--Advertisement--

औरंगाबाद हिंसा : 250 संदिग्धों को पूछताछ के लिए एसआईटी भेजेगी नोटिस

Dainik Bhaskar

Apr 01, 2018, 04:56 AM IST

एसपी डॉ. सत्य प्रकाश ने बताया कि कानून को हाथ में लेने वाले आरोपी किसी भी कीमत पर बख्शे नहीं जाएंगे।

Notice to send by SIT for questioning 250 suspects in Aurangabad violence

औरंगाबाद. हिंसा के 250 संदिग्ध आरोपियों के खिलाफ पूछताछ के लिए एसआईटी उन्हें नोटिस भेजेगी। नहीं आने पर उनके खिलाफ मामला दर्ज कर गिरफ्तार किया जाएगा। शहर में 25 व 26 मार्च को हुई हिंसा मामले में प्रशासन अब तक अलग-अलग 9 प्राथमिकी दर्ज कर चुका है। जिसमें करीब 250 लोगों को नामजद व 500 से ज्यादा लोगों को अज्ञात आरोपी बनाया गया है। पुलिस ने इस मामले में कार्रवाई करते हुए 150 से ज्यादा लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है।

वहीं वैसे लोग जिनका नाम दर्ज प्राथमिकी में शामिल नहीं है लेकिन हिंसा में शामिल होने की जानकारी जिला प्रशासन व खुफिया विभाग को प्राप्त हुई है। ऐसे ही संदिग्धों के बारे में दोनों गुट के करीब 110 आरोपियों की सूची खुफिया विभाग ने एसआईटी को सौंपा है। वहीं करीब 150 संदिग्ध आरोपियों के बारे में जिला प्रशासन ने विभिन्न स्रोतों से जानकारी इक्कठा की है। इसके सत्यापन के लिए अब एसआईटी सभी 250 लोगों को नोटिस भेजेगी।

एसआईटी के सामने रखना होगा अपना पक्ष
एसआईटी द्वारा जारी नोटिस के बाद संदिग्ध आरोपियों को तथ्य के साथ उपस्थित होकर अपना पक्ष रखना होगा। इसमें उन्हें बताना होगा कि उस वक्त कहां थे और क्या कर रहे थे। समाज में उनकी भूमिका है। पहले किसी भी अपराध में शामिल रहे हैं या नहीं। वीडियो फुटेज से तस्वीर का मिलान कराना होगा। अगर रखे गए पक्ष संतोषजनक रहा तो उन्हें पूछताछ के बाद छोड़ दिया जाएगा। लेकिन अगर पूछताछ से भागने लगे और संतोषजनक जवाब नहीं दे पाए तो उनके खिलाफ मामला दर्ज हाेना तय है।

एक सप्ताह के अंदर आरोपियों पर कसेगा शिकंजा

पुलिस सूत्रों की मानें तो हिंसा में शामिल आरोपियों के खिलाफ प्रशासन कमर कस चुकी है। एक सप्ताह के अंदर हिंसा के सभी फरार आरोपियों पर एसआईटी का शिकंजा कस जाएगा। फरार सभी आरोपियों के खिलाफ एसआईटी वारंट निर्गत कराने की तैयारी में है। इसके बाद भी अगर वे हाजिर नहीं हुए तो उनके घरों को पुलिस कुर्क करेगी। प्रशासन 15 दिनों के अंदर इस मामले में चार्जशीट दाखिल कर आरोपियों को सजा दिलाने की तैयारी में है। आरोपियों के सभी संभावित ठिकानों पर ताबड़तोड़ छापेमारी की जा रही है। लेकिन आरोपी अभी भी पुलिस की पकड़ से बाहर हैं।

आरोपियों के घरों को तोड़ा जाएगा
हिंसा के फरार चार आरोपियों के खिलाफ रविवार को पुलिस इश्तेहार चस्पाएगी। इसके बाद अगर वे खुद को सरेंडर नहीं करते हैं तो उनके घरों को प्रशासन बुलडोजर लगाकर तोड़ देगा। सदर एसडीपीओ पीएन साहू ने बताया कि हिंसा के आरोपी उज्जवल कुमार, अनिल सिंह, ब्लॉक कॉलोनी के रवि रंजन कुमार व मुखिया सुजीत सिंह के घरों पर इश्तेहार चिपकाया जाएगा। अनिल सिंह के खिलाफ दो मामला दर्ज हो चुका है।

हिंसा से निपटने के लिए कंट्रोल रूम का गठन
शहर में तोड़फोड़ व आगजनी जैसी घटनाओं से निपटने के लिए डीएम राहुल रंजन महिवाल ने जिला स्तरीय कंट्रोल रूम का गठन किया है। इसकी स्थापना कलेक्ट्रेट के योजना भवन में की गई है। उक्त कंट्रोल रूम में एक वज्र वाहन, आंसू गैस दस्ता, पर्याप्त पुलिस बल की प्रतिनियुक्ति की गई है। यहां पर हिंसा से जुड़ी जानकारी के लिए एक टेलीफोन (06186-222130) भी लगाया गया है। किसी भी आपात स्थिति में इस नंबर पर संपर्क किया जा सकता है। कंट्रोल रूप में शिफ्ट के हिसाब से मजिस्ट्रेट व कर्मी तैनात रहेंगे।

किसी भी हाल में बख्शे नहीं जाएंगे आरोपी

एसपी डॉ. सत्य प्रकाश ने बताया कि कानून को हाथ में लेने वाले आरोपी किसी भी कीमत पर बख्शे नहीं जाएंगे। एक सप्ताह के अंदर अगर खुद को सरेंडर नहीं करते हैं तो उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

X
Notice to send by SIT for questioning 250 suspects in Aurangabad violence
Astrology

Recommended

Click to listen..