Hindi News »Bihar »Patna» Muslim Man Taking More Interest In Hindu Vedas And Ramayana

खान साहेब के घर में गूंजते हैं वेद के श्लोक, होते हैं गीता, रामायण और कुरान के पाठ

खान साहेब ने बताया कि हर इंसान में नेगेटिव व पॉजिटिव एनर्जी का संचालन होता है।

कृष्णकांत मिश्र | Last Modified - Feb 12, 2018, 07:21 AM IST

  • खान साहेब के घर में गूंजते हैं वेद के श्लोक, होते हैं गीता, रामायण और कुरान के पाठ
    +3और स्लाइड देखें

    बेतिया.समाज में पैबस्त इंसानियत की जड़ों से निकल रहे सौहार्द के बीज के बीच रेयाज अहमद बेमिसाल है। वहीं इंसानियत व धर्म के नाम पर एक दूसरे को लड़ाने वालों के लिए एक मिसाल भी। मुफस्सिल थाना के बेलदारी निवासी 75 वर्षीय रेयाज अहमद उर्फ खान साहेब सभी धर्मों को मानते है।

    रेयाज बताते है कि सभी समुदायों के धर्मग्रंथों के गहन अध्ययन के बाद यह स्पष्ट हो जाता है कि ईश्वर एक है। चाहें उसे राम के नाम से पुकारे या कृष्ण के, चाहे उसे अल्लाह कहे या यीशु सब एक है। अव्वल तो यह कि रेजाज की इसी संजीदगी की देन है कि उनके तीनों लड़के आज कामयाबी की शिखर पे है। 2 नवंबर 1952 को जैनुल आबेदिन के घर उनके पुत्र के रुप में जन्में रेयाज ने तत्कालीन वाइस चांसलर नागमणि के कार्यकाल में 1973 में बीएससी किया।

    गीता व कुरान पढ़ने के बाद खत्म हो गई दुराव की भावना

    खान साहेब ने बताया कि हर इंसान में नेगेटिव व पॉजिटिव एनर्जी का संचालन होता है। अहम यह है कि वह इंसान कि एनर्जी को अपनाता है। कुछ ऐसा ही मेरे साथ हुआ। जब हमने गीता व कुरान पढ़ी तो ज्ञात हुआ कि हम सभी इस दुनिया में एक कठपुतली है। जिसे हमने धर्मों व समुदायों में बांट रखा है वह सभी धर्मों का है और एक ही है।

    कर्मों की बदौलत तीन बेटों को शिखर तक पहुंचाया

    अपने जीवन काल में विलंब से निकाह करने वाले रेयाज अहमद को पांच बेटियां व तीन बेटे हंै। रेयाज की पत्नी ताहिरा बेगम शिक्षिका है। एक पुत्र इलेक्ट्रिक इंजीनियर, दूसरा बेटा सिविल इंजीनियर और सबसे छोटा फिलीपिंस में अभी एमडी का कोर्स कर रहा है।

    इन ग्रंथों का किया अध्ययन

    वह बताते हैं कि उन्होंने अथर्ववेद, सामवेद, ऋगवेद और येजुर्वेद की ऋचाओं का अध्ययन किया है। इसके अलावे श्रीमद्भागवत गीता, वाल्मीकि रामायण, रामचरित्र मानस का तो साल में दो बार अध्ययन अवश्य ही कर लिया करते है। गोविंद दयालजी की टीका सहित गीता एवं श्रीराम शर्मा आचार्य के सभी सभी वेदों, अध्यात्म रामायण का भी अध्ययन किए है।

    जेपी आंदोलन की अगुआई के बाद भी रहे गुमनाम

    रेयाज ने बताया कि वे जेपी आंदोलन में जिले की अगुआई कर चुके हैं। कई बार जेल भी जाना पड़ा। लेकिन उन्होंने कभी भी किसी के सामने यह प्रकट नहीं होने दिया कि उनका आंदोलन में अहम भूमिका रही है। यह अलग बात है कि उस समय के सभी लोग इस बात को जानते है।

  • खान साहेब के घर में गूंजते हैं वेद के श्लोक, होते हैं गीता, रामायण और कुरान के पाठ
    +3और स्लाइड देखें
  • खान साहेब के घर में गूंजते हैं वेद के श्लोक, होते हैं गीता, रामायण और कुरान के पाठ
    +3और स्लाइड देखें
  • खान साहेब के घर में गूंजते हैं वेद के श्लोक, होते हैं गीता, रामायण और कुरान के पाठ
    +3और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Patna

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×