--Advertisement--

पुलिस वैन का फर्श ऐसे काटकर फरार हुआ था बदमाश, छह महीने बाद किया अरेस्ट

पूर्व से जेल रोड में मोबाइल दुकानदार विक्की उर्फ मुकेश की हत्या के अलावा तीन आपराधिक मामले दर्ज है।

Danik Bhaskar | Feb 09, 2018, 03:52 AM IST
छह महीने दैनिक भास्कर में प्रकाशित खबर। छह महीने दैनिक भास्कर में प्रकाशित खबर।

आरा. टाउन थाना के धनुपरा स्थित रिमांड होम के समीप से कैदी वैन का फर्श तोड़कर फरार कुख्यात जितेन्द्र चौधरी उर्फ मिठाई चाैधरी गुरुवार की दोपहर अंतत: पकड़ा गया। वांटेड की गिरफ्तारी टाउन थाना के शिवगंज इलाके से संभव हो सकी। पुलिस ने उसके पास से एक लोडेड देसी पिस्तौल भी बरामद किया है। पुलिस उसे छह महीने से तलाश कर रही थी।

आर्म्स की बरामदगी को लेकर पकड़े गए वांछित पर पुलिस अलग से केस दर्ज करेगी। वह पहले से मोबाइल दुकानदार की हत्या से लेकर अन्य गंभीर कांडों में आरोपी रहा है। एसपी अवकाश कुमार के अनुसार पकड़ा गया जितेन्द्र चौधरी उर्फ मिठाई चौधरी टाउन थाना के आनंदनगर निवासी कृष्णा चौधरी का पुत्र है। छापेमारी का नेतृत्व इंस्पेक्टर जय प्रकाश सिंह कर रहे थे। साथ में क्रॉस मोबाइल के जवान भी थे।

12 जुलाई को जेल से पेशी के लिए गया था कोर्ट उसी दिन 3 बंदियों के साथ हो गया था फरार

12 जुलाई 2017 को आरा मंडल कारा में बंद ग्यारह बंदियों को धनुपरा रिमांड होम कैंपस अवस्थित जुबेनाइल कोर्ट में पेशी के लिए भेजा गया था। सुरक्षा के दृष्टकोण से न्यू पुलिस लाइन से कैदी वैन के साथ चार सशस्त्र-बल व चार सामान्य बल को भेजा गया था। कैदी वैन धनुपरा में जुबेनाइल कोर्ट परिसर में खडी थी। घटना के समय वैन से लाए गये एक बंदी को जुबेनाइल कोर्ट में पेशी के लिए ले जाया गया था। जबकि, अन्य दस बंदी वैन के अंदर ही बंद थे। वैन के साथ सुरक्षा में भेजे गये सशस्त्र-बल के जवान गाड़ी से उतर कर नीचे कैंपस में थे। जबकि, दूसरे जवान कैदी वैन के ही दूसरे भागे में ड्यूटी में थे। इसी दौरान वैन के अंदर बैठे दस बंदियों में से चार बंदी जितेन्द्र चौधरी उर्फ मिठाई, रोहित कुमार, वीर प्रताप उर्फ रौशन व शिवशंकर सिंह वैन के अंदर चेचिस के सड़े लोहे के चदरा को उखाड़ कर आराम से फरार हो गये थे। इस दौरान सुरक्षा ड्यूटी में लगे जवानों को इसकी भनक तक नहीं लगी थी।

मोबाइल दुकानदार की हत्या में पकड़ा गया था जितेन्द्र

टाउन थाना के आनंद नगर निवासी जितेन्द्र चौधरी उर्फ मिठाई चौधरी का लंबा अापराधिक इतिहास रहा है। पूर्व से जेल रोड में मोबाइल दुकानदार विक्की उर्फ मुकेश की हत्या के अलावा तीन आपराधिक मामले दर्ज है। 5 जून वर्ष 2015 को मोबाइल दुकानदार विक्की की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। तब इसे लेकर यहां काफी हो-हंगामा हुआ था। बाद में 15 जून वर्ष 2015 को पुलिस ने उसे मर्डर केस में गिरफ्तार कर जेल भेजा था । उस समय उसकी गिरफ्तारी बहोरनपुर इलाके से संभव सकी थी। इधर, कैदी वैन से भागे जाने के बाद केस के गवाहों को धमकाए जाने को लेकर वह पुलिस के रडार पर था। हालांकि, इसे लेकर कोई शिकायत दर्ज नहीं करायी गई थी।

फरार होने के 6 माह बाद पुलिस गिरफ्त में आया कुख्यात मिठाई। फरार होने के 6 माह बाद पुलिस गिरफ्त में आया कुख्यात मिठाई।
जानकारी लेते पुलिस अफसर। जानकारी लेते पुलिस अफसर।
फरार कैदी जितेंद्र उर्फ मिठाई चौधरी। फरार कैदी जितेंद्र उर्फ मिठाई चौधरी।
इसी वैन में लाया गया था विचाराधीन बाल कैदियों को। इसी वैन में लाया गया था विचाराधीन बाल कैदियों को।
टूटा हुआ वैन का फ्लोर। टूटा हुआ वैन का फ्लोर।