--Advertisement--

पहुंचे डकैत, बोले पुलिस वाले हैं, घर सर्च किया और लाखों के गहने ले गए

डकैती में 10 से 12 की संख्या में बदमाश शामिल थे।लुटेरों ने खुद को पुलिस वाला बता कर घटना को अंजाम दिया है।

Danik Bhaskar | Dec 21, 2017, 06:32 AM IST

तरैया (छपरा). मुकुन्दपुर में मंगलवार को रात्री 11 बजे एक्स सैनिक के घर में डकैती हुई है।जिसमे तीस हजार नकद समेत ढ़ाई लाख के गहने लूटपाट कर ले कर चले गये।जाने वक्त डराने के लिए बदमाशों ने पांच राउंड हवाई फायरिंग भी की। डकैती में 10 से 12 की संख्या में बदमाश शामिल थे।लुटेरों ने खुद को पुलिस वाला बता कर घटना को अंजाम दिया है। इस मामले में सेवानिवृत सैनिक मौलादिन ने थाने में अज्ञात के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई है।जिसमें पुलिस छापेमारी कर रही है।अभी तक पुलिस को डकैतोंं के बारे में कोई क्लू नहीं मिला है।


हल्ला करने के बाद गांववालों ने खदेड़ा


डकैतों की संख्या 10-12 थी।लगभग एक घंटे तक पीड़ित के घर में डकैतों ने तांडव मचाया।फिर जब ग्रामीण शोर-गुल सुनकर एकत्रित होने लगे तो डकैत भागते समय फायरिंग करने लगे जिससे ग्रामीण दहशत में आ गये।फिर भी ग्रामीणों ने डकैतो का पीछा करना चाहा तो डकैतों ने पांच फायरिंग किया। जिससे ग्रामीण सहम गये और वे फरार हो गये। बाद मे पुलिस पहुंची और प्राथमिकी दर्ज कर जांच शुरू की।

खुद को पुलिस वाला बताया और लूट की घटना को अंजाम देकर फायरिंग करते निकल गए

पीड़ित रिटायर्ड सैनिक मौलादीन ने बताया कि घटना करीब 11 बजे रात की है।घटना के वक्त चार पुत्रों में एक ही घर पर था। घर में तीन पतोहू और एक पुत्र अब्दुल कलाम था।हम अपने कमरे में सोए हुए थे।आवाज सुनकर जैसे ही मैंने अपना दरवाजा खोला एक व्यक्ति मेरे ओर बढ़ा और कमरे में जबरन घुस गया। कमरे में रखा बक्सा तोड़ने लगा। जब हमने विरोध किया तो उसने राइफल के बट से सर पर मार दिया।जब आंगन में गया तो देखा कि डकैतों ने हमारे पोते मेराज को एक कमरे में बंद कर दिया है।सबसे पहले डकैत रखे बालू के ढ़ेर के सहारे आंगन में आए और मेराज को जगाया और बंदूक दिखा कर बोले तुम गांजा बेचकर पांच लाख रुपया रखे हो । हमलोग उसकी जांच करने आये है।फिर कनपट्टी पर पिस्तौल सटा दिया और बोला कि अपनी मां के घर का दरवाजा खुलवाओ।

खोखे बरामद,एसडीपीओ ने किया स्थल निरीक्षण

घटना की सूचना मिलते ही थानाध्यक्ष अजय कुमार सिंह अपने दल बल के साथ स्थल पर पहुंच गये।घटना स्थल से गोली के चार खोखे बरामद किए है।घटना स्थल पर एसडीपीओ अशोक कुमार सिंह भी पहुंच कर स्थल का निरीक्षण दिया।बताया कि ग्रामीणों की निशानदेही पर छापेमारी की जा रही है।शीघ्र ही सफलता मिलने की उम्मीद है।

बेटी के शादी के लिए रखे सामान भी ले गए

अब्दुल बाहर से कमा कर अपनी बेटी नेहा की शादी करने के लिए आये थे।नेहा की मां रब्या खातुन ने बताया कि वह अपने बेटी की शादी के लिए चादर बिछावन जो रखी थी उसे भी डकैतोंं ने नहीं छोड़ा,उसके सारे आभूषण और कुछ नकदी तो ले ही लिए।वह डकैतों के सामने गिड़गिड़ा रही थी कि यह समान मैंने अपनी बेटी की शादी के लिए रखी है।इसे छोड़ दीजिए लेकिन डकैतो ने एक नही सुनी और सारे समान और नकदी रुपये पैसे लेकर फरार हो गए।