पटना

--Advertisement--

कुख्यात भरत यादव की 4.23 करोड़ की संपत्ति जब्त, पत्नी भी करोड़पति निकली

पीएमएलए (प्रिवेंशन ऑफ मनी लाउंड्रिंग एक्ट) के तहत सरगना भरत यादव की अवैध संपत्ति को जब्त किया गया है।

Dainik Bhaskar

Jan 02, 2018, 05:45 AM IST
Property worth crore seized of Notorious Bharat Yadav

पटना. मुंगेर का आतंक रहे सरगना भरत यादव की 4.23 करोड़ की संपत्ति ईडी (प्रवर्तन निदेशालय) ने जब्त कर ली है। नए साल के पहले दिन सोमवार को यह कार्रवाई की गई। इस दौरान तीन जिलों मुंगेर, जमालपुर व देवघर में जमीन के कई प्लॉट भी जब्त किए गए। खासकर सरगना के मुंगेर स्थित होटल ‘व्हाइट हाउस’ व एक मकान के अलावा पत्नी सत्यवती देवी के नाम से खरीदे गए जमीन के 4 प्लॉट व 2 मकान को भी ईडी ने सील करके अपने कब्जे में ले लिया है।

27 मामलों में आरोपी है भरत

दरअसल हत्या, डकैती, रंगदारी व जालसाजी के 27 मामलों में आरोपी भरत यादव ने जुर्म के जरिए काली कमाई करके बिहार व झारखंड के शहरों या गांव में अकूत संपत्ति हासिल कर रखी थी। दूसरों को चकमा देने के लिए उसने परिजनों के नाम पर भी संपत्ति अर्जित किए थे। इसको लेकर ईडी की जांच में मिले सबूत के आधार पर पीएमएलए (प्रिवेंशन ऑफ मनी लाउंड्रिंग एक्ट) के तहत सरगना भरत यादव की अवैध संपत्ति को जब्त किया गया है।

पहले भी जब्त हुई है संपत्ति

आरोपी का नाम जिला संपत्ति
रीतलाल यादव पटना 1.33 करोड़
मंटू यादव गया 9.26 करोड़
सन्नी प्रियदर्शी पटना 3.47 करोड़
साधुशरण गुप्ता लखीसराय 4.55 करोड़
अनिल सिंह लखीसराय 85 लाख
सनोज यादव मुंगेर 44 लाख
सुरेश नट बेगूसराय 28 लाख
पत्नी भी करोड़पति निकली
ईडी की तफ्तीश में सरगना भरत यादव ही नहीं बल्कि उसकी पत्नी सत्यवती देवी भी करोड़पति निकली। सत्यवती के नाम से 1.64 करोड़ की अचल संपत्ति जबकि सरगना भरत यादव के नाम पर 2.16 करोड़ की संपत्ति जब्त की गई है।
नक्सलियों की भी संपत्ति जब्त करने की तैयारी
राज्य पुलिस ने अपराध से कमाई करने वाले सरगनाओं की ही संपत्ति जब्त करने के लिए अभियान तेज नहीं किया है बल्कि निशाने पर टॉप नक्सली भी हैं। राज्य पुलिस व सेंट्रल एजेंसियां अब फरार चल रहे टॉप नक्सलियों की अवैध कमाई से खड़ी की गई संपत्ति को जब्त करने की कार्रवाई करने की तैयारी में हैं। ऑपरेशन से जुड़े अधिकारियों के अनुसार 25 यूएपीए(अन लॉ फुल एक्टिविटी प्रिवेंशन एक्ट) के तहत राज्य सरकार को संपत्ति जब्त करने की शक्ति है। वहीं प्रिवेंशन ऑफ मनी लाउंड्रिंग एक्ट(पीएमएलए) के तहत संपत्ति जब्त करने का अधिकार प्रवर्तन निदेशालय(ईडी) को है। दोनों ही कानून के तहत नक्सलियों की संपत्ति जब्त करने की प्रक्रिया शुरू की गई है। जल्द ही चार-पांच नक्सलियों की संपत्ति जब्ती की कार्रवाई शुरू होगी। सूत्रों के अनुसार जहानाबाद के हार्डकोर नक्सली प्रदुमन शर्मा की अवैध संपत्ति जब्त करने का प्रस्ताव ईडी के पास है।

बिहार के 11 जिलों के 44 मोस्टवांटेड नक्सलियों व उग्रवादियों के पीछे सुरक्षा एजेंसियां लगी हुई हैं। इन नक्सलियों व उग्रवादियों पर राज्य सरकार ने 25 हजार रुपए से लेकर पांच लाख रुपए तक के इनाम घोषित कर रखे हैं। इनमें से कोई बारह नक्सली वारदातों में फरार चल रहा है तो कोई 20 कांडों में। इनमें चार ऐसे नक्सली हैं जिनकी तलाश केन्द्र व राज्य दोनों की एजेंसियों को है। इनमें पांच लाख के इनामी भी हैं।
X
Property worth crore seized of Notorious Bharat Yadav
Click to listen..