--Advertisement--

12 ऊंटों का पशु तस्करों से किया रेस्क्यू, फिर ऐसे क्रेन से ट्रक में चढ़ा भेजा राजस्थान

10 जनवरी की घटना है, संयोग था कि वह पटना में ही थी। मालूम चला तो उसी रात बोचहां पहुंची।

Danik Bhaskar | Jan 15, 2018, 06:14 AM IST

मुजफ्फरपुर. बोचहां में तस्करों के चंगुल से मुक्त 13 ऊंटों में से 12 ऊंटों को क्रेन के सहारे दूसरे ट्रक में चढ़ा कर रविवार को राजस्थान के सिरोही में पीपल्स फॉर एनीमल संस्था के सरंक्षण में भेज दिया गया। पशु चिकित्सक उज्जवल कुमार ने बताया कि तस्करों ने ऊंटों के पांव व मुंह को बांध दिया था।

श्वास लेने में हो रही कठिनाई के कारण (लिंगस) में इंफेक्शन हो गया, साथ ही ब्लड रफ्तार भी धीमी हो गई थी। ब्लड की रफ्तार जाम होने से ऊंटों के शरीर जाम हो गए थे। एक ऊंट की मौत दम घुटने से हो गई। मृत ऊंट को पोस्टमार्टम के बाद ब्लॉक परिसर के पश्चिमी ओर दफना दिया गया है।

नौजवानों ने बचाई ऊंटों की जान

ध्यान फाउंडेशन की नताशा जैन ने कहा कि तस्करों ने ऊंटों को इस तरह से बांध रखा था कि एक की जान चली गई। इसका अफसोस काफी है। 10 जनवरी की घटना है, संयोग था कि वह पटना में ही थी। मालूम चला तो उसी रात बोचहां पहुंची। प्राथमिकी दर्ज कराने के बाद ऊंटों को छुड़ाने के लिए अगले दिन न्यायालय में अर्जी दी। 12 जनवरी को न्यायालय ने ऊंटों को सिरोही भेजने का आदेश थानेदार को दिया। 13 जनवरी को ट्रक से ऊंटों को उतारा गया, तब तक सबकी हालत दयनीय हो गई थी।