--Advertisement--

ISI की मदद से नेपाल में रोहिंग्या कर सकते हैं घुसपैठ, गृह मंत्रालय की रिपोर्ट के बाद चौकसी

रोहिग्या का आतंकी संगठनोंं से संबंध होने के कारण ये कभी भी भारत के लिए खतरा उत्पन्न कर सकते है।

Dainik Bhaskar

Jan 30, 2018, 06:36 AM IST
Rohingya can infiltrate in Nepal with the help of ISI

किशनगंज. म्यांमार से पलायन किये रोहिग्या घुसपैठियों द्वारा पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी (आईएसआई) के सहयोग से नेपाल में घुसपैठ की जा सकती है। खुफिया विभाग से यह जानकारी मिलने पर सीमा पर तैनात सशस्त्र सीमा बल को मिलने के बाद नेपाल जाने वाले प्रत्येक व्यक्ति पर विशेष नजर बनाये हुए है। विभागीय सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी (आईएसआई) भारत सरकार के उस फैसले (भारत में रोहिग्या मुसलमान को शरण नहीं दिया जाएगा) को हथियार के तौर पर इस्तेमाल करने की साजिश रच रहा है।

नेपाल सीमा से लगे पश्चिम बंगाल की सरकार रोहिग्या मुसलमान को शरण देने की बात कह चुकी है। इसका फायदा उठाकर आईएसआई आतंकी संगठन से जुड़े कुछ रोहिग्या को बिहार -बंगाल के सीमावर्ती क्षेत्रों के माध्यम से नेपाल में घुसपैठ करवाकर भारत विरोधी गतिविधियों को अंजाम देने की साजिश की जा रही है। सीमा पर तैनात सुरक्षा एजेंसियों की नजर नेपाल सीमा से सटे सीमावर्ती क्षेत्रों पर गढ़ी हुई है। सीमावर्ती क्षेत्रों में बाहर से आने -जाने वाले लोगो पर नजर रखते हुए उनके द्वारा जमीन खरीद सहित बैंक खातो पर भी नजर रखी जा रही है। आने-जाने वाले लोगो संग विगत छह माह में सीमावर्ती क्षेत्र में आने वाले की सूची खंगालने में जुटी है।

देश के लिए खतरा पैदा कर सकते हैं


गौरतलब है कि पहले ही गृहमंत्रालय द्वारा स्पष्ट कर दिया गया है कि रोहिग्या का आतंकी संगठनोंं से संबंध होने के कारण ये कभी भी भारत के लिए खतरा उत्पन्न कर सकते है। क्योंकि आतंकी संगठनो के माध्यम से राष्ट्रविरोधी गतिविधियों को अंजाम दे सकते है। यही कारण है कि रोहिग्या के नेपाल घुसपैठ की आंशका की सूचना से सुरक्षा एंजेसियां अलर्ट हो गई हैं।

तीन दशक पूर्व बंग्लादेशियों ने की थी घुसपैठ


सीमावर्ती क्षेत्र के स्थानीय लोगो का कहना है कि तीन दशक पूर्व बंग्लादेश घुसपैठिए भारत-नेपाल सीमावर्ती क्षेत्रों में चोरी -छिपे घुसपैठ करके आये थे और अपनी पैठ बना चुुुुके है। जिस पर सरकार और प्रशासन द्वारा कोई कठोर कदम अब तक नहीं उठाया गया है। जिसके कारण सीमावर्ती क्षेत्रों के लोगो को समस्या का सामना करना पड़ रहा है और दूसरी ओर बंग्लादेश घुसपैठ आज भी सुुरक्षा ऐंजेेेसियो के सर दर्द बना हुआ है।

कड़ी नजर रखी जा रही है

रानीडॉगा सेक्टर के डीआईजी एके नाथ ने बताया कि गृह मंत्रालय से सूचना मिली थी। जिसके बाद सीमा पर एसएसबी को सजग और सतर्क रहकर नेपाल आने-जाने वाले लोगो पर कड़ी नजर रखने का आदेश दिया गया है।

X
Rohingya can infiltrate in Nepal with the help of ISI
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..