--Advertisement--

अब सड़क पर नहीं उतरेगी करणी सेना इसलिए 'पद्मावत' आज से पटना में पर्दे पर

सिनेपोलिस में पद्मावत दिखाए जाने को लेकर सुरक्षा चौकस रहेगी।

Dainik Bhaskar

Jan 29, 2018, 04:23 AM IST
मुंबई में रविवार को फिल्म की सफलता का जश्न दीपिका ने राजस्थानी थाली खाकर मनाया। मुंबई में रविवार को फिल्म की सफलता का जश्न दीपिका ने राजस्थानी थाली खाकर मनाया।

पटना. अब तक उग्र विरोध कर रही करणी सेना के रुख में आए बदलाव के बाद पटना में भी फिल्म पद्मावत देखी जा सकेगी। शहर के पीएनएम मॉल स्थित सिनेपोलिस मल्टीप्लेक्स में यह फिल्म सोमवार की सुबह से प्रदर्शित होगी। इसको लेकर रविवार से ही ऑनलाइन बुकिंग शुरू हो गई। विभिन्न वेबसाइटों और एप के जरिये इसकी बुकिंग हो रही है। रविवार रात तक इसकी ज्यादातर सीटें बुक हो चुकी थीं। लेकिन, काउंटर पर बुकिंग रविवार को भी नहीं हुई।

फिल्म 2डी और 3डी दोनों में यहां दिखाई जाएगी। 2डी में जहां इसके आठ शो रोजाना चलेंगे, वहीं 3 डी में सात शो रोजाना चलने हैं। देश भर में विवाद के बीच 25 जनवरी को जब फिल्म राष्ट्रीय स्तर पर रिलीज हुई तो पटना में रिलीज नहीं हुई थी। तब सुरक्षा कारणों से पटना के सभी सिनेमाहॉल और मल्टीप्लेक्स ने इसे लगाने से इनकार कर दिया था। अब भी पटना के प्रसिद्ध सिनेमाहॉल मोना और रिजेंट में यह नहीं लगाई जा रही है। कुछ दिनों में विरोध कमजोर पड़ता है तो शहर के दूसरे सिनेमाहॉल भी इसे अपने यहां लगा सकते हैं।

आखिरकार करणी सेना ने भी माना-फिल्म में इतिहास से छेड़छाड़, लेकिन सम्मान के खिलाफ कुछ भी नहीं

पद्मावत पर लोगों की प्रतिक्रिया के बाद बिहार में भी करणी सेना समेत अन्य क्षत्रिय संगठनों के रुख में नरमी आई है। अब इनके नेता कह रहे हैं कि फिल्म में राजपूती आन, बान, शान व पद्मावती के सम्मान को ठेस नहीं पहुंचाई गई है। लेकिन इतिहास से छेड़छाड़ हुआ है।

लोग खुद फिल्म देखने न जाएं

करणी सेना के प्रदेश महासचिव अभिषेक कुमार सिंह ने बताया कि पद्मावत फिल्म है कोई बायोग्राफी नहीं। फिल्म में राजपूत समाज के खिलाफ कुछ नहीं है। लेकिन, यह सच है कि इतिहास से छेड़छाड़ हुआ है। इसलिए फिल्म का बहिष्कार जारी रहेगा। लेकिन हम सड़क पर उतरकर प्रदर्शन नहीं करेंगे। क्षत्रियों के साथ पूरे हिन्दू समाज से अपील करेंगे कि इस फिल्म को देखने न जाएं। ताकि आगे से फिल्मकार ऐतिहासिक विषय पर फिल्म बनाने में सावधानी बरतें।

केंद्र का रवैया आहत करने वाला

अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा के प्रदेश अध्यक्ष राणा सिंह ने बताया कि लोकतांत्रिक तरीके से हमारा विरोध आगे भी जारी रहेगा। लेकिन अांदोलन आक्रामक नहीं होगा। काला बिल्ला लगाएंगे, पर किसी को नुकसान नहीं पहुंचाएंगे। इस पूरे प्रकरण में केंद्र का रवैया राजपूतों के विरोध में रहा है। हमारी मांग पर ध्यान नहीं दिया गया। सेंसर बोर्ड और सुप्रीम कोर्ट से आनन-फानन में फैसला कराया गया। इसका खामियाजा भाजपा को आगामी चुनावों में भुगतना पड़ेगा।

अभी बिहार के 30 सिनेमाघरों में दिखाई जा रही पद्मावत

हाजीपुर के नेशनल सिनेमाघर, नवादा के निभा, मुजफ्फरपुर के मोतीपुर सूरज टॉकिज, बेगूसराय के सावित्री सहित बिहार के 30 सिनेमाघरों में पद्मावत फिल्म दिखाई जा रही है। वहीं रांची में पॉपकॉर्न सिनेमाघर सहित 20 सिनेमाघरों में फिल्म का प्रदर्शन हो रहा है। डिस्ट्रीब्यूटर एंड बुकर राजू बरौलिया ने बताया कि तीन से चार के दिन अंदर मल्टीप्लैक्स मिलाकर बिहार के 50 सिनेमाघरों में पद्मावत लगा दी जाएगी।

200 जवानों की होगी तैनाती

सिनेपोलिस में पद्मावत दिखाए जाने को लेकर सुरक्षा चौकस रहेगी। सुबह 9:30 बजे से फिल्म शुरू होने के पहले 200 जवानों की तैनाती होगी। एसएसपी मनु महाराज ने बताया कि प्रबंधन ने सुरक्षा की मांग की है। कानून हाथ में लेने वालों पर कार्रवाई होगी।

X
मुंबई में रविवार को फिल्म की सफलता का जश्न दीपिका ने राजस्थानी थाली खाकर मनाया।मुंबई में रविवार को फिल्म की सफलता का जश्न दीपिका ने राजस्थानी थाली खाकर मनाया।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..