--Advertisement--

48 साल से यहां स्कूल के लिए नहीं मिली जमीन, शेड के नीचे पढ़ते हैं बच्चे

सर्दी, गर्मी और बरसात में छोटे-छोटे बच्चे परेशान रहते हैं। यह परेशानी इन स्कूल्स के शिक्षकों की भी है।

Danik Bhaskar | Jan 09, 2018, 05:11 AM IST

बड़हिया (लखीसराय). बड़हिया ब्लॉक में 18 प्राइमरी स्कूलों के पास 1970 से अपना भवन नहीं है। इनमें पढ़ने वाले बच्चे चदरा के शेड के नीचे खुले में पढ़ते हैं। सर्दी, गर्मी और बरसात में छोटे-छोटे बच्चे परेशान रहते हैं। यह परेशानी इन स्कूल्स के शिक्षकों की भी है। लेकिन विभाग अपनी ही वंशी बजाने में मस्त है। एजुकेशन डिपार्टमेंट के अधिकारी भवन निर्माण के लिए स्थानीय प्रशासन के उपर फेंका-फेंकी कर रहे हैं। पूछने पर लापरवाही भरे अंदाज में कहते भी हैं कि जमीन उपलब्ध होते ही सूचना जारी कर दी जाएगी।

प्राइमरी स्कूल बोधी टोला बड़हिया का यह है हाल


बच्चों को चदरा के शेड के नीचे पढ़ते हैं। गर्मी, सर्दी और बरसात में परेशानी होती है। शिक्षकों व बच्चों को बाहर शौचालय और पानी पीना हो तो भटकना पड़ता है। प्रधान गौरी शंकर ने बताया कि स्कूल में एडमिशन 109 छात्र-छात्राएं हैं और शिक्षक 3 हैं। जमीन के लिए विभाग को लिखित जानकारी दी गई है।

जमीन ढूंढने कहा गया है

बीईओ रामविलास प्रसाद ने बताया कि अंचलाधिकारी को जमीन खोजने के लिए कहा गया है। भूमि नहीं मिलता तो नजदीक के स्कूल में मर्ज कर दिया जाएगा।

हल्का को कहा गया है

अंचलाधिकारी रामदत्ता ने बताया कि हल्का कर्मचारी को जमीन ढूंढने के लिए कहा है। जमीन मिलते ही सूचना जारी कर दी जाएगी। तब ही भवन बन पाएगा।