--Advertisement--

इस वजह से ओलिंपिक नहीं जा पाएगी ये चैंपियन, पत्थर तोड़ने को होगी मजबूर

मीनू कहती है कि जब सेंटर बंद हो जाएगा तो यहां क्या करूंगी। गांव जाकर पिता और भाई के साथ पत्थर तोड़ूंगी।

Danik Bhaskar | Dec 27, 2017, 08:07 AM IST
मीनू सोरेन। (फाइल फोटो) मीनू सोरेन। (फाइल फोटो)

भागलपुर. हरियाणा में नेशनल स्कूल एथलेटिक्स कॉम्पिटीशन में जेवलिन थ्रो में गोल्ड जीतकर बिहार का नाम रोशन करने वाली एथलीट मीनू सोरेन का इंटरनेशनल ओलंपिक खेलने का सपना टूटता नजर आ रहा है। 8 लाख रुपए बकाया होने पर राजकीय बालिका इंटर स्कूल स्थित एकलव्य राज्य आवासीय एथलेटिक्स गर्ल्स ट्रेनिंग सेंटर के प्रिंसिपल ने पहली जनवरी से सेंटर बंद करने की घोषणा कर दी है।

पिता के साथ पत्थर तोड़ने को मजबूर होगी मीनू

इस सेंटर के बंद होने के बाद मीनू को भी गांव लौटना होगा। वो आगे की लाइफ के लिए अपने पिता मान सिंह सोरेन के साथ पहाड़ियों में पत्थर तोड़ने को मजबूर होंगी। मीनू कहती है कि जब सेंटर बंद हो जाएगा तो यहां क्या करूंगी। गांव जाकर पिता और भाई के साथ पत्थर तोड़ूंगी।

नेशनल विजेता को हरा जीता था गोल्ड

मीनू ने 21 दिसंबर को रोहतक में नेशनल स्कूल एथलेटिक्स चैंपियनशिप में जेवलिन थ्रो में नेशनल विनर कर्नाटक की रुनझुन पेगू को कड़ी शिकस्त दी थी। मीनू ने 44.41 मीटर भाला फेंककर गोल्ड हासिल किया था। मालूम हो कि नेशनल रिकॉर्ड 46.38 मीटर हरियाणा के पुष्पा झाखड़ के नाम है। नेशनल टीम ने उसे ओलिंपिक गेम में भेजने का फैसला लिया था।

लाखों बकाया, नहीं चला सकते सेंटर : प्रिंसिपल

सेंटर के प्रिंसिपल डॉक्टर सुभाष कुमार झा ने बताया कि सेंटर शुरू होने के बाद से आज तक कभी भी समय से सेंटर को जिला खेल पदाधिकारी द्वारा विपत्र का भुगतान नहीं किया गया है। मैंने डीएम और सरकार को तमाम कारणों को बताते हुए एक जनवरी से केंद्र को बंद करने के निर्णय की जानकारी दे दी है।

भास्कर अपील : मदद मिले तो देश का नाम रोशन कर सकती है मीनू

मीनू के सपनों का खत्म होना एक संभावना का, सम्मान का खत्म हो जाना है। बिहार ओलंपिक संघ ने दैनिक भास्कर को यकीन दिलाया है कि ट्रेनिंग की व्यवस्था वे लोग कर लेंगे बस उसके रहने और खाने-पीने की जरूरत का समाधान हो जाए। अगर आप मीनू की मदद करना चाहते हैं तो 9431251290 पर फोन कर सकते हैं।

जब गोल्ड मेडल जीतकर आई थी मीनू सोरेन। जब गोल्ड मेडल जीतकर आई थी मीनू सोरेन।
गोल्ड जितने के बाद घरवालों ने मीनू का ऐसे वेलकम किया था। गोल्ड जितने के बाद घरवालों ने मीनू का ऐसे वेलकम किया था।
मीनू को मिठाई खिलाते उनके फैमिली मेंबर्स। मीनू को मिठाई खिलाते उनके फैमिली मेंबर्स।