पटना

--Advertisement--

अब ट्रेनों में पुलिस चौकी, शिकायत के लिए एस-1 की बर्थ 63 पर मिलेगी पुलिस

यात्रियों के साथ अगर कोई घटना हो जाए तो पुलिस वालों को चलती गाड़ी में खोजना बहुत मुश्किल हो जाता है।

Dainik Bhaskar

Dec 31, 2017, 04:59 AM IST
लगातार ट्रेनों में बढ़ रही आपराधिक घटनाओं काे लेकर मिनिस्ट्री ने ऐसा फैसला किया है। लगातार ट्रेनों में बढ़ रही आपराधिक घटनाओं काे लेकर मिनिस्ट्री ने ऐसा फैसला किया है।

बक्सर (बिहार). जरुरत पड़ने पर अब आपको चलती ट्रेनों में पुलिस वालों को खोजना नहीं पड़ेगा। एक स्थायी जगह पर जाकर आप अपनी कंप्लेन और प्रॉब्लम्स पुलिस को बता सकेंगे। इसके लिए रेलवे मिनिस्ट्री लंबी दूरी तय करने वाली सभी एक्सप्रेस और सुपरफास्ट ट्रेनों में पुलिस चौकी खोलेगी। इसके लिए तैयारी भी शुरू हो गई है। लगातार ट्रेनों में बढ़ रही आपराधिक घटनाओं काे लेकर मिनिस्ट्री ने ऐसा फैसला किया है।

आरपीएफ-जीआरपी पहले से ही तैनात

हालांकि अपराधों पर अंकुश लगाने के लिए पहले से ही आरपीएफ और जीआरपी ट्रेनों में तैनात हैं। हथियारों से लैस जवान ट्रेन की सभी बोगियों में चक्कर लगाते हैं। ऐसे में यात्रियों के साथ अगर कोई घटना हो जाए तो पुलिस वालों को चलती गाड़ी में खोजना बहुत मुश्किल हो जाता है। इसका फायदा उठाकर अपराधी भाग निकलते हैं। अब काफी हद तक इसपे अंकुश लग सकेगा। यात्री महफूज यात्रा कर सकेंगे।

नहीं जाना होगा संबंधित स्टेशन की जीआरपी में

ट्रेनों में अब कोई भी आपराधिक घटना होने पर यात्रियों की सुनवाई के लिए अस्थाई पुलिस चौकी होगी। जिससे यात्री पुलिस के पास पहुंच कर अपनी शिकायत दर्ज करा सकते है। इसके लिए अब संबंधित क्षेत्र के स्टेशन पर आरपीएफ व जीआरपी में तत्काल केस दर्ज नहीं करना पड़ेगा। चलती ट्रेनों में अस्थायी चौकी के अलावा पहले चल रहे आरपीएफ व जीआरपी सुरक्षाकर्मी भी मौजूद रहेगा। जिससे यात्रियों को परेशानियों का समाना नहीं करना पड़ेगा। चलती ट्रेन में कोई भी पीड़ित व्यक्ति अपनी शिकायत चौकी में दर्ज करा सकता है।

ट्रेनों की एस-1 कोच बनेगी पुलिस चौकी

लंबी दूरी तय करने वाली सभी मेल, एक्सप्रेस व सुपर फास्ट ट्रेनों में यात्रियों के सुरक्षा व सुविधा को ध्यान में रखते हुये अस्थायी चौकी बनाने का काम रेल प्रशासन ने शुरू कर दिया है। इस अस्थायी चौकी का पता प्रत्येक ट्रेन का एस-1 कोच का बर्थ नंबर 63 होगा। कोच के बाहर चौकी प्रभारी का मोबाइल नंबर होगा। चाैकी में एक दरोगा व दाे कांस्टेबल की ड्यूटी रहेगी। पुलिस चौकी पर जाकर यात्री ट्रेन में हो रही किसी घटना की सूचना तुरंत दे सकेंगे। पुलिसकर्मियों की डयूटी ट्रेन के गंतव्य स्थान पर पहुंचने बाद ही समाप्त होगी।

आरपीएफ इंस्पेक्टर सूर्यवंश प्रसाद ने बताया कि यात्रियों के सुरक्षा के लिए चलती ट्रेनों में अस्थायी चौकी बनाने का रेल मंत्रालय से मंडल में आदेश आया है। इस पर काम चल रहा है। जल्द ही इसे पूरा कर लिया जाएगा।

X
लगातार ट्रेनों में बढ़ रही आपराधिक घटनाओं काे लेकर मिनिस्ट्री ने ऐसा फैसला किया है।लगातार ट्रेनों में बढ़ रही आपराधिक घटनाओं काे लेकर मिनिस्ट्री ने ऐसा फैसला किया है।
Click to listen..