--Advertisement--

नीतीश बोले- लालची लोगों का करें बहिष्कार, तभी दहेजबंदी होगी कामयाब

मुख्यमंत्री मंगलवार को विकास कार्यों की समीक्षा यात्रा के क्रम में बेतिया के पतिलार गांव पहुंचे।

Danik Bhaskar | Dec 13, 2017, 07:30 AM IST
बेतिया/बगहा. सीएम नीतीश कुमार ने आम जनता से दहेज वाली शादियों का बहिष्कार करने की अपील की। मुख्यमंत्री मंगलवार को विकास कार्यों की समीक्षा यात्रा के क्रम में बेतिया के पतिलार गांव पहुंचे। वहां राजकीयकृत हरिहर उच्च माध्यमिक विद्यालय परिसर में 122 करोड़ रुपए की विकास योजनाओं के उद्‌घाटन, शिलान्यास और लोकार्पण के बाद जनसभा में मुख्यमंत्री ने कहा कि जब लालची लोग सामाजिक रूप से बहिष्कृत होंगे, तब राज्य सरकार का दहेज प्रथा और बाल विवाह के खिलाफ शुरू किया गया अभियान समग्र रूप में सफल हो पाएगा।

बिहार के लोग उन शादियों में नहीं जाएं जहां दहेज लिया या दिया गया हो। सीएम ने कहा कि कम उम्र में बच्चियों की शादी से राज्य के 39% बच्चे बौनापन का शिकार होने लगे हैं। बाल विवाह से बच्चियों का जीवन खतरे में पड़ता है। दहेज के चलते महिलाएं सबसे अधिक हिंसा का शिकार हो रही हैं। इस स्थिति से उबरने के लिए महिला समाज को प्रभावी ढंग से आगे आना होगा। चंपारण सत्याग्रह के शताब्दी वर्ष में बिहार बड़े सामाजिक बदलाव का वाहक बन रहा है। लोक संवाद कार्यक्रम में एक महिला के सुझाव पर ही सरकार ने दहेज प्रथा के खिलाफ अभियान चलाया गया है। दहेज प्रथा और बाल विवाह के खिलाफ 21 जनवरी को मानव शृंखला बनेगी। उसमें पिछली बार से भी अधिक लोग जुटेंगे। शराबबंदी के खिलाफ मानव शृंखला में 4 करोड़ लोग जमा हुए थे।
जमीन पर क्या काम हो रहा, यह देखने के लिए ही शुरू की यात्रा
मुख्यमंत्री ने कहा कि सात निश्चय की समीक्षा करना मेरा उद्देश्य है। वर्ष 2009 में जिन 19 गांवों में मैं रात में ठहरा था, वह सब मेरे ही गांव जैसे हैं। मैं 19 जनवरी 2009 को पतिलार गांव में ठहरा था। जनता से संवाद किया था। आज फिर यहां आकर आत्मसंतोष का अनुभव हो रहा है। मैंने पिछली यात्रा में जिन दो पुलों का शिलान्यास किया था, वह बनकर तैयार हैं। समाज सुधार के साथ-साथ बुनियादी ढांचे का विकास, प्रशासनिक सुधार और किसानों के लिए काम किया जा रहा है। दौरे का मकसद जानने और समझने के साथ यह देखना है कि जमीन पर क्या काम हो रहा है।
हरिनगर शुगर मिल की 4570 एकड़ जमीन का विवाद सुलझा पर कोर्ट से लगी है रोक
मुख्यमंत्री ने कहा कि हरिनगर शुगर मिल की 4570 एकड़ जमीन का है। इसके विवाद का निपटारा राजस्व मंत्री के स्तर पर किया गया। इसमें मिल को 205.3 एकड़ जमीन की छूट दी गई लेकिन हाईकोर्ट के द्वारा उस पर रोक लगा दी गई। सरकार के स्तर से जो कुछ किया जा सकता है, किया जा रहा है लेकिन इन सब चीजों को समझना होगा। गन्ना किसानों की समस्या के बारे में मुख्यमंत्री ने कहा कि नजदीक के मिल से ही किसानों को जोड़ा जाना चाहिए।
बिजली के खंभों पर लिखे जाएंगे अफसरों के नंबर
मुख्यमंत्री ने कहा कि महिलाओं की मांग पर हमने शराबबंदी का निर्णय लिया। जो गड़बड़ी करेंगे, वे बचेंगे नहीं। बिजली के खंभों पर अधिकारियों का फोन नंबर अंकित रहेगा, कहीं पर कोई चोरी-चुपके शराब का धंधा कर रहा है तो उस नंबर पर तुरंत सूचित करें। तुरंत कार्रवाई होगी।
सीएम ने दिया भरोसा-नए जिले बने तो बगहा को भी प्राथमिकता
मुख्यमंत्री ने कहा कि काफी समय से स्थानीय लोग बगहा को जिला बनाने की मांग करते आ रहे हैं। सही मायने में कुछ और जिलों की जरूरत है लेकिन प्रशासनिक अधिकारी की कमी के कारण अभी निर्णय नहीं हो पा रहा है। निकट भविष्य में अगर कोई नया जिला बनेगा तो उसमें बगहा निश्चित तौर पर रहेगा। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार विकास समीक्षा यात्रा के लिए मंगलवार शाम हेलीकॉप्टर से मोतिहारी पहुंचे।