--Advertisement--

पुल निर्माण कार्य में लगी पोकलेन मशीन में लगाई आग, लेवी नहीं देने का मामला

इस संबंध में बाराचट्टी थानाध्यक्ष चेतनानंद ने बताया कि घटना नक्सलियों ने की है या असामाजिक तत्वों ने जांच की जा रही है।

Danik Bhaskar | Feb 03, 2018, 07:48 AM IST

बाराचट्टी (गया). बाराचट्टी थाना के हाड़हा नदी पर पुल निर्माण कार्य में लगे पोकलेन मशीन को नक्सलियों ने आग के हवाले कर दिया। लेवी नहीं दिए जाने पर घटना की बात बताई जा रही है। गुरुवार की रात को दर्जन भर की संख्या में नक्सली पहुंचे थे। ये संवेदक को ढूंढ़ रहे थे, नहीं मिलने पर पास में लगाए गए पोकलेन मशीन में केरोसिन छिड़का और आग के हवाले कर दिया। इसके बाद नारेबाजी करते हुए फरार हो गए। चालक दयानंद ने बताया कि संवेदक के नहीं मिलने पर गुस्से में आकर पोकलेन में आग लगा दी गई।


एसएसबी और पुलिस ने कई स्थानों पर की छापेमारी

घटना की जानकारी के बाद एसएसबी के सहायक कमांडर ललित कुमार और बाराचट्टी के थानाध्यक्ष चेतनानंद झा के नेतृत्व में सुरक्षाबलों ने कई स्थानों पर छापेमारी की। छापेमारी के क्रम में रोही और पदुमचक गांव से सात लोगों को हिरासत में लिया गया है और पूछताछ की जा रही है।

चौकसी में चल रहा था कार्य

एसएसबी के जवानों की चौकसी में पुल के निर्माण का काम चल रहा था। संवेदक और वाहन मालिकों को सख्त हिदायत दे रखी थी कि काम खत्म होने के बाद वाहन को बीबी पेसरा कैंप में लाकर रखा जाए। हिदायत को गंभीरता से नहीं लिया गया, नतीजतन मशीन को जलाने में सफल हो गए।

नक्सलियों की थी नजर

बिहार राज्य पुल निगम की ओर से शिवगंज और बीबी पेसरा के बीच हाड़हा नदी पर पुल निर्माण की महत्वपूर्ण योजना शुरू की गई थी। पुल निर्माण को लेकर नक्सलियों की इस पर शुरू से नजर थी। लेवी की मांग का सिलसिला जारी था। किंतु संवेदक ने लेवी देने के बजाए इसकी सूचना बाराचट्टी पुलिस को दी थी।

पुल निर्माण का कार्य बंद

रात में हुई इस घटना के बाद पुल निर्माण का कार्य शुक्रवार को पूरी तरह से बंद रहा। इसके पूर्व भी नक्सलियों ने सोभ-धनगाईं पथ के निर्माण के दौरान रमिया कंस्ट्रक्शन कंपनी के कई वाहनों को जला दिया था।

नक्सली थे या असामाजिक तत्व, हो रही है छानबीन

इस संबंध में बाराचट्टी थानाध्यक्ष चेतनानंद झा ने बताया कि घटना नक्सलियों ने की है या असामाजिक तत्वों ने जांच की जा रही है। आग लगाने में शामिल रहे तत्व को चिह्नित करने का काम करते हुए छापेमारी की जा रही है। एएसपी अभियान अरुण कुमार सिंह के देखरेख में छापेमारी अभियान चलाया जा रहा है।