की सकुशल रिहाई का भरोसा दिया था।