पटना

--Advertisement--

रेल पहिया फैक्ट्री में फटा ऑक्सीजन पाइप, टेक्नीशियन का उड़ा दाहिना हाथ

रेल पहिया कारखाना में ऑक्सीजन पाइप फटने की घटना के बाद कर्मियों में वरीय प्रशासनिक पदाधिकारियों के खिलाफ काफी आक्रोश है।

Danik Bhaskar

Jan 06, 2018, 04:20 AM IST

दरियापुर (छपरा). यहां के बेला रेल पहिया फैक्ट्री में एक मैन्युअल मशीन का ऑक्सीजन पाइप फट गया। जिससे कार्य कर रहे टेक्नीशियन गंभीर रूप से जख्मी हो गया। जानकारी के अनुसार टेक्नीशियन धर्मेंद्र यादव मशीन पर कार्य कर रहे थे। इसी दौरान लांसिंग मशीन का ऑक्सीजन पाइप फट गया। जिससे टेक्नीशियन का दाहिना हाथ उड़ गया। पाइप फटने की आवाज सुनते ही आस-पास काम कर रहे कर्मियों ने आनन-फानन में कारखाना के अंदर स्थित पॉली क्लिनिक पर ले गए। जहां चिकित्सक उपस्थित नहीं थे। जिससे रेल कर्मियों में काफी आक्रोश व्याप्त हो गया।

घटना के बाद कर्मियों में आक्रोश

रेल पहिया कारखाना में ऑक्सीजन पाइप फटने की घटना के बाद कर्मियों में वरीय प्रशासनिक पदाधिकारियों के खिलाफ काफी आक्रोश व्याप्त है। कर्मियों का कहना था कि ऑटो लांसिंग मशीन खराब होने के बाद भी वरीय पदाधिकारी काम को लेकर काफी दबाव बना रहे थे। जिससे तंग होकर मैनुअल मशीन से काम किया जा रहा था। इसी दौरान ऑक्सीजन पाइप फटने से घटना हुई है।

पॉली क्लिनिक में पोस्टेड नहीं हैं डॉक्टर्स

कारखाना में पहिया ढ़लाई स्थल के बगल में पॉली क्लिनिक का निर्माण किया गया है। लेकिन अभी तक क्लिनिक में चिकित्सक को पदस्थापित नहीं किया गया है। कर्मियों का कहना था कि वरीय पदाधिकारियों के अनदेखी के कारण डॉक्टर को पदस्थापित नहीं किया गया है। जिससे किसी तरह की घटना होने पर त्वरित इलाज किया जा सके। इससे कर्मियों में काफी आक्रोश व्याप्त है।

वर्ष 2015 में भी हुआ था विस्फोट

रेल पहिया कारखाना में इसके पहले भी कई बड़ी घटनाएं हो चुकी है। जानकारी के अनुसार वर्ष 2015 में भी ऑक्सीजन पाइप विस्फोट किया था। जिसमें करीब छह मजदूर बूरी तरह जख्मी हो गए थे।

क्या कहते हैं अधिकारी
कारखाना के मुख्य प्रशासनिक पदाधिकारी सत्येन्द्र कुमार ने बताया कि घटना की गहन जांच की जा रही है। पता चला है कि ऑटो लांसिंग मशीन का पार्ट्स खराब हो गया था, जिससे मैनुअल मशीन से काम हो रहा था।

Click to listen..