--Advertisement--

बिहार की रेल परियोजनाओं के लिए मिले 3696 करोड़, 2010 से तीन गुना ज्यादा

Dainik Bhaskar

Dec 30, 2017, 02:40 AM IST

माेतिहारी, शिवहर, सीतामढ़ी रेल लाइन को आर्थिक रूप से व्यावहारिक नहीं पाए जाने के चलते निर्माण का प्रस्ताव रद्द किया गया।

rail projects in Bihar

नई दिल्ली/पटना. बिहार की रेल परियोजनाओं के तीव्र विकास के लिए चालू वित्त वर्ष में 3696 करोड़ रुपए आवंटित किए गए हैं। यह राशि वर्ष 2010 के मुकाबले तीन गुणा ज्यादा है। वहीं माेतिहारी, शिवहर, सीतामढ़ी रेल लाइन को आर्थिक रूप से व्यावहारिक नहीं पाए जाने के चलते निर्माण का प्रस्ताव रद्द कर दिया गया है।


राज्यसभा में रेल मंत्री ने दी जानकारी

शुक्रवार को रेल मंत्री पीयूष गोयल ने यह जानकारी राज्यसभा में एक पूरक प्रश्न के जबाव में दी। गोयल ने बिहार में सकरी-सरायगढ़ रेल लाइन परियोजना के संबंध में पूछे गए पूरक प्रश्न के उत्तर में कहा कि पिछले तीन वर्षाें में बिहार की रेल परियोजनाओं के लिए राशि में बढ़ोतरी की गई है। संप्रग सरकार के कार्यकाल में वर्ष 2009-10 में राज्य के लिए 1132 करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया था जबकि वर्ष 2015-16 में 2227 करोड़ रुपए और वर्ष 2017-18 में 3696 करोड़ रुपए का आवंटन किया गया है।

2003 में वाजपेयी ने रखी थी आधारशिला

उन्होंने कहा कि सकरी -सरायगढ़ रेल परियोजना के लिए कोसी नदी पर पुल बनाने का काम जारी है और मार्च 2019 तक इस रेल लाइन का सभी काम पूरा होने का अनुमान है। वर्ष 2003 में तत्कालीन पीएम वाजपेयी ने इस रेल लाइन के लिए कोसी नदी पर पुल की आधारशिला रखी थी लेकिन इसके बाद की सरकारों द्वारा पर्याप्त धनराशि उपलब्ध नहीं कराए जाने से यह परियोजना समय पर पूरी नहीं हो सकी। अब मोदी सरकार इसके लिए हर वर्ष राशि बढ़ाकर आवंटित कर रही है ताकि इसे शीघ्र पूरा किया जा सके।

X
rail projects in Bihar
Astrology

Recommended

Click to listen..