--Advertisement--

10 फीट हवा में उछली स्कार्पियो, जिस ट्रेन को पकड़ना था उसी से हुई टक्कर

आरा सासाराम रेलवे लाइन पर नोखा सरियाव रेलवे क्रॉसिग के पास फाटक नही होने के कारण यह टक्कर हुई।

Dainik Bhaskar

Jan 18, 2018, 03:21 AM IST
टक्कर के बाद खेत में पड़ी स्कॉर्पियो कार। टक्कर के बाद खेत में पड़ी स्कॉर्पियो कार।

सासाराम. आरा-सासाराम रेलवे लाइन के एक रेलवे क्रॉसिंग पर सासाराम-आरा पैसेंजर ट्रेन से एक स्कार्पियो की बुरी तरह टक्कर हो गई। टक्कर इतनी तेज थी कि स्कार्पियो 10 फीट की ऊंचाई तक हवा में उछल गई। बताया जा रहा है कि जिस ट्रेन से कार की टक्कर हुई, कार सवार उसी को पकड़ने स्टेशन जा रहे थे। स्टेशन पहुंचने से पहले ही उनकी गाड़ी और ट्रेन की टक्कर हो गई।

आधा किलोमीटर तक घिसटती रही कार

- बताया जा रहा है कि टक्कर के बाद आधा किलोमीटर तक घिसटते और लुढकते हुए खेतों में दूर जा गिरी गाड़ी।

- हादसे में कार सवार मोहम्मद वसीम, पूनम देवी, दीपक कुमार सहित चार लोग घायल हो गए।

- घायलों में पूनम देवी की हालत गंभीर है। जिन्हें अभी तक होश नहीं आया है। सभी घायलों का इलाज सासाराम के एक प्राईवेट क्लिनिक में चल रहा है।

- घटना बुधवार सुबह लगभग आठ बजे के आस-पास घटी थी। जब सासाराम से खुली आरा पैसेंजर नोखा स्टेशन के समीप पहुंचने वाली थी।

- हॉर्न बजाते तेजी से बढ़ रही पैसेंजर की चपेट में राजपुर से नोखा के लिए चली स्कार्पियो उस समय आ गई। जब वह सरियांव मानव रहित रेलवे क्रॉसिंग को पार कर रही थी।

- घटना के बाद आस-पास के गांवो से जुटे लोग मौके पर पहुंचे। फिर पुलिस को सूचना दी गई। तब सभी घायलों को पीएचसी नोखा पहुंचाया गया।

- बताया जा रहा था कि राजपुर से नोखा स्टेशन के लिए चला यह परिवार यह आरा जाने वाला था।

टक्कर के बाद ट्रेन का इंजन हुआ क्षतिग्रस्त

- घटना के बाद सासाराम आरा पैसेंजर का इंजन भी क्षतिग्रस्त हो गया। जाे किसी तरह नोखा स्टेशन पहुंचा। उसके बाद दूसरा इंजन मंगाकर ट्रेन को आगे के लिए रवाना किया गया।

- इस दौरान तीन घंटे से ज्यादा समय तक सासाराम आरा पैसेंजर नोखा में खड़ी रही। स्टेशन प्रबंधन उमेश कुमार ने बताया कि मुगलसराय से इंजन मंगाने के बाद उसे नोखा भेजा गया। जो ट्रेन को लेकर आरा गया।

- स्टेशन मैनेजर ने बताया कि घटना में स्कार्पियो पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हुआ है। उसके परखच्चे उड़ चुके हैं। ट्रेन के किसी भी यात्री को चोटे नहीं हैं। लोको पायलट सुरक्षित है। क्षतिग्रस्त इंजन को मरम्मती के लिए मुगलसराय भेजा गया है।

घने कोहरे के कारण नहीं दिखी ट्रेन, बंद था शीशा

- स्कार्पियो चला रहे मोहम्मद वसीम होश में आने के बाद बताया कि घने कोहरे के कारण रेल लाईन पर दिख रहा गाड़ी का हेडलाईट काफी दूरी पर जान पड़ा।

- जिसे देख महसूस हुआ कि वह आराम से गाड़ी रेलवे लाइन को पार करा लेगा। हॉर्न भी इसलिए सुनाई नहीं पड़ा क्योंकि स्कार्पियो के सभी शीशे बंद थे। ठंड से बचने के लिए बंद किए गए शीशे भी इस दुर्घटना के कारण बने।

- आरा सासाराम रेलवे लाइन पर नोखा सरियाव रेलवे क्रॉसिग के पास फाटक नही होने के कारण यह टक्कर हुई। अगर क्रॉसिग के पास फाटक होता तो यह घटना नही हो पाती।

- लगभग 8 वर्ष से ज्यादा हो गए रेलवे लाइन बने हुई लेकिन अभी तक कई क्रॉसिंग पर कोई फाटक नही होने कारण कई घटना घट चुकी है। इसे रेलवे विभाग की अनदेखी कहा जाए।

घायलों का इलाज करते डॉक्टर। घायलों का इलाज करते डॉक्टर।
हॉस्पिटल में एडमिट घायल कार सवार। हॉस्पिटल में एडमिट घायल कार सवार।
हॉस्पिटल में एडमिट घायल पूनम। हॉस्पिटल में एडमिट घायल पूनम।
X
टक्कर के बाद खेत में पड़ी स्कॉर्पियो कार।टक्कर के बाद खेत में पड़ी स्कॉर्पियो कार।
घायलों का इलाज करते डॉक्टर।घायलों का इलाज करते डॉक्टर।
हॉस्पिटल में एडमिट घायल कार सवार।हॉस्पिटल में एडमिट घायल कार सवार।
हॉस्पिटल में एडमिट घायल पूनम।हॉस्पिटल में एडमिट घायल पूनम।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..