--Advertisement--

लश्कर का आतंकी निकला स्टूडेंट, पकड़ने को तीन दिन से बिहार में थी NIA की टीम

बिहार के सारण जिले के रहने वाले लश्कर-ए-तैयबा के एजेंट धन्नु राजा उर्फ बेदार बख्त को NIA की टीम ने अरेस्ट किया है।

Dainik Bhaskar

Dec 03, 2017, 05:41 AM IST
लश्कर के संदिग्ध एजेंट धन्नु राजा को गोपालगंज से गिरफ्तार किया गया। -फाइल लश्कर के संदिग्ध एजेंट धन्नु राजा को गोपालगंज से गिरफ्तार किया गया। -फाइल

पटना/नई दिल्ली. नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी (NIA) ने बिहार के गोपालगंज से लश्कर-ए-तैयबा के संदिग्ध एजेंट को गिरफ्तार किया। जांच एजेंसी ने रविवार को कहा कि आरोपी बेदार बख्त उर्फ धन्नु राजा के लश्कर आतंकी अब्दुल नईम शेख से लिंक थे। उसने कई बार नईम को शरण दी और जरूरी समान मुहैया कराया। नईम को पिछले साल लखनऊ से पकड़ा था। उसी से बेदार के बारे में इन्फॉर्मेशन मिली। उधर, बिहार पुलिस के मुताबिक, आरोपी बेदार ने खुद को कांग्रेस की स्टूडेंट विंग (NSUI) का मेंबर बताया है। लश्कर एजेंट को पकड़ने के लिए एनआईए टीम 3 दिन तक शहर में डेरा डाले रही थी।

कांग्रेस ने लश्कर एजेंट से पल्ला झाड़ा

- एडीजी पटना, एसके सिंघल ने कहा, ''एनआईए ने लश्कर के संदिग्ध एजेंट बेदर बख्त को गोपालगंज से अरेस्ट किया है। जांच के दौरान उसके आतंकी नईम से लिंक मिले थे। एनआईए ने नईम को पिछले साल लखनऊ से पकड़ा था। बेदार ने पूछताछ में बताया है कि वह एनएसयूआई का वर्कर है। हम कांग्रेस पार्टी के नेताओं से इसे वेरिफाइ कर रहे हैं।''

- उधर, बिहार एनएसयूआई के प्रेसिडेंट चुन्नू सिंह ने बेदार से पल्ला झाड़ते हुए कहा, ''मैं कभी उससे नहीं मिला और ना ही वह हमारी स्टूडेंट विंग का मेंबर है।''

एजेंट बेदार पर क्या है आरोप?

- न्यूज एजेंसी के मुताबिक, एनआईए ने कहा कि बेदार ने लश्कर के आतंकी नईम शेख को शरण दी थी। इसके अलावा वह नईम को जरूरी समानों की सप्लाई भी करता था।

NSUI का लीडर था संदिग्ध आतंकी

- सूत्रों के मुताबिक, एनआईए ने शुक्रवार रात लोकल पुलिस की मदद से छापेमारी की। बेदार को उसके मामा के घर से अरेस्ट किया। वह सारण जिले का रहने वाला है और कुछ सालों से यहीं रहकर पढ़ाई कर रहा था।

- आरोपी बेदार ने खुद को गोपालगंज की स्टूडेंट यूनियन में कांग्रेस का लीडर बताया है। साथ ही कहा है कि वह पिछले 5 साल से राजनीति में एक्टिव था।

साइंस सेकंड ईयर का स्टूडेंट है बेदार

- बेदार कमला राय कॉलेज में ग्रेजुएशन में साइंस सेकंड ईयर का स्टूडेंट था। गांव के लोगों के मुताबिक, बेदार ने छपरा में कम्प्यूटर इंस्टीट्यूट खोलकर स्टूडेंट्स को पढ़ाता भी था। हाल में ही उसने दूसरा इंस्टीट्यूट खोला था।

- फैमिली का कहना है कि बेदार को साजिश के तहत फंसाया गया है। वह बेगुनाह है।

आतंकी वारदात से है कनेक्शन

- पिछले दिनों एनआईए और सिक्युरिटी एजेंसियों को गोपालगंज से आतंकी वारदात के कनेक्शन के इनपुट मिले थे। इसके बाद यह कार्रवाई की गई।

- आईबी से मिली सीक्रेट इन्फॉर्मेशन के बाद एनआईए ने बेदार को पकड़ा और गिरफ्तार करने के बाद उसे लेकर पटना से दिल्ली चली गई।

लश्कर एजेंट से मिले थे अहम सुराग

- उधर, गोपालगंज एसपी मृत्युंजय कुमार चौधरी ने बताया कि एनआईए ने लश्कर के आतंकी अब्दुल नईम शेख को अरेस्ट किया था। उससे पूछताछ में राजा का नाम सामने आया।

- इसके बाद जांच एजेंसी की टीम 30 नवंबर को गोपालगंज पहुंची। उसे 1 दिसंबर को उसे शहर के जादोपुर रोड से अरेस्ट किया गया।

आरोपी धन्नु राजा को कांग्रेस की स्टूडेंट विंग NSUI का लीडर बताया जा रहा है। -फाइल आरोपी धन्नु राजा को कांग्रेस की स्टूडेंट विंग NSUI का लीडर बताया जा रहा है। -फाइल
X
लश्कर के संदिग्ध एजेंट धन्नु राजा को गोपालगंज से गिरफ्तार किया गया। -फाइललश्कर के संदिग्ध एजेंट धन्नु राजा को गोपालगंज से गिरफ्तार किया गया। -फाइल
आरोपी धन्नु राजा को कांग्रेस की स्टूडेंट विंग NSUI का लीडर बताया जा रहा है। -फाइलआरोपी धन्नु राजा को कांग्रेस की स्टूडेंट विंग NSUI का लीडर बताया जा रहा है। -फाइल
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..