Hindi News »Bihar »Patna» Scam In Mid Day Meal

35 बच्चों का खाना खा रहे हैं ये 2 बच्चे, बकरी चराने के बहाने आते हैं स्कूल

मामला यहां के प्राइमरी स्कूल का है। स्कूल के रजिस्टर में कुल 95 बच्चों का नाम दर्ज है।

Bhaskar News | Last Modified - Dec 27, 2017, 06:21 AM IST

  • 35 बच्चों का खाना खा रहे हैं ये 2 बच्चे, बकरी चराने के बहाने आते हैं स्कूल
    स्कूल के सामने पढ़ाई कर रहे बच्चे।

    बिहारशरीफ.यहां एक ऐसा स्कूल है जहां एक महीने से 35 बच्चों का मिड डे मील दो बच्चे खा रहे हैं। दरअसल, खाना तो 35 बच्चों का बनता है लेकिन स्कूल में दो ही बच्चे होते हैं यानी एमडीएम में घपला। खास बात ये कि इन दो बच्चों के अलावा दो और बच्चे बकरी चराने के बहाने स्कूल आते हैं तब बच्चों की संख्या चार हो जाती है।

    मामला यहां के प्राइमरी स्कूल का है। स्कूल के रजिस्टर में कुल 95 बच्चों का नाम दर्ज है। लेकिन पिछले एक महीने से मात्र दो या कभी-कभी चार बच्चे आ रहे हैं। खाना 35 बच्चों का आ रहा, ऐसे में सवाल उठता है कि आखिर यह खाना बच्चे खा रहे है? मंगलवार को स्कूल का नजारा यह था कि दो बच्चे संतोष और दीपक दरी पर बैठ कर पढ़ाई कर रहे थे। एक टीचर सावित्री देवी कुर्सी पर बैठ कर अपनी उपस्थिति दर्ज की हुई थी।

    बकरी चराने के बहाने आते हैं 2 छात्र तो संख्या होती है 4
    दरी पर बैठ कर पढ़ रहे संतोष और दीपक ने बताया कि पहले 20-25 लोग आते थे, लेकिन एक माह से हम दोनों भाई ही आ रहे हैं। कभी-कभी पहाड़ी पर भी बकरी चराने के बहाने दो और छात्र आ जाते हैं। बच्चों ने बताया कि खाना तो रोज मिलता है, लेकिन सभी शिक्षक एक साथ कभी नहीं रहते हैं।

    एचएम रिसीव करती है 35 बच्चों का खाना तो हम मना कैसे करें

    सावित्री देवी ने बताया कि खाना आने पर प्रिंसिपल का सिग्नेचर होता है। आज वह अबसेंट थी, इस कारण उन्होंने सिग्नेचर किया है। उन्होंने कहा कि जब एक माह से प्रिंसिपल 35 बच्चों का खाना स्वीकार कर रही है तो वह कैसे इनकार कर सकती है। उन्होंने बताया कि यहां एकता शक्ति फाउण्डेशन द्वारा बना बनाया खाना भेजा जाता है। खाने आने के बाद वे लोग रिसिव करते हैं।

    बोले डीपीओ- मामले की जांच कर होगी कार्रवाई

    एमडीएम डीपीओ शंकर प्रिय ने कहा कि इस मामले की जांच की जायेगी। जांच में जो भी दोषी पाए जाएंगे, उन पर कार्रवाई होगी। उन्होंने कहा कि मध्याह्न भोजन में किसी स्तर पर कोई लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Patna

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×