--Advertisement--

यहां कई बड़े नक्सलियों का मिला लोकेशन, 5 घंटे तक चलाया सर्च अभियान

शुक्रवार की रात 40-50 की संख्या में नक्सलियों का एक दस्ता किसी योजना की तैयारी में जुटा था।

Dainik Bhaskar

Jan 08, 2018, 06:19 AM IST
Search campaign for Naxalites

जमुई. जमुई के जंगलों में नक्सलियों के जमावड़े की लगातार मिल रही सूचना पर शनिवार की सुबह 6 बजे चंद्रमण्डीह थानाक्षेत्र के बिहार-झारखंड सीमाक्षेत्र से सटे ठाढ़ी एवं सगवरिया के जंगलों में एसटीएफ जवानों ने सर्च आॅपरेशन चलाया। पटना से आई एसटीएफ टीम ने बिना स्थानीय पुलिस की मदद के स्पेशल तरीके से करीब 5 घंटे सर्च आॅपरेशन चलाया।

सूत्र बताते हैं कि जहां आॅपरेशन चला था, वहां शुक्रवार की रात 40-50 की संख्या में नक्सलियों का एक दस्ता किसी योजना की तैयारी में जुटा था। इस दस्ते में कई नामी नक्सलियों के साथ सिद्धु कोड़ा, दरोगी यादव भी शामिल था। स्पेशल टीम सेटेलाइट लोकेशन के आधार पर उक्त जगह पर अभियान चलाई। चन्द्रमंडीह थानाक्षेत्र में चले इस छापेमारी अभियान में नक्सली सामग्री बरामद होने की बात सामने आई है, लेकिन इसकी अधिकारिक पुष्टि नहीं हो सकी है।

जेल पर हमला और अधिकारियों के अपहरण की है प्लानिंग

गौरतलब है कि जिले के जंगल में इनामी नक्सली प्रशांत बोस, गुमला की सुनीता के अलावे नक्सली प्रवेश दा, अरविंद यादव के साथ कई हार्डकोर नक्सलियों का जमावड़ा की जानकारी दिसंबर माह से ही मिल रही है। पुलिसिया सूत्र यह भी बता रहे हैं कि नक्सली किसी न किसी प्रकार से जेल पर हमला करने या किसी अधिकारी का अपहरण कर उसके बदले अपने साथियों की रिहाई की मांग कर सकते हैं।

पुलिस के पहुंचने से पूर्व ही बदल देतेे हैं अपना ठिकाना


नक्सलियों की गुटबंदी को लेकर जिला पुलिस एवं अन्य सुरक्षा बलों द्वारा सर्च आॅपरेशन चलाया जा रहा था। लेकिन नक्सलियों की प्लानिंग को नाकाम करने में जिला पुलिस लगातार विफल दिख रही है। नक्सलियों के जमावड़े की खबर के बाद उस क्षेत्र में सुरक्षा बल सर्च आॅपरेशन भी चला रहे हैं, लेकिन उनके हाथ खाली जा रहे हैं। जब तक पुलिस वहां पहुंच पाती है वे अपना स्थान बदल चुके होते हैं। इस संबंध में जमुई के एसपी जगन्नाथ जलारेड्‌डी ने बताया कि चंद्रमण्डीह थानाक्षेत्र में चले इस आॅपरेशन की हमें कोई जानकारी नहीं दी गई है।

नक्सली कमांडर पिंटू राणा को आत्मसमर्पण पर मिलेंगे 2.5 लाख


नक्सली संगठन के एरिया कमांडर से जोनल कमेटी के कमांडर बने नक्सली नेता पिंटू राणा को संगठन द्वारा पद में दी गई प्रोन्नति के साथ ही सरकार ने उसके आत्मसमर्पण पर मिलने वाली प्रोत्साहन राशि भी बढ़ा दी है। अब उसके आत्मसमर्पण पर सरकार द्वारा उसे ढाई लाख रुपए दिए जाएंगे।


राज्य के पुलिस महानिदेशक द्वारा इस बाबत जमुई व मुंगेर सहित विभिन्न जिलों की पुलिस को जारी की गई अधिसूचना में इस बात का उल्लेख किया गया है। नई अधिसूचना में वामपंथी उग्रवादियों के प्रत्यर्पण सह पुनर्वास योजना के तहत यह प्रावधान किया गया है कि सेंट्रल कमेटी, जोनल कमेटी व पोलित ब्यूरो के सदस्य को आत्मसमर्पण करने पर ढाई लाख रुपए तथा एरिया कमांडर, उप क्षेत्रीय कमांडर को एक लाख पचास हजार रुपए बतौर प्रोत्साहन राशि दिए जाएंगे।


नई अधिसूचना में नक्सलियों द्वारा आत्मसमर्पण के लिए अपने साथ लाए गए हथियार व विस्फोटक पदार्थों पर भी मोटी राशि देने का प्रावधान किया गया है। सीआरपीएफ सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पिंटू राणा की सुरक्षा के लिए उसे एक एलएमजी दिया गया है और एलएमजी पर सरकार ने 35 हजार की राशि देने का प्रावधान किया है।

दो सप्ताह पूर्व हुई थी कुर्की

हालांकि दो सप्ताह पूर्व लक्ष्मीपुर थाना क्षेत्र के आनंदपुर गांव में पिंटू राणा के घर की जिले की सोनो पुलिस द्वारा कुर्की जब्ती भी की गई थी। कुर्की मे पुलिस पिंटू राणा के भाई की पत्नी व आनंदपुर पंचायत की मुखिया शोभा देवी के नाम का एक नई ट्रैक्टर भी अपने साथ ले गई। इसके पूर्व पुलिस द्वारा पिंटू राणा को आत्मसमर्पण के लिए कई बार कोर्ट नोटिस भेजा गया था। उस पर दबाव बनाने के लिए उसके भाई मनोज राणा को पूछताछ के लिए उठाकर ले गई। हालांकि फिर उसे छोड़ दिया गया। तब पुलिस की इस हरकत का आनंदपुर पंचायत के ग्रामीणों ने पुलिस के प्रति काफी नाराजगी भी जाहिर की थी।

प्रोन्नति के बाद ट्रेनिंग के लिए गया था छत्तीसगढ़


नक्सलियों के शीर्ष नेता चिराग दा के पुलिस मुठभेड़ में मारे जाने के बाद संगठन मे पिंटू राणा का कद बढ़ गया। लिहाजा उसे एरिया कमांडर से जोनल कमेटी के कमांडर के रूप में प्रोन्नति दी गई। एक महीने की ट्रेनिंग के लिए छत्तीसगढ़ भेजा गया था। छत्तीसगढ़ से लौटने के बाद वह जिला पुलिस के लिए सिरदर्द बन गया।

हथियारों पर मिलने वाली प्रोत्साहन राशि

हथियार राशि
एलएमजी 35000
जीपीएमजी 35000
एके 47/56/74 25000
पिस्टल, रिवाल्वर 10000
एसएलआर 10000
राॅकेट 5000
ग्रेनेड, हैंड ग्रेनेड 500
रिमोट कंट्रोल 3000
माइंस 3000
विस्फोटक पदार्थ 1000
X
Search campaign for Naxalites
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..