--Advertisement--

बंदी को ऑटो से लेकर जा रही थी पुलिस, ट्रक ने मारी टक्कर, 5 पुलिसकर्मी घायल

टक्कर के बाद ऑटो सड़क किनारे 10 फीट नीचे चाट में जा गिरी, उसके बाद पलटते हुए 20 फीट अंदर खेत में चली गई।

Dainik Bhaskar

Dec 28, 2017, 04:27 AM IST
सदर अस्पताल में इलाज कराते घायल सिपाही। सदर अस्पताल में इलाज कराते घायल सिपाही।

सासाराम. सभी नियमों को ताक पर रखकर इंद्रपुरी पुलिस ने शराब पीने के आरोपी एक बंदी को गिरफ्तारी के बाद थाना में सरकारी गाड़ी रहते हुए प्राइवेट ऑटो में बैठाकर सासाराम मंडल कारा भेजा। मंडल कारा ले जाने के क्रम में ऑटो में पीछे से आए ट्रक ने जोरदार टक्कर मारी। बंदी सहित पांचों पुलिसकर्मी बुरी तरह से घायल हो गए। घटना राष्ट्रीय राजमार्ग-2 जीटी रोड पर बुधवार की दोपहर में घटी। जब इंद्रपुरी पुलिस के जवान शराब पीने के आरोप में विमल सिंह नामक युवक की गिरफ्तारी के बाद ऑटो में बैठाकर सासाराम मंडल कारा पहुंचाने आ रही थी।

घायलों को लोगों ने खींचकर ऑटो से निकाला

लेरूआं के समीप ऑटो में पीछे से आ रहे ट्रक ने जोरदार टक्कर मारा। टक्कर के बाद ऑटो सड़क किनारे 10 फीट नीचे चाट में जा गिरी, उसके बाद पलटते हुए 20 फीट अंदर खेत में चली गई। जिसमें दारोगा भैरवलाल राय, सैप जवान हरी किशन यादव, होमगार्ड जवान मो. अकरम खान, दफादार धर्मेंद्र उपाध्याय, चौकीदार शिवनाथ राम, बंदी विमल सिंह और ऑटो चालक लाल बिहारी घायल हो गए। घायलों को स्थानीय लोगों ने ऑटो खींचकर बाहर निकाला, फिर सासाराम मुफस्सिल पुलिस को घटना की सूचना दी गई। पहुंचे पुलिस बल के जवानों ने घायलों को इलाज के लिए सदर अस्पताल पहुंचा, जहां चिकित्सकों ने एक ही हालत गंभीर बताई है। जिसे वाराणसी रेफर करने की तैयारी चल रही थी।


डीआइजी ने कहा- होगी कार्रवाई : इंद्रपुरी पुलिस द्वारा थाना में सरकारी जीप रहते हुए बंदी को प्राइवेट ऑटो में बैठाकर सासाराम मंडल कारा भेजे जाने की कार्रवाई को शाहाबाद रेंज के डीआइजी ए रहमान ने पुलिस मैनुअल के खिलाफ बताया है। कहा कि अगर ऐसा हुआ है तो बंदी को प्राइवेट ऑटो में भेजने वाले पुलिस अधिकारी के खिलाफ मैं कार्रवाई करुंगा। डीआइजी ने कहा कि मैं बाहर हूं, लौटने के बाद मामले की जांच कराउंगा। जिसकी रिपोर्ट आते ही कार्रवाई निश्चित होगी।

दावथ पुलिस ने भी बंदी को भेजा था ट्रक से, हुई थी फजीहत


दो माह पूर्व दावथ पुलिस द्वारा भी एक बंदी को गिरफ्तार करने के बाद दो चौकीदारों के साथ ट्रक में बैठाकर जेल भेज दिया गया था। जैसे ही ट्रक नोखा पहुंचा तो एक छोटी सी दुर्घटना में खराब होकर पूरी रात सड़क पर खड़ा रहा। तीन घंटे तक कैदी के साथ सड़क किनारे खड़े रहे दोनों चौकीदारों ने किसी तरह नोखा पुलिस को अपनी विवशत बताई। जहां पहुंची पुलिस ने दूसरी बस से शराब बेचने के आरोपी बंदी को सासाराम मंडल कारा भेजवाया। उक्त मामले में रोहतास एसपी ने जांच के बाद कार्रवाई की बात कही थी।

तीन दिनों में दूसरी बार पुलिस वाहन हुई दुर्घटनाग्रस्त

तीन दिनों के अंदर रोहतास पुलिस के साथ दूसरी दुर्घटना हुई है। 25 दिसंबर की रात शिवसागर पुलिस के हाइवे पेट्रोलिंग जीप में पिकअप वैन ने टक्कर मारी थी। जिसमें पुलिस बल के एक जवान की मौके पर मौत हो गई। चालक सहित तीन बुरी तरह घायल हुए। अभी भी घायल जवान बनारस के ट्रामा सेंटर बीएचयू में इलाजरत है, तभी बुधवार को इंद्रपुरी पुलिस के पांच जवान बंदी को ऑटो से जेल लाने के क्रम में ट्रक की टक्कर से दुर्घटनाग्रस्त हो गए। इन दोनों घटनाओं में कुल एक पुलिसकर्मी की मौत हो चुकी है, वहीं छह पुलिसकर्मी घायल हैं।

इसी ऑटो से कैदी को ले जा रहे थे पुलिस कर्मी। इसी ऑटो से कैदी को ले जा रहे थे पुलिस कर्मी।
X
सदर अस्पताल में इलाज कराते घायल सिपाही।सदर अस्पताल में इलाज कराते घायल सिपाही।
इसी ऑटो से कैदी को ले जा रहे थे पुलिस कर्मी।इसी ऑटो से कैदी को ले जा रहे थे पुलिस कर्मी।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..